जानते हैं टूथपेस्ट की ट्यूब पर बना ये चौकोर मार्क क्या बताता है? नहीं पता तो पढ़ लें यहां
X

जानते हैं टूथपेस्ट की ट्यूब पर बना ये चौकोर मार्क क्या बताता है? नहीं पता तो पढ़ लें यहां

अपना टूथपेस्ट उठा कर देखिए. सबसे नीचे आपको एक चौकोर (Square Shape) मार्क दिखेगा. यह लाल, हरा या नीला हो सकता है. इंटरनेट पर इस मार्क को लेकर कई बाते हैं. लेकिन हम बताते हैं क्या है इसकी सच्चाई...

जानते हैं टूथपेस्ट की ट्यूब पर बना ये चौकोर मार्क क्या बताता है? नहीं पता तो पढ़ लें यहां

नई दिल्ली: सुबह उठ कर सबसे पहला काम जो हम करते हैं वह है अपने मुंह को और बॉडी को फ्रेश करना. इसके लिए सबसे जरूरी है कि हमारा टूथपेस्ट अच्छा हो. इसलिए इसे खरीदने से पहले हम कई बात सोचते हैं. क्या इसका टेस्ट अच्छा है? क्या पेस्ट से फ्रेशनेस ज्यादा देर तक रहती है? क्या इसकी फ्रेश खुशबू ज्यादा देर तक मुंह में बनी रहती है? और न जाने क्या-क्या. लाइफ में आपने अलग-अलग तरह के बहुत टूथपेस्ट खरीदे होंगे. लेकिन क्या आपको पता है कि पेस्ट की ट्यूब के नीचे एक मार्क बना होता है. जो पेस्ट के कलर से अलग होता है. क्या आप जानते हैं ये क्या है?

पता है एक दिन में कितने शब्द बोल जाते हैं आप? हजार- दो हजार नहीं, चौंकाने वाली है संख्या

ऐसा दिखता है मार्क
अपना टूथपेस्ट उठा कर देखिए. सबसे नीचे आपको एक चौकोर (Square Shape) मार्क दिखेगा. यह लाल, हरा या नीला हो सकता है. इंटरनेट पर इस मार्क को लेकर कई बाते हैं. लेकिन हम बताते हैं क्या है इसकी सच्चाई. 

इंटरनेट पर हैं ये बातें
कभी भी आप इस मार्क के बारे में गूगल से पूछेंगे तो कई तरीके की बातें सामने आ जाएंगी. कई रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि इस चौकोर और अलग-अलग रंग के मार्क से पेस्ट की गुणवत्ता का पता चलता है. कहा जाता है कि इस मार्क का जो रंग है, वैसे तत्व पेस्ट में मिलाए गए हैं. 

99% लोग गलत तरीके से धोते हैं जींस, आप भी इन्हीं में शामिल हैं तो यहां जान ले सही तरीका
रंगों के आधार पर-
ब्लैक मार्क- कैमिकल से बने पेस्ट होते हैं. 
लाल मार्क- नेचुरल तरीके और कैमिकल से बने पेस्ट होते हैं
नीला मार्क- नेचुरल और मेडिसिन से बने टूथपेस्ट होते हैं
हरे मार्क- पूरी तरह से नेचुरल टूथपेस्ट 

वहीं, कई लोग मानते हैं कि ये रंग टूथपेस्ट की क्वॉलिटी बताते हैं.

ज्यादातर लोग नहीं जानते कैलकुलेटर में m+, m-, mr और mc का मतलब, क्या आपको पता है?

हम बताते हैं क्या है सच
ये सब बातें प्रचलित तो बहुत हैं लेकिन सच से परे हैं. दरअसल, कोलगेट की ऑफिशियल वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, टूथपेस्ट पर बना यह मार्क क्वॉलिटी की गारंटी नहीं, बल्कि इसका इस्तेमाल इसलिए किया जाता है ताकि पता लगे कि कहां से टूथपेस्ट की ट्यूब की कटिंग करनी है और कहां से उसे सील करना है. इसलिए यह मार्क ट्यूब बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं. इससे पेस्ट की गुणवत्ता का पता नहीं चलता.

यह होता है मार्क का काम
दरअसल, ट्यूब बनाने की फैक्ट्री में लगी मशीनें इस मार्क को आसानी से पहचान जाती हैं. मशीन के लाइट सेंसर इस मार्क को सेंस कर लेते हैं और उसी हिसाब से मशीन ट्यूब काटती व सील करती है. 

जहर एक्सपायर होने पर कम असरदार होता है या और ज्यादा जहरीला? यहां मिलेगा जवाब

तो फिर कैसे पता करें पेस्ट की गुणवत्ता?
टूथपेस्ट की क्वॉलिटी जानने के लिए आपको पता करना होगा कि पेस्ट में क्या क्या मिलाया गया है. इसकी जानकारी भी ट्यूब पर दी जाती है. ट्यूब के पीछे कंटेंट में पेस्ट के सारे इंग्रीडिएंट लिखे होते हैं. वहां से आपको पता चल जाएगा कि इसमें क्या मिला है.

WATCH LIVE TV

Trending news