Breaking News
  • 15 अक्‍टूबर से खुल सकेंगे सिनेमा हॉल, अनलॉक-5 की गाइडलाइन जारी
  • कंटेनमेंट जोन में कोई ढील नहीं दी गई
  • राज्‍यों को स्‍कूल खोलने का अधिकार

आपकी आंखों के लिए खतरनाक हो सकते हैं कंप्यूटर और स्मार्टफोन, समय रहते करें ये काम

नेत्र विशेषज्ञों का मानना है कि बहुत देर तक पलकें न झपकाने से उनमें मांसपेशी असंतुलन हो जाती है. जिस तरह हमारे शरीर की मांसपेशियों को खिंचाव और व्यायाम कि जरूरत होती है, ठीक वैसे ही आंखों को भी आराम चाहिए होता है.

आपकी आंखों के लिए खतरनाक हो सकते हैं कंप्यूटर और स्मार्टफोन, समय रहते करें ये काम
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: लगातार वर्क फ्रॉम होम करने की वजह से हमारी आंखों पर अतिरिक्त दबाव पड़ रहा है. काम से छुट्टी मिलती है, तो बच्चों को ऑनलाइन होम वर्क करवाने की बारी आ जाती है. कभी पीसी पर, तो कभी मोबाइल पर आंखें टिकी ही रहती हैं. इस चक्कर में अक्सर हम पलकें झपकाना भूल जाते हैं. आईज ब्लिंक (Eyes blink) न करने का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि आपकी आंखों में खुजली और रेडनेस बढ़ जाएगी.

क्या बार-बार पलकें झपकाना गलत है?
ऐसी धारणा है कि बार-बार पलकें झपकाने वाला व्यक्ति कम सहनशील होता है. ऐसे लोगों में धैर्य की कमी होती है, लेकिन डॉक्टर्स इसे पूरी तरह अतार्किक बताते हैं. नेत्र विशेषज्ञों का मानना है कि बहुत देर तक पलकें न झपकाने से उनमें मांसपेशी असंतुलन हो जाती है. जिस तरह हमारे शरीर की मांसपेशियों को खिंचाव और व्यायाम कि जरूरत होती है, ठीक वैसे ही आंखों को भी आराम चाहिए होता है.

आईज ब्लिंक करने का सही तरीका क्या है?
अधिकतर लोग पलकों को आधा ही झपकाते हैं. इससे आपकी आंखों का मलबा पूरी तरह साफ नहीं होता है. गंदगी वैसी ही बनी रहेगी. आंखों को पूरी तरह बंद करें. इस तरह झपकाने से आंखों में आसूं आएंगे. जिसके साथ आंखों की गंदगी निकल जाएगी.

दिन में कितनी बार पलकें झपकानी चाहिए?
व्यक्ति को 1 मिनट में कम-से-कम 15 से 30 बार पलकें झपकानी चाहिए. सुनने में यह थोड़ा मुश्किल लगता है, लेकिन प्रतिदिन अभ्यास करने से हम अपनी आंखों को सुरक्षित रख सकते हैं. इससे आंखें इन्फेक्शन से बची रहेंगी. इससे आंखों की दृष्टि साफ होती है.

आंखों के लिए कैसे व्यायाम करने चाहिए?
व्यायाम के लिए हाथों कि दोनों उंगलियों को दोनों आंखों के किनारों पर रखकर ब्लिंक करें. इससे आप आंखों में एक अलग तरह की खिंचाव महसूस करेंगे.

- दोनों हाथों के अंगूठों को अपने गालों पर रखकर दो उंगलियों से आंखों के नीचे जोर से दबाएं और फिर ब्लिंक करें. इससे आपके आंखों का दर्द और खुजली कम हो जाएगी.

- 5 मिनट का समय निकालकर आंखों को आराम दें.

- उन पर आई कूल पैक लगाएं. बर्फ से सर्कुलर मोशन में मसाज करें.

- रात को सोते समय विटामिन- ई या नारियल तेल से सर्कुलर मोशन में मसाज करें.

- ठंडे दूध में रुई को भिगोकर आंखों पर रखें और उसे थोड़ी देर रहने दें.

- चाहें तो आंखों में प्याज का रस और गुलाब जल मिलाकर डाल सकते हैं.