• 0/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    0बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    0कांग्रेस+

  • अन्य

    0अन्य

हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं है, BJP चाहे जितना जोर लगा ले मैं सब संभाल लूंगा : CM कुमारस्वामी

सीएम कुमारस्वामी ने सोमवार को कहा, 'कांग्रेस के जिन तीन विधायकों के बीजेपी में जाने की बात कही जा रही है, वे हमारे संपर्क में हैं. मुझे बताकर वे मुंबई गए हैं.'

हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं है, BJP चाहे जितना जोर लगा ले मैं सब संभाल लूंगा : CM कुमारस्वामी
कर्नाटक में जेडीएस को महज 37 सीटें आने के बाद भी वह कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार चला रहे हैं.

बेंगलुरु: कर्नाटक में जेडीएस+कांग्रेस की गठबंधन सरकार गिरने की किसी भी तरह की संभावनाओं पर मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने खुद विराम लगा दिया है. सीएम कुमारस्वामी ने सोमवार को कहा, 'कांग्रेस के जिन तीन विधायकों के बीजेपी में जाने की बात कही जा रही है, वे हमारे संपर्क में हैं. मुझे बताकर वे मुंबई गए हैं. मेरी सरकार को किसी भी तरीके का खतरा नहीं है. मैं जानता हूं कि बीजेपी हमारे विधायकों को प्रलोभन दे रहे हैं, लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है. मैं सरकार को संभालने में सक्षम हूं, मीडिया को इसकी चिंता करने की जरूरत नहीं होनी चाहिए.'

इससे पहले रविवार को अटकलें तेज हो गई थी कि कर्नाटक में JDS-कांग्रेस की गठबंधन सरकार 17 जनवरी तक गिर सकती है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार ने आरोप लगाया है कि BJP सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रही है, लेकिन वे इस कोशिश में कभी कामयाब नहीं होंगे. 

राजनीतिक गलियारे में ये हैं चर्चा
BJP की राष्ट्रीय अधिवेशन की बैठक के खत्म होने के बाद पार्टी के सभी 104 विधायकों को उसी दिन कर्नाटक लौटना था, लेकिन उन्हें यह कहकर दिल्ली में ही रोक लिया गया कि रविवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह उनके साथ अलग से बैठक करेंगे. रविवार सुबह 11 बजे वैस्टर्न कोर्ट में ये बैठक होगी. इस बात की सूचना भी दी गयी थी, लेकिन अमित शाह वहां पहुंचे ही नहीं. इस बीच ये खबर भी आई कि कांग्रेस पार्टी के 4 विधायक मुंबई में हैं वह महाराष्ट्र भाजापा के संपर्क में हैं. साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि इनके अलावा विरोधी दलों के 2-3 विधायक भी आज मुम्बई पहुंच जाएंगे.

इन दो घटनाक्रम के चलते अफवाहों का बाजार गर्म हो गया, अभी भी BJP के सभी विधायक दिल्ली में हैं. कहा जा रहा है कि अमित शाह अब कल की बजाए आज इनसे मुलाकात करेंगे. ये भी कहा जा रहा है कि BJP का कोई भी विधायक पाला न बदल ले इसलिए सभी को एक साथ दिल्ली में ही रखा गया है.

प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा इस काम के मुख्य रणनीतिकार बताये जा रहे हैं. हाल ही में हुए कैबिनेट विस्तार के बाद मंत्री पद से हटा दिए गए कांग्रेस विधायक रमेश जारकीहोली और निर्दलीय विधायक आर शंकर नाराज चल रहे हैं. इसके अलावा मंत्री मंडल में जगह न मिलने से भी कुछ विधायक नाराज हैं. BJP इन्हीं विधायकों को अपने पाले में करने की कोशिश कर रही है. BJP सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस MLA आनंद सिंह, बी नागेन्द्रा, उमेश जाधव और बीसी पाटिल मुम्बई पहुंच गए हैं. जबकि रमेश जारकीहोली और निर्दलीय MLA आर शंकर आज मुम्बई पहुंचच सकते हैं. इसके अलावा कांग्रेस के विधायक रामप्पा, भीमा नायक के रमेश, जेडीएस के बी सत्यनारायण और एक और निर्दलीय उम्मीदवार नागेश के सम्पर्क में हैं.

पर आसान नहीं है सरकार गिरना
224 चुने गए विधायकों की विधानसभा में स्पीकर को मिलाकर कांग्रेस और JDS को मिलाकर 117 विधायक हैं. इनके अलावा बीएसपी के विधायक एन महेश और 2 निर्दलीय विधायक शंकर और नागेश भी अब तक सरकार को समर्थन दे रहे हैं. विधानसभा चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी BJP के पास 104 विधायक हैं. ऐसे में BJP के पास एक ही रास्ता है कि विरोधी पार्टी के कम से कम 16 विधायक से इस्तीफा करवाया जाए ताकि विधानसभा में संख्या बल घटकर 208 हो जाये और BJP साधारण बहुमत की सरकार बना सके.

इनपुट: जयपाल शर्मा