सीतापुर में सावन के पहले सोमवार पर जिले के सभी मंदिर बंद, भक्तों ने मंदिर के गेट पर ही चढ़ाए बेलपत्र और प्रसाद

कोरोना के तीसरी लहर को देखते हुए समस्त मंदिर कमेटियों ने निर्णय लिया कि सावन के प्रत्येक सोमवार पर मंदिरों के कपाट बंद रहेंगे जिससे कि मंदिर के बाहर भीड़-भाड़ ना लगे.

सीतापुर में सावन के पहले सोमवार पर जिले के सभी मंदिर बंद, भक्तों ने मंदिर के गेट पर ही चढ़ाए बेलपत्र और प्रसाद

राजकुमार दीक्षित/सीतापुर: सावन का पहला सोमवार आज यानी 26 जुलाई को है. हिंदू पंचांग के अनुसार, श्रावण कृष्ण पक्ष तृतीया और सावन का पहला सोमवार है. हिंदू धर्म में सावन मास के साथ ही इसके सोमवार का भी विशेष महत्व होता है. इस महीने में भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा की जाती है. वहीं, कोरोना संकट के चलते ज्यादातर लोगों ने घर पर ही भगवान शिव कि विधि विधान से पूजा की. यूपी के सीतापुर में जिले के सभी मंदिर कोरोना के चलते बंद रहे.

सावन का पहला सोमवार आज, मंदिरों और शिवालयों में उमड़ी भक्तों की भीड़

मंदिर के कपाट बंद रहे 

कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए यूपी के सीतापुर में सावन के पहले सोमवार पर जिले के सभी मंदिरों को बंद करने का निर्देश दिए गए हैं. ये निर्देश मंदिर कमेटी ने लिया है. कोरोना के तीसरी लहर को देखते हुए समस्त मंदिर कमेटियों ने निर्णय लिया कि सावन के प्रत्येक सोमवार पर मंदिरों के कपाट बंद रहेंगे जिससे कि मंदिर के बाहर भीड़-भाड़ ना लगे.

भक्तों ने मंदिर के गेट पर ही बेलपत्र और प्रसाद चढ़ाकर की पूजा अर्चना 
इसी के चलते शहर के प्राचीन मंदिर बाबा श्याम नाथ और बाबा जंगली नाथ के कपाट बंद रहे. मंदिर पहुंचने वाले भक्तों ने मंदिर के गेट पर ही बेलपत्र और प्रसाद चढ़ाकर पूजा अर्चना की. वहीं जगह-जगह पर सुरक्षा व्यवस्था मुस्तैद दिखाई दी जिससे कि कहीं पर भीड़ न लग सके. पुलिस प्रशासन लोगों को कोविड- गाइडलाइन का पालन करता दिखाई दिया. लेकिन कपाट बंद होने के बाद भी भक्तों में आस्था देखने को मिली और भाग मंदिर के गेट पर ही बेलपत्र प्रसाद चढ़ाते नजर आए.

एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल शुरू, ठप रहेंगी 102 और 108 सेवा, ये हैं मांगे

WATCH LIVE TV