ड्यूटी पर लगेंगे MBBS की पढ़ाई कर रहे Student, कोरोना संकट पर योगी सरकार का फैसला

सीएम ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए हॉस्पिटल में बेड बढ़ाने और MBBS के चौथे और पांचवे साल के स्टूडेंट्स की ड्यूटी हॉस्पिटल में लगाए जाने के निर्दश जारी किए हैं

ड्यूटी पर लगेंगे MBBS की पढ़ाई कर रहे Student, कोरोना संकट पर योगी सरकार का फैसला
फाइल फोटो

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (Cornavirus) के लगातार बढ़ते हुए मामलों को लेकर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Cm Yogi) ने कई नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. सीएम योगी ने कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए और साधनों को और बेहतर बनाने के लिए निजी अस्पतालों और प्रयोगशालाओं को अधिग्रहित करने का फैसला लिया है.  MBBS के छात्रों की परीक्षा निरस्त होने के कारण इनकी ड्यूटी अस्पतालों में लगायी गई है.

यूपी में कक्षा 1 से 12 तक के सभी स्कूल-कॉलेज 30 अप्रैल तक बंद, योगी सरकार ने दिए आदेश

 

MBBS के चौथे और पांचवे साल के स्टूडेंट्स की ड्यूटी हॉस्पिटल में
सीएम ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए हॉस्पिटल में बेड बढ़ाने और MBBS के चौथे और पांचवे साल के स्टूडेंट्स की ड्यूटी हॉस्पिटल में लगाए जाने के निर्दश जारी किए हैं. इसके अलावा प्राइवेट हॉस्पिटल के डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ को मनमानी छुट्टी लेने पर भी पूरी तरह से रोक लगा दी गई है. मेडिकल सेवा में किसी को भी अवकाश के लिए cmo से अनुमति लेनी होगी.

भीमराव अंबेडकर की 130वीं जयंती आज, पीएम मोदी, सीएम योगी समेत तमाम लोगों ने किया नमन

टेस्ट क्षमता बढ़ाने पर निर्देश
सीएम योगी ने बेड बढ़ाने के लिए सरकारी संस्थानों, निजी मेडिकल कॉलेजों के अलावा अन्य  विकल्पों पर भी कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं. उन्होंने टेस्ट की क्षमता बढ़ाने के लिए केजीएमयू और राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान को भी निर्देश दिए हैं. इससे पहले आगरा,बरेली और नोएडा में संचालित केंद्रीय संस्थाओं की लैब में 1200 जांचें रोज होती थीं. सीएम ने इनका भी उपयोग करने के निर्देश दिए हैं. 

प्रदेश में रोजाना करीब 2 लाख से ज्यादा हो रही जांचों में करीब आधी जांचें आरटीपीसीआर से हो रही थी, इसे बढ़ाकर रोजाना डेढ़ लाख करने के निर्देश दिए हैं. सीएम योगी ने निजी लैबों में जांच बढ़ाने के लिए राज्य सरकार की ओर से भुगतान करने पर भी विचार किया है. सीएम ने मंत्रियों को निर्देश दिया है कि अपने-अपने प्रभार वाले जिलों की रोज समीक्षा करें.

बहुत तेजी से बढ़ रहा है कोरोना का नया स्ट्रेन

कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन बहुत ही तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है. हर राज्य में हर शहर में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. प्रशासन की कोशिश है कि जल्द से जल्द इस पर काबू पाया जाए. इसके लिए हर संभव कदम उठाए जा रहे हैं. लोगों को मास्क लगाने, समय-समय पर हाथ धोने और सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए लगातार जागरुक किया जा रहा है. 

सरकारी मेडिकल कॉलेजों एवं चिकित्सा संस्थानों में ओपीडी सेवाएं बंद 
उत्तर प्रदेश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर योगी सरकार ने सात जिलों के सरकारी मेडिकल कॉलेजों एवं चिकित्सा संस्थानों में ओपीडी सेवाएं बंद करने का निर्णय लिया है. कोविड और नॉन कोविड मरीजों को उचित इलाज मुहैया कराने के लिए अस्पतालों की ओपीडी से सामान्य मरीजों की भीड़ को कम करना जरूरी था. इसके लिए यह फैसला किया गया है. सामान्य मरीज टेलीमेडिसिन सुविधा के जरिए डॉक्टरी परामर्श ले सकेंगे.

कोरोना का कहर: यूपी के कई जिलों में नाइट कर्फ्यू, सीएम योगी की हिदायत के बाद पुलिस-प्रशासन मुस्तैद

 

अखिलेश यादव भी कोरोना पॉजिटिव

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. उन्होंने मंगलवार को कोरोना टेस्ट करवाया था और हाल ही में ट्वीट कर के रिपोर्ट्स की जानकारी दी.

WATCH LIVE TV