आय से अधिक संपत्ति रखने के आरोप में नोएडा प्राधिकरण के इंजीनियर बृजपाल सस्‍पेंड

नोएडा प्राधिकरण में सहायक परियोजना इंजीनियर के पद पर तैनात हैं बृजपाल चौधरी.

आय से अधिक संपत्ति रखने के आरोप में नोएडा प्राधिकरण के इंजीनियर बृजपाल सस्‍पेंड
7 जून को आरोपी बृजपाल के घर पर हुई थी छापेमारी, 8 जून को जारी हुअा निलंबन पत्र.

नोएडा : आय से अधिक संपत्ति रखने के आरोप में नोएडा अथॉरिटी के सहायक परियोजना अभियंता (इंजीनियर) बृजपाल चौधरी को शुक्रवार (8 जून) को सस्‍पेंड कर दिया गया है. बृजपाल पर आय से अधिक संपत्ति का आरोप है. गुरुवार (7 जून) को आयकर विभाग की टीमों ने बृजपाल के नोएडा के सेक्‍टर 27 स्थित घर पर छापेमारी की थी. इसमें उनकी बेनामी संपत्ति और कई होटलों के दस्‍तावेज मिलने का दावा किया गया है. गुरुवार को आयकर विभाग ने नोएडा में बृजपाल चौधरी के घर पर कई घंटों तक छापेमारी की थी. इस दौरान सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए गए थे.

हाथ लगे अहम दस्‍तावेज
नोएडा प्राधिकरण के सहायक परियोजना अभियंता के पद पर रहे बृजपाल चौधरी के घर हुई आयकर विभाग की छापेमारी में अधिकारियों को अहम दस्तावेज हाथ लगे हैं. जानकारी के मुताबिक आयकर विभाग को मिली फाइल और दस्तावेजों का संज्ञान खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने भी लिया है. इसी के बाद से बृजपाल को सस्‍पेंड करने की चर्चाएं तेज हो गई थीं.

 

रिश्‍तेदारों को भी पहुंचाया लाभ
बताया जा रहा है कि बृजपाल ने प्राधिकरण के कई विभागों में अपने रिश्तेदारों को संविदा पर नौकरी दिलवाई थी. बृजपाल के एक करीबी रिश्तेदार और नोएडा प्राधिकरण के एक ठेकेदार से भी आयकर विभाग पूछताछ कर रहा है. सूत्रों के मुताबिक इसी रिश्तेदार के पास बृजपाल के लेनदेन संबंधी समेत अन्‍य जानकारियां भी रहती थीं. आयकर विभाग को बृजपाल के घर से कई बैंक ट्रांजेक्शन और लॉकर की भी कॉपियां जब्त की हैं. जल्द ही ये लॉकर खोला जाएगा. इसके साथ-साथ जिस कोठी में आयकर विभाग ने रेड की थी उसमें बृजपाल की तीन लग्जरी गाडियां भी मिली हैं. आयकर विभाग अब बृजपाल के रिश्तेदारों और उनके द्वारा नौकरी पर रखवाए गए लोंगों की भी सूची तैयार कर रहा है. बता दें कि बृजपाल का रिटायरमेंट 2018 में दिसंबर में होना है.