close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीजेपी की जीत पर मुस्‍ल‍िम परिवार ने मनाया जश्‍न, बच्‍चे का नाम रखा नरेंद्र मोदी

आमतौर पर माना जाता है कि देश के मुसलमान बीजेपी का समर्थन नहीं करते हैं. लेकिन यूपी के गौण्डा में एक मुस्‍ल‍िम परिवार ने प्रधानमंत्री से प्रभावित होकर अपने घर जन्म लेने वाले बच्‍चे का नाम ही नरेंद्र मोदी रख दिया है.

बीजेपी की जीत पर मुस्‍ल‍िम परिवार ने मनाया जश्‍न, बच्‍चे का नाम रखा नरेंद्र मोदी
बच्चे के बर्थ सर्टिफीकेट के लिए आवेदन दिया गया है. (फोटो साभार: ANI)

गोण्डा: लोकसभा चुनाव 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में बीजेपी ने ऐतिहासिक कामयाबी हासिल की है. इतिहास में बीजेपी ने पहली बार अपने दम पर 300 से ज्‍यादा सीटें हासिल की हैं. जाहिर है इस बार के चुनाव में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही सबसे बड़ा चेहरा थे. उनके नाम पर ही बीजेपी ने लोकसभा चुनावों में ये मुकाम हासिल किया है. पूरे देश में उनकी लोकप्रियता का फायदा बीजेपी को मिला है. 

आमतौर पर माना जाता है कि देश में मुस्‍ल‍िम बीजेपी का समर्थन नहीं करते हैं. लेकिन यूपी के गोण्डा के एक मुस्‍ल‍िम परिवार ने प्रधानमंत्री मोदी से प्रभावित होकर अपने घर जन्म लेने वाले बच्‍चे का नाम ही उनके नाम पर रख दिया है. गोण्डा जिले के वजीरगंज की रहने वाली बेगम मैनाज ने मोदी की जीत की खबर के समय बच्चे को जन्म दिया. जिसके बाद खुशी में उसने अपने बच्चे का नाम नरेंद्र दामोदर दास मोदी रखा है. 

जन्म प्रमाण पत्र जारी करने का अनुरोध
इसके साथ ही इस मुस्लिम परिवार के सदस्यों ने सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) को इस आशय का शपथ पत्र देते हुए बच्चे का नाम मोदी के नाम पर परिवार रजिस्टर में दर्ज कर जन्म प्रमाण पत्र जारी करने का अनुरोध किया है.

बच्चे की मां के जिद के आगे झुका परिवार
मिल रही खबर के अनुसार, 23 मई को मतगणना के दिन जब बच्चे के नामकरण की चर्चा शुरू हुई तो इस महिला ने अपने नवजात शिशु का नाम नरेन्द्र दामोदर दास मोदी रखने की जिद पकड़ ली थी. महिला के इस निर्णय पर पहले तो लोगों ने उसे समझाने का प्रयास किया. लेकिन अपने निर्णय पर अडिग रहने पर दुबई में नौकरी कर रहे उसके पति मुश्ताक अहमद से बात की गई. लेकिन उसका पति भी पीएम के नाम पर अपने बच्चे का नाम रखने के लिए राजी नहीं हो रहा था. जिसके बाद भी वह जब नहीं मानी तो बच्चे का नाम नरेन्द्र दामोदर दास मोदी रख दिया गया.

वजीरगंज के सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) घनश्याम पाण्डेय ने बताया कि उन्हें शुक्रवार को एक शपथ पत्र के साथ प्रार्थना पत्र मिला है, जिसमें एक नवजात शिशु का नाम नरेन्द्र दामोदर दास मोदी के रूप में परिवार रजिस्टर में दर्ज कर जन्म प्रमाणपत्र जारी करने का अनुरोध किया गया है. उन्होंने बताया कि प्रार्थना पत्र को जांच एवं आवश्यक कार्रवाई के लिए जन्म मृत्यु पंजीयक/सचिव ग्राम पंचायत घनश्याम शुक्ला को भेज दिया गया है.

मैनाज को मोदी के नाम पर भरोसा
वहीं, बच्चे की मां मैनाज बेगम ने मीडिया से बातचीत में कहा कि नरेन्द्र मोदी देश के अच्छे नेता हैं. उज्ज्वला योजना, जनधन खाता, इज्जत घर जैसी योजनाएं उन्हीं के बदौलत गरीबों को मिल पा रही हैं. इससे से बढ़कर उन्होंने तीन तलाक मामले पर कानून बनाकर मुस्लिम महिलाओं को बहुत बड़ा सहारा दिया है..

नामकऱण को बताया निजी मामला
इस संबंध में गृह स्वामी इदरीस का कहना है कि मोदी जी के प्रति उसकी भी व्यक्तिगत आस्था है. जहां तक बच्चे के नामकरण का सवाल है, यह हमारा निजी मामला है. इसमें किसी का दखल नहीं होना चाहिए. वहीं, इनके पड़ोसी मुश्तकीम ने कहा कि यह इदरीश के परिवार का निजी मामला है. इससे गांव वालों को कोई आपत्ति नहीं है.