Why Hookah is Harmful: वीकेंड में बना रहे हैं हुक्का बार जाने का प्लान? इसका धुआं कर देगा आपकी जिंदगी तबाह
topStorieshindi

Why Hookah is Harmful: वीकेंड में बना रहे हैं हुक्का बार जाने का प्लान? इसका धुआं कर देगा आपकी जिंदगी तबाह

Hookah Addiction: आज कल वीकेंड के मौके पर युवाओं के कदम हुक्का बार की तरफ कुछ ज्यादा ही बढ़ रहे हैं. इसका धुआं देखने में काफी ग्लैमरस लगता है, लेकिन ये शौक कहीं उनकी जान न ले बैठे. 

Why Hookah is Harmful: वीकेंड में बना रहे हैं हुक्का बार जाने का प्लान? इसका धुआं कर देगा आपकी जिंदगी तबाह

Side Effect Of Smoking Hookah: ग्रामीण इलाकों और पंचायतों में हुक्का बड़े शान से पीया जाता रहा है, लेकिन पिछले कुछ दशकों में मॉडर्न वर्ल्ड ने इसे काफी तेजी से अपनाया है, खासकर युवाओं में इसको लेकर अच्छी खासी दीवानगी देखी जा रही है. फिल्मों में इसे काफी ग्लैमरस अंदाज में दिखाया जाता है, जिसे कॉपी करके लोग खुद को ट्रेंडी दिखाने की कोशिश करते हैं. अगर आपका भी प्यार हुक्का बार है तो वक्त रहते इससे तौबा कर लें, क्योंकि ये आपकी जिंदगी बर्बाद कर सकता है और फिर अफसोस करने के अलावा कुछ भी बाकी नहीं रह जाएगा.

ग्लैमरस के चक्कर में जिंदगी न करें बर्बाद
हुक्का पीना कुछ लोगों को ग्लैमरस लग सकता है, लेकिन ये सिगरेट पीने की तरह ही खतरनारक है, और शायद इससे कहीं ज्यादा नुकसानदेह है. कॉलेज से लेकर ऑफिस जाने वाले युवा अक्सर वीकेंड में हुक्का बार जाने से खुद को रोक नहीं पाते. हुक्का में मीठे चारकोल का इस्तेमाल किया जाता है जिससे धुआं निकलता है जो ठंडे पानी से फिल्टर होकर आते हैं. लचीले होज पाइप के जरिए इसका कश लगाया जाता है. 

क्या कहते हैं हेल्थ एक्सपर्ट डॉ. ऋषिकेश?
नई दिल्ली के 'वर्धमान महावीर मेडिकल कॉलेज एंड सफदरजंग हॉस्पिटल' (Vardhman Mahavir Medical College & Safdarjung Hospital, New Delhi) के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. ऋषिकेश कुमार (Dr. Rishkesh Kumar) ने बताया कि हमें हुक्का क्यों नहीं पीना चाहिए.

1. सिगरेट से भी ज्यादा खतरनाक
हुक्के के धुएं में सिगार और सिगरेट के जितना ही कैंसर पैदा करने वाले केमिकल होते हैं. हुक्के का कश लगाने वाले कार्बन मोनोऑक्साइड, हेवी मेटल्स (लेड और आर्सेनिक) और जलते चारकोल से निकलने वाले दूसरे जहरीले कंपाउंड को भी अपने शरीर के अंदर लेते हैं. खासकर हुक्का बार में ऐसा करने से सेकेंडहैंड स्मोक पैदा होता है जो काफी नुकसानदेह है. डॉ. ऋषिकेश ने बताया, 'कुछ लोग इस भ्रम में रहते हैं कि हुक्का पीना सिगरेट का सेफ ऑप्शन है, लेकिन एक घंटे के सेशन में आप सिगरेट के मुकाबले 100 गुना से भी ज्यादा धुआं इनहेल करते हैं. जो कहीं ज्यादा हानिकारक है. हालांकि कैंसर का खतरा सिगरेट और हुक्का दोनों में ही एक जैसा होता है, लेकिन हुक्का पीने वालों में अस्थमा का रिस्क ज्यादा बढ़ जाता है.'

2. हार्ट डिजीज का खतरा
हुक्का पीने की लत आपके दिल का बहुत बड़ा नुकसान कर सकती है. इस तरह के धूम्रपान करने वाले लोग लंबे वक्त तक कश लेते और धुंआ निकालते हैं इस वजह से उनके शरीर में निकोटीन की मात्रा बढ़ जाती है. जो लोग लंबे वक्त से ऐसा कर रहे हैं उनमें हार्ट फेलियर, कोरोनरी आर्टरी डिजीज और हार्ट अटैक का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है.

3. संक्रमण का खतरा
यंग लोग अक्सर ग्रुप में एक साथ बैकठर हुक्का पीना पसंद करते है, लेकिन वो इसके खतरे को अक्सर नजरअंदाज कर देते हैं. कई लोग एक ही पाइप से हुक्का पीने में गुरेज नहीं करते इसके कारण एक इंसान की संक्रामक बीमारियां दूसरे शख्स में फैल जाती है जैसे टीबी (Tuberculosis), यहां तक कि लोग मजाक-मजाक में एक दूसरे पर धुएं का गुबार छोड़ते हैं जिससे संक्रमण का खतरा और ज्यादा बढ़ जाता है.

अपनी जिंदगी से करें प्यार
डॉ. ऋषिकेश कुमार ने आगाह करते हुए कहा, 'हुक्का पीना हर तरह से नुकसानदेह है, युवाओं में इसका बढ़ता शौक चिंता का विषय है, खासकर माता-पिता को अपने बच्चों की एक्टिविटी पर नजर रखनी चाहिए क्योंकि लंबे वक्त तक इस लत को बरकरार रखना जिंदगी का अंत कर सकता है.'

ये स्टोरी आपने पढ़ी देश की सर्वश्रेष्ठ हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर

Trending news