जिस ऑफिस में था अपर सूचना अधिकारी, अब वहीं करेगा चौकीदारी! जानें पूरा मामला

दयाशंकर के पिता रघुवर दयाल फिरोजाबाद सूचना विभाग में चौकीदार के पद पर कार्यरत थे. पद पर रहते उनकी मौत हो गई. लिहाजा दयाशंकर को मृतक आश्रित कोटे से चौकीदार के पद पर नौकरी मिली थी. 

जिस ऑफिस में था अपर सूचना अधिकारी, अब वहीं करेगा चौकीदारी! जानें पूरा मामला
दयाशंकर.

फिरोजाबाद: यूपी के फिरोजाबाद से एक खबर सामने आई है, जहां धांधली करके अपर सूचना अधिकारी बने एक शख्स की कारस्तानी उजागर हुई है. पिता की मौत के बाद आश्रित कोटे से चौकीदार बना यह शख्स लंबे समय से बडे़ पद की फिराक में था और धांधली कर अपने मंसूबों में कामयाब भी हो गया. हालांकि बाद में उसके खिलाफ की गई एक शिकायत की जांच ने पूरी पोल खोल दी. इस मामले का खुलासा होने पर धांधली के जरिए पदोन्नति पाने वाले अन्य चार लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई हुई.

बद्रीनाथ यात्रा की राह हुई आसान, लामबगड़ स्लाइड जोन का हुआ स्थाई 'ट्रीटमेंट'

क्या है मामला?
फिरोजाबाद में अपर सूचना अधिकारी का पद काफी समय से खाली चल रहा था. जिसका कार्यभार अपर सूचना अधिकारी दयाशंकर संभाल रहे थे. लेकिन आज उत्तर प्रदेश सरकार ने लेटर जारी किया है, जिसमें इनकी पोल खुल गई है. दरअसल, दयाशंकर के पिता रघुवर दयाल फिरोजाबाद सूचना विभाग में चौकीदार के पद पर कार्यरत थे. पद पर रहते उनकी मौत हो गई. लिहाजा दयाशंकर को मृतक आश्रित कोटे से चौकीदार के पद पर नौकरी मिली थी. जिसके बाद दयाशंकर ने धांधली कर शासन से अपनी नियुक्ति अपर सूचना अधिकारी के पद पर करवाई.

अखिलेश के चित्रकूट दौरे पर डिप्टी सीएम का तंज- कल को ओवैसी भी रामलला के दर्शन करने आएं तो कोई आश्चर्य नहीं

चार लोगों के खिलाफ कार्रवाई
दयाशंकर के चौकीदार से अधिकारी के पद पर हुए प्रमोशन को लेकर एक व्यक्ति ने हाईकोर्ट में रिट दायर की. जिसमें कोर्ट ने शासन को दयाशंकर के साथ-साथ अन्य चार लोगों को वापस उनके पद पर नियुक्त करने का आदेश दिया. बता दें कि अपर सूचना अधिकारी से चौकीदार बनने वाले दयाशंकर अकेले नहीं हैं, इनके साथ प्रदेश में धांधली कर प्रमोशन पाने वाले चार अन्य लोगों की भी उनके पद पर वापसी हुई है. कार्रवाई के बाद कुछ दिनों तक अपर सूचना अधिकारी रहे ये लोग अब उसी कार्यालय में चौकीदार और चपरासी के पद पर तैनात होंगे.

बदायूं गैंगरेप: SP ने की कार्रवाई, हल्का इंचार्ज अमरजीत सिंह को किया निलंबित

ऑफिस में ताला लगाकर फरार
इस मामले का खुलासा होने के बाद इस बात पर भी सवाल उठ रहें हैं कि आखिर अभी तक दयाशंकर को किस आधार पर अपर सूचना अधिकारी की सैलरी मिली है, क्योंकि इस मामले में अब तक किसी भी तरहके दस्तावेज सामने नहीं आये हैं. फिलहाल अपने आप को अपर सूचना अधिकारी कहने वाले दयाशंकर ऑफिस से फरार हैं. ऑफिस पर ताला लटका हुआ है. वहीं इस मामले पर जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने कहा कि कोर्ट का जो आदेश आया है उसके हिसाब से कार्यवाही की जाएगी. उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा शुक्रवार को ही आदेश आया है.

जब जान देने पर उतारू हो गई बिल्ली, देखें Viral Video

Viral Video: जिसे खोज रही है दुनिया, वो जैक मा AC सुधारते दिखे!

WATCH LIVE TV