BJP सांसद और विधायक के बीच चले जूते, प्रदेश अध्यक्ष पांडेय बोले- कठोर कार्रवाई होगी
topStorieshindi

BJP सांसद और विधायक के बीच चले जूते, प्रदेश अध्यक्ष पांडेय बोले- कठोर कार्रवाई होगी

कलेक्ट्रेट सभागार में जिला योजना समिति की बैठक चल रही थी. जिले के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन मौजूद थे. 

BJP सांसद और विधायक के बीच चले जूते, प्रदेश अध्यक्ष पांडेय बोले- कठोर कार्रवाई होगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर में बीजेपी के सांसद और विधायक के बीच हुई जूतमपैजार के बाद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने इस मामले को गंभीरता से लिया है. महेंद्र नाथ पांडेय ने घटना को संज्ञान में लेते हुए कहा कि यह एक निंदनीय व्यवहार है और दोनों नेताओं को लखनऊ तलब किया गया है. इस मामले में कठोर कार्रवाई की जाएगी. पार्टी सूत्रों की कहना है कि प्रदेश बीजेपी आलाकमान इस घटना को हल्के में लेने के मूड में नहीं है. बीजेपी द्वारा इस मामले पर बड़ी कार्रवाई की जा सकती है.

यहां देखे वीडियो

 

वहीं, इस घटना के बाद बीजेपी विधायक राकेश सिंह बघेल और उनके समर्थक सांसद शरद त्रिपाठी की गिरफ्तारी की मांग करते हुए डीएम ऑफिस के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं. दरअसल, उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर के सांसद शरद त्रिपाठी ने बुधवार को जिला कार्ययोजना की बैठक में अपनी ही पार्टी के विधायक राकेश सिंह बघेल की जूतों से पिटाई कर दी थी. इस दौरान दोनों नेताओं के बीच जमकर हाथापाई और जूतमपैजार हुई. इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर इसका वीडियो जमकर वायरल हो रहा है.

दरअसल, कलेक्ट्रेट सभागार में जिला योजना समिति की बैठक चल रही थी. जिले के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन मौजूद थे. इसी बीच संत कबीरनगर से बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी और मेंहदावल से भाजपा विधायक बघेल के बीच सडक निर्माण का श्रेय लेने को लेकर कहासुनी हो गयी. संत कबीर नगर से सांसद शरद त्रिपाठी ने विधायक राकेश सिंह बघेल से एक शिलापट पर उनका नाम नहीं लिखने के बारे में पूछा. इस पर विधायक राकेश सिंह बघेल ने कुछ अटपटा सा जवाब दे दिया. इससे सांसद तिलमिला गए. शरद त्रिपाठी ने कहा कि मैं सांसद हूं तो मेरा नाम शिलापट पर होना ही चाहिए था.

विवाद कहासुनी तक ही सीमित नहीं रहा और सांसद शरद त्रिपाठी ने अपना जूता निकाल कर पास ही बैठे विधायक राकेश सिंह पर चलाने शुरू कर दिए.  इसी बीच विधायक राकेश सिंह ने भी सांसद पर कई थप्पड़ बरसा दिए. अचानक हुई इस घटना से वहां बैठे लोग सन्न रह गए. किसी को कुछ भी समझ में आता इससे पहले ही दोनों नेता आपस में बुरी तरह उलझ गए.

 

प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों ने किसी तरह बीच-बचाव कर उन्हें अलग किया गया. इस घटना पर अभी तक कोई सफाई सामने नहीं आई है. बताया जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच काफी लंबे समय से विवाद चल रहा था.

Trending news