छत्तीसगढ़ विरोधी मानसिकता वाली BJP का प्रदेश की जनता ईंट से ईंट बजा देगी: CM भूपेश

 छत्तीसगढ़िया भोला जरूर होता है, पर कमजोर नहीं. छत्तीसगढ़ विरोधी मानसिकता वाले नरेंद्र मोदी और उनकी पार्टी का प्रदेश की जनता ईंट से ईंट बजा देगी.

छत्तीसगढ़ विरोधी मानसिकता वाली BJP का प्रदेश की जनता ईंट से ईंट बजा देगी: CM भूपेश
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (फोटो साभारः twitter/@bhupeshbaghel)

रायपुरः दाल-भात सेंटर को अनाज देना बंद करने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा है. पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए मुख्यंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि '2014 में मोदी जी ने प्रधानंत्री बनते ही छत्तीसगढ़ के किसानों का धान बोनस रोक दिया था और अब दाल-भात सेंटर खाद्यान्न देने से मना कर दिया है. छत्तीसगढ़िया भोला जरूर होता है, पर कमजोर नहीं. छत्तीसगढ़ विरोधी मानसिकता वाले नरेंद्र मोदी और उनकी पार्टी का प्रदेश की जनता ईंट से ईंट बजा देगी. '

छत्तीसगढ़ बजटः 2500 रुपये में होगी धान खरीद, 400 यूनिट तक बिजली बिल होगा आधा

वहीं डीकेएस को गिरवी रखने के मामले पर बात करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि 'पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ को निजी संपत्ति समझ कर लूटा. उनके दामाद पुनीत गुप्ता भी उसी नक्शेकदम पर थे. दान की भूमि पर बने डीकेएस को 69 करोड़ बंधक रखने का मामला सामने आया है.' उज्जवला योजना की सफलता पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि 'उज्जवला योजना एक पूरी तरह से फेल योजना थी. इससे अगर किसी को लाभ हुआ है तो वह सिर्फ और सिर्फ पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को.'

उन्होंने आगे कहा कि ''भाजपा अब मुद्दा विहीन हो चुकी है. उसके पास तर्क-वितर्क के लिए अब कुछ नहीं बचा है. जिसके चलते भारतीय जनता पार्टी कुछ भी आरोप लगा रही है. इनको हमारी तरफ से किसानों को राहत देने और बिजली बिल हाफ करने से बौखलाहट हो रही है और इसी बौखलाहट में बीजेपी कुछ भी आरोप लगा रही है.'' बता दें भाजपा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कुछ समय पूर्व ही किसानों का कर्ज माफ करने और बिजली बिल हाफ करने की घोषणा की थी.

छत्तीसगढ़ बजट: 24 घंटे स्वास्थ्य सेवाओं के लिए यूनिवर्सल हेल्थ केयर की अवधारणा पर बनेगी योजना

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने घोषणा की थी कि 400 यूनिट तक घरेलू उपभोक्ताओं के बिजली बिल को हाफ किया जाएगा. इसके लिए बजट में 400 करोड़ का प्रावधान है. उपभोक्ताओं को इसका लाभ अप्रैल माह से मिलेगा.