साध्वी प्रज्ञा पर बोले CM भूपेश- BJP की वॉशिंग मशीन से धुलकर आतंक की 1 आरोपी देशभक्त बनकर निकली है
Advertisement

साध्वी प्रज्ञा पर बोले CM भूपेश- BJP की वॉशिंग मशीन से धुलकर आतंक की 1 आरोपी देशभक्त बनकर निकली है

'जिसने 2001 में छत्तीसगढ़ के बिलाईगढ़ में शैलेंद्र देवांगन नामक व्यक्ति पर चाकू से हमला किया था. इनकी चले तो ये तो अपने गुरू गोडसे को भी फिर से जिंदा कर चुनाव लड़वा दें.'

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (फोटो साभारः twitter/@bhupeshbaghel)

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के मुंबई हमले में शहीद पूर्व ATS चीफ हेमंत करकरे पर दिए बयान के बाद गर्माई सियासत है कि शांत ही नहीं हो पा रही है. साध्वी प्रज्ञा के बयान के बाद जहां देश भर के राजनेताओं ने इसकी निंदा की तो वहीं अब छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी साध्वी के बयान की निंदा की है. भूपेश बघेल ने ट्वीट के जरिए भाजपा और भोपाल लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा पर निशाना साधा है और कहा कि 'हां! तो भाजपा की वॉशिंग मशीन से धुलकर एक आतंक की आरोपी देशभक्त बनकर निकली है. ये वही देशभक्त है, जिसने 2001 में छत्तीसगढ़ के बिलाईगढ़ में शैलेंद्र देवांगन नामक व्यक्ति पर चाकू से हमला किया था. इनकी चले तो ये तो अपने गुरू गोडसे को भी फिर से जिंदा कर चुनाव लड़वा दें.'

बता दें बीते शुक्रवार को भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने मुंबई आतंकी हमले में शहीद हेमंत करकरे पर एक विवादित बयान दिया था. जिसमें उनका कहना था कि आतंकी हमले में शहीद हेमंत करकरे को उन्होंने श्राप दिया था कि उनका सर्वनाश होगा. साध्वी के इस बयान के बाद भाजपा में भूचाल मच गया और पार्टी ने तुरंत साध्वी के बयान से किनारा करते हुए कहा था कि 'भाजपा हमेशा से शहीदों का सम्मान करती रही है. शहीद हेमंत आतंकवादियों से लड़ते हुए मारे गए थे, बीजेपी ने हमेशा उन्हें शहीद माना है.'

fallback

शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिया गया प्रज्ञा ठाकुर का बयान राजद्रोह: BJP विधायक

क्या कहा था साध्वी प्रज्ञा ने
अपने बयान में साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि 'आपको विश्वास करने में थोड़ी तकलीफ होगी, देर लगेगी, लेकिन मैंने उससे कहा था कि उसका सर्वनाश होगा. उसने मुझे कई यातनाएं दीं, कई गंदी गालियां दीं. वह मेरे लिए ही नहीं, किसी के लिए भी असहनीय होंगी. ठीक सवा महीने में सूतक लगता है. जिस दिन मैं गई थी, उस दिन इसके सूतक लग गए थे. और ठीक सवा महीने में जिस दिन आतंकवादियों ने उसको मारा, उस दिन उसका अंत हुआ.' वहीं बयान के बाद मची राजनीतिक उथल-पुथल पर साध्वी प्रज्ञा कहा था कि 'मैंने कहा वो मेरी व्यक्तिगत पीड़ा थी, जो मैंने सुनाई. साध्वी प्रज्ञा ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि मेरे शब्दों से दुश्मनों को बल मिलता है तो मैं अपना बयान वापस लेती हूं.

Trending news