close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019: हरियाणा की 10 सीटों पर जीत के लिए बीजेपी अध्यक्ष देंगे मंत्र

 हरियाणा की 10 में से 7 सीटें फिलहाल बीजेपी के पास है. लेकिन, कुरुक्षेत्र से सांसद राजकुमार सैनी बीजेपी के खिलाफ बगावत कर चुके हैं. 

लोकसभा चुनाव 2019: हरियाणा की 10 सीटों पर जीत के लिए बीजेपी अध्यक्ष देंगे मंत्र
राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के दौरे के दौरान कई मंत्रियों के कार्यक्रम से नदारद रहने की उम्मीद है. (फोटो-PTI)

हिसार: लोकसभा चुनाव 2019 में हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करने के लिए बीजेपी ने जमीनी तैयारी शुरू कर दी है. इसी क्रम में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह हिसार में कार्यकर्ताओं से मुखातिब होने के लिए सोमवार को पहुंचेंगे. बीजेपी के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र पूनियां ने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष शाह 150 ऐसे बीजेपी के पदाधिकारियों के साथ मीटिंग करेंगे, जो हिसार-सिरसा और रोहतक लोकसभा के पदाधिकारी होंगे. 

माना जा रहा है कि इस मीटिंग में अमित शाह इन तीनों लोकसभा को भेदने का मंत्र पार्टी के पदाधिकारियों को देंगे. तीनों सीटों के राजनीतिक गणित की अगर बात करें तो, रोहतक लोकसभा क्षेत्र से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बेटे दीपेंद्र हुड्डा लगातार तीसरी बार सांसद बने हैं. इससे पहले खुद भूपेंद्र सिंह हुड्डा और उनके पिता रणबीर सिंह हुड्डा भी इसी सीट से सांसद बनते रहे हैं. खुद दीपेंद्र सिंह हुड्डा भी जनसभाओं में पिछले आम चुनाव का जिक्र करते हुए कहते नजर आते है कि उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के विजयी रथ को हरियाणा में रोकने का काम किया था. बता दें कि 10 में से केवल रोहतक सीट ही कांग्रेस बचाने में कामयाब रही थी.

सिरसा लोकसभा सीट पर चरणजीत सिंह रोडी का कब्जा है. रोडी इनेलो और अकाली गठबंधन से सांसद बने थे. इससे पहले कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर इस सीट पर काबिज थे. वहीं, बात की जाएं हिसार की तो हिसार लोकसभा क्षेत्र से दुष्यंत सिंह चौटाला इनेलो से सांसद बने थे. दुष्यंत ने फिलहाल अपनी नई पार्टी जननायक जनता पार्टी बना ली है. दुष्यंत से पहले पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल के बेटे यानि कुलदीप बिश्नोई यहां से सांसद रह चुके हैं. कुलदीप ने पहले हरियाणा जनहित कांग्रेस बनाई थी, लेकिन कुछ समय पहले ही उन्होंने इसका कांग्रेस में विलय कर दिया है. 

चर्चा है कि इन तीनों सीटों को बीजेपी हर हाल में अपने खेमे में करना चाहती है. इसी को लेकर बीजेपी रणनीति तय करने में जुटी है. हरियाणा की 10 में से 7 सीटें फिलहाल बीजेपी के पास है. लेकिन, कुरुक्षेत्र से सांसद राजकुमार सैनी बीजेपी के खिलाफ बगावत कर चुके हैं. साथ ही एक दो सीटों पर खुद मौजूदा सांसद चुनाव ना लड़ने की बातें कह चुके हैं. सूत्रों का कहना है कि इसी के चलते बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह हरियाणा की लोकसभा सीटों पर फोकस कर रणनीति बनाने में जुटे हैं. 

हरियाणा का बजट भी कल, मंत्रियों का बिगड़ेगा शेड्यूल
हरियाणा विधानसभा का बजट सत्र चल रहा है. ऐसे में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के दौरे के दौरान कई मंत्रियों के कार्यक्रम से नदारद रहने की उम्मीद है. बीजेपी सरकार का अंतिम बजट भी कल ही पेश होना है. चर्चा है कि वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यू और कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे. रोहतक के विधायक मुनीष ग्रोवर, टोहाना के विधायक और बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला, हिसार के विधायक डॉ. गुप्ता, विधायक प्रेमलता और जयवीर बाल्मिकी ही बैठक शामिल होंगे. आपकों बता दें कि जिन तमाम मंत्रियों और विधायकों का हमने जिक्र किया है ये हिसार, सिरसा और रोहतक लोकसभा क्षेत्र के हैं.