शशि थरूर ने इस तस्वीर के साथ किया ट्वीट 'सब नंगे हैं', यूपी के मंत्री ने दिया करारा जवाब
Advertisement

शशि थरूर ने इस तस्वीर के साथ किया ट्वीट 'सब नंगे हैं', यूपी के मंत्री ने दिया करारा जवाब

थरूर के तंज पर यूपी के मंत्री एसएन सिंह ने बेहद तल्ख टिप्पणी की है. एसएन सिंह ने कहा, 'वे लोग कुंभ का महत्व नहीं समझेंगे. उन्हें इस संस्कृति में लाया गया है, इसलिए वे इसकी महत्ता नहीं समझ सकते हैं. उन लोगों ने बहुत सारे पाप किए हैं, मेरी सलाह है कि कुंभ में आकर डुबकी लगाएं शायद उनके कुछ पाप धुल जाएं.'

शशि थरूर ने योगी कैबिनेट के मंत्रियों के कुंभ में स्नान करने पर कमेंट किया है.

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने लेटे हुए हनुमान, अक्षयवट और सरस्वती कूप के दर्शन कर कुम्भ मेले में मंत्रिमंडल की बैठक की और इसके उपरांत पूरे मंत्रिमंडल के साथ संगम में डुबकी लगाई. योगी कैबिनेट के सभी सदस्यों के नहाने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने पर कांग्रेस के सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने ट्वीट कर तंज कसा था. थरूर के तंज पर यूपी के मंत्री एसएन सिंह ने बेहद तल्ख टिप्पणी की है. एसएन सिंह ने कहा, 'वे लोग कुंभ (Kumbh 2019) का महत्व नहीं समझेंगे. उन्हें इस संस्कृति में लाया गया है, इसलिए वे इसकी महत्ता नहीं समझ सकते हैं. उन लोगों ने बहुत सारे पाप किए हैं, मेरी सलाह है कि कुंभ में आकर डुबकी लगाएं शायद उनके कुछ पाप धुल जाएं.'

थरूर ने ट्वीट में कहा था- 'सभी नंगे हैं'
योगी कैबिनेट के सदस्यों के नहाने की तस्वीर ट्वीट करते हुए शशि थरूर ने लिखा था- 'गंगा भी स्वच्छ रखनी है और पाप भी यहीं धोने हैं. इस संगम में सब नंगे हैं! जय गंगा मैया की!' 

fallback

इतिहास में पहली बार कुम्भ मेले में आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया, 'उत्तर प्रदेश के पश्चिमी भाग को प्रयागराज से जोड़ने के लिए मंत्रिमंडल ने गंगा एक्सप्रेसवे को सैद्धांतिक सहमति दी है.' 

उन्होंने बताया, 'यह एक्सप्रेसवे मेरठ, अमरोहा, बुलंदशहर, बदायूं, शाहजहांपुर, फर्रुखाबाद, हरदोई, कन्नौज, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ होते हुए प्रयागराज आएगा. यह एक्सप्रेसवे जब बनेगा तो दुनिया का सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे होगा. यह लगभग 600 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेसवे होगा और इस पर करीब 36,000 करोड़ रुपये खर्च आने की संभावना है.' 

मंत्रिमंडल की बैठक में किए गए फैसले की जानकारी देने के बाद मुख्यमंत्री और उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी संगम स्नान के लिए संगम नोज पर बने घाट पर गए जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि और अन्य साधु संतों के साथ स्नान किया.

स्नान के बाद प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने संवाददाताओं से कहा, "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में उत्तर प्रदेश की पूरी कैबिनेट और हमारे कई राज्यमंत्रियों ने आज संगम में डुबकी लगाई. कई साधु संत भी साथ में डुबकी लगाने के लिए आए." 

कुम्भ भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री ने कुम्भ मेले में स्थित नाथ सम्प्रदाय के शिविर में मंत्रिमण्डल सहित पहुंचकर नाथ सम्प्रदाय के धर्मध्वज की पूजा-अर्चना की और इसके बाद सभी ने प्रसाद ग्रहण किया.

मुख्यमंत्री ने सेक्टर-6 में लगाए गए नेत्रकुम्भ का भी अवलोकन किया और वहां उन्होंने अस्पताल में भर्ती मरीजों से बातचीत की और उन्हें दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी ली.

कुंभ में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को भी सैद्धांतिक सहमति दी गई है. यह एक्सप्रेसवे लगभग 296 किलोमीटर लंबा होगा और इस पर 8,864 करोड़ रुपये खर्च होंगे. इसके लिए 3641 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता पड़ेगी.

मंत्रिमंडल ने सर्जिकल स्ट्राइक पर बनी फिल्म उरी को राज्य जीएसटी से मुक्त करने का निर्णय किया है.

मंत्रिमंडल ने प्रयागराज में भारद्वाज पार्क के सौंदर्यीकरण की तर्ज पर भारद्वाज ऋषि के आश्रम का भी सौंदर्यीकरण करने, प्रयागराज के पास स्थित श्रृंगवेरपुर तीर्थ स्थल को विकसित करने, निषादराज का पार्क विकसित करने और उनकी मूर्ति लगाने के प्रस्ताव पर भी सहमति दी है.

इसके अलावा, प्रयागराज-चित्रकूट के बीच पहाड़ी नामक स्थान पर स्थित महर्षि वाल्मिकी आश्रम पर एक भव्य प्रतिमा लगाने, रामायण पर एक शोध संस्थान खोलने और आश्रम का सौंदर्यीकरण करने के प्रस्ताव को भी सहमति दी है.

मुख्यमंत्री ने बताया कि मंत्रिमंडल ने एक प्रस्ताव पारित किया है जिसमें मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत प्रदेश के बेघर 3791 कुष्ठ रोगियों को आवास प्रदान किया जाएगा. 

इससे अलावा, मंडी समितियों में किसानों का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने के लिए इन समितियों के जनतंत्रीकरण की प्रक्रिया आगे बढ़ाने का निर्णय किया गया है. इसके तहत, पंजीकृत किसान ही मंडी समिति के सभापति और उपसभापति के रूप में चुने जा सकेंगे.

योगी आदित्यनाथ ने बताया कि लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई, दिल्ली के एम्स के समकक्ष है. जो सुविधाएं एम्स के चिकित्सकों और गैर चिकित्सकों को मिलती हैं, वही सुविधाएं मिलेगी. मंत्रिमंडल ने इस पर अपनी सहमति दी है.

ये भी देखे

Trending news