कौन हैं वीरेंद्र शर्मा, जिनके फैसले ने भारत को पहुंचा दिया था हार के कगार पर

सूर्यकुमार और वाशिगंटन सुंदर को आउट देने को लेकर उनकी आलोचन वीरेंद्र सहवाग समेत कई दिग्गज कर रहे हैं. 

कौन हैं वीरेंद्र शर्मा, जिनके फैसले ने भारत को पहुंचा दिया था हार के कगार पर
फाइल फोटो

नई दिल्ली:  भारत और इंग्लैंड के बीच टी-20 सीरीज चल रही है. गुरुवार को भारत के लिए करो और मरो का मैच था. भारत ने किसी तरह से आखिरी ओवर्स में मैच अपने नाम कर लिया. मैच में सूर्यकुमार यादव, श्रेयस अय्यर और शार्दुल ठाकुर ने शानदार प्रदर्शन किया. लेकिन इनके प्रदर्शन से इतर अंपायर के फैसलों ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा. खासकर टीवी अंपायर वीरेंद्र शर्मा लगातार ट्विटर पर ट्रोल पर हो रहे हैं. सूर्यकुमार और वाशिगंटन सुंदर को आउट देने को लेकर उनकी आलोचन वीरेंद्र सहवाग समेत कई दिग्गज कर रहे हैं.  आज जब निर्णायक पांचवे मैंच दोनों टीमें आमने-सामने आनी वाली है, तो फैंस के दिल से उनका खौफ उतर ही नहीं रहा है. लेकिन क्या आप जानते हैं आखिरी वीरेंद्र शर्मा कौन हैं...

Uttar Pradesh Weather: किसान हो जाएं सावधान!  हवाओं के साथ आने वाली है बरसात 

चार अंतरराष्ट्रीय अंपायरों में शामिल
साल 2019 में आईसीसी अंपायर्स पैनल में चार भारतीय को जगह दी गई. इनमें शमशुद्दीन, अनिल चौधरी व नितिन मेनन के साथ वीरेंद्र शर्मा का भी नाम शामिल किया गया. वीरेंद्र शर्मा साल 2015 से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को बतौर अंपायर अपनी सेवा दे रहे हैं. वह आईपीएल में भी बतौर अंपायर नजर आ चुके हैं. 

हिमाचल प्रदेश की टीम के कप्तान रह चुके हैं वीरेंद्र शर्मा
वीरेंद्र शर्मा हमीरपुर से संबंध रखते हैं. उनका जन्म पुरली गांव में हुआ था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत हमीरपुर से बतौर अंडर-17 खिलाड़ी की थी. इसके बाद वह अंडर-19 टीम का हिस्सा बने. साल 1990 में वह रणजी खेलने के लिए हिमाचल प्रदेश की टीम शामिल हुए. साल 2006 तक के अपने करियर में उन्होंने 50 से अधिक प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला. बतौर बाए हांथ के बल्लेबाज उन्होंने 1889 रन बनाए. रणजी में उन्होंने हिमाचल प्रदेश के लिए कप्तानी भी की. 

WATCH LIVE TV