lal bahadur shastri

सिटी ऑफ भारत रत्नः ज्ञान की अलख जगाने से लेकर सुर साधना तक, इस शहर से निकलीं एक से एक शख्सियत

नई दिल्ली: बनारस देश में पहला ऐसा शहर है जहां के रहने वाले या उससे जुड़ी 8 हस्तियां देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'भारत रत्न' से सम्मानित की जा चुकी हैं, दूसरे शब्दों में कहें तो बाबा विश्वनाथ की नगर वाराणसी 'भारत रत्नों का शहर' बन गया है. इस सम्मान को पाने वाली वाराणसी की ये विभूतियां कौन हैं, यदि इस पर नज़र डालें तो न सिर्फ हमें बनारस की गंगा-जमुनी तहजीब की जीवन्तता पता चलती है, बल्कि घाटों के शहर कहे जाने वाले बनारस में ज्ञान-विज्ञान और संगीत की त्रिवेणी के होने का एहसास भी पुख्ता हो जाता है. देश के उच्चतम नागरिक सम्मान भारत रत्न की स्थापना 2 जनवरी, 1954 को भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद ने की थी.

Jan 2, 2021, 04:18 PM IST

जानिए Rajasthan के Jaisalmer में बने माता के Mandir में पैदल चलकर क्यों आए थे Pakistani राष्ट्रपति.

जानिए Rajasthan के Jaisalmer में बने माता के Mandir में पैदल चलकर क्यों आए थे Pakistani राष्ट्रपति. लोंगेवाला में चार दिन चले युद्ध में हिंदुस्तान को छोटी सी सेना Pakistan के हज़ारों सैनिकों पर भारी पड़ी थी. 1971 के युद्ध में में फेंके गए थे हज़ारों बम लेकिन माता के मंदिर की एक ईंट तक नहीं हिली थी - देखिए ये रिपोर्ट

Nov 13, 2020, 11:54 PM IST

DNA ANALYSIS: क्या इस युग में शास्त्री जी को ढूंढ पाना संभव है?

लाल बहादुर शास्त्री ने प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति का परिचय दिया. जय जवान-जय किसान का नारा देते हुए शास्त्रीजी ने 1965 के युद्ध में पाकिस्तान के अहंकार को हमेशा के लिए तोड़ दिया था.

Oct 3, 2020, 09:08 AM IST

Lal Bahadur Shastri, जिनके जीवन से सीख ले सकते हैं आज के राजनेता

भारत के द्वितीय प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की भी जयंती यह देश आज ही मना रहा है. वह देश जहां महात्मा गांधी के ही सरलता के विचारों को आज ठोकर मारी जा जुकी है, वहां शास्त्री जी के विचार क्या ही ठहर पाते. फिर भी राजनीति से परे हटकर शास्त्री जी की ईमानदारी अनुकरणीय है, जिसके कई किस्से प्रेरक प्रसंग बनकर मशहूर हैं.

Oct 2, 2020, 03:36 PM IST

भारत के लाल बहादुर को गांधी के आदमकद के पीछे छुपा दिया कांग्रेस ने

लाल बहादुर शास्त्री भारत मां के ऐसे लाल थे जिन्हें अपनी सादगी और ईमानदारी के लिए जाना जाता है किन्तु दुर्भाग्य की बात ये है कि उनकी ही पार्टी कांग्रेस ने गांधी जी की तरह शास्त्री जी से भी कुछ नहीं सीखा. और ये भारत का ऐतिहासिक दुख है कि कांग्रेस ने गांधी को ही महिमामंडित किया और शास्त्री जी का नामोनिशान मिटाने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी क्योंकि शास्त्री जी बहुत बड़े ईमानदार थे और ये गुण कांग्रेस को आज तक पसंद नहीं आया..

Oct 2, 2020, 03:23 PM IST

जानें कौन से शहरों में ठप रहेगा सफाई कार्य, क्यों गिरी Boards Exams में आवेदन की संख्या...

हाथरस पीड़ित वाल्मीकि परिवार को न्याय मिलने की मांग रखते हुए वाल्मीकि समाज ने प्रेस वार्ता कर जानकारी दी है कि आगरा में सफाई कार्य बहाल नहीं किया जाएगा.

Oct 2, 2020, 12:01 PM IST

लाल बहादुर शास्त्री: स्वाभिमानी और सादगी पसंद PM, जिनकी अपील पर लोगों ने एक वक्त का खाना छोड़ा

लाल बहादुर शास्त्री के पास ना तो आलीशान घर था, ना ही कार और ना ही बैंक बैलेंस. रेल मंत्री रहते हुए एक रेल दुर्घटना हुई तो इसकी जिम्मेदारी लेते हुए लाल बहादुर शास्त्री ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. ईमानदारी और कर्तव्यपरायणता ऐसी रही कि उनके चरित्र पर कोई सवाल उठाने की जुर्रत नहीं कर सकता था.

Oct 2, 2020, 11:22 AM IST

ଅସରନ୍ତି ପ୍ରେରଣାର ଉତ୍ସ ଲାଲ ବାହଦୂର ଶାସ୍ତ୍ରୀ

ଗୋଟିଏ ଦିନରେ ଗାନ୍ଧିଜୀ ଓ ଶାସ୍ତ୍ରୀଜୀଙ୍କ ଜନ୍ମ । ଦେଶର ସ୍ୱାଧିନତା ସଂଗ୍ରାମ ହେଉ କିମ୍ବା ସାମାଜିକ ବକାଶ କ୍ଷେତରେ ଗାନ୍ଧୀଙ୍କ ଭଳି ଶାସ୍ତ୍ରୀଙ୍କ ବି ଅବଦାନ ଅନେକ । କିନ୍ତୁ ଆମେ ଶାସ୍ତ୍ରୀଙ୍କ ଅପେକ୍ଷା ଗାନ୍ଧୀଙ୍କୁ ଅଧିକ ଗୁରୁତ୍ୱ ଦେଇଥାଉ ।

Oct 2, 2020, 11:06 AM IST

एम एस स्वामीनाथन: एक ऐसे शख्स जो IPS की जॉब छोड़कर ‘हरित क्रांति’ में जुट गए थे

लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri) ने जब भारत के प्रधानमंत्री का पद संभाला, तो उस समय हमारा देश गेहूं के संकट से गुजर रहा था. खुद शास्त्रीजी एक समय भूखे रहते थे. अपने बंगले के लॉन में उनकी हल चलाने की तस्वीर भी आपने देखी होगी.

Aug 7, 2020, 11:58 AM IST

क्या है शास्त्री जी की मौत का रहस्य ?

4 जनवरी को जब इतिहास के पन्नों को पलट कर देखा जाए तो याद आता है ताशकंद समझौता.एक ऐसा समझौता जिसने देश से जीती हुई बाजी छीन ली.एक ऐसा समझौता जिसने भारत के सबसे बिनम्र प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को भी हमसे छीन लिया.

Oct 2, 2019, 11:56 PM IST

सोनिया गांधी का PM मोदी पर निशाना, 'गांधी जी का नाम लेना आसान, उनके रास्ते पर चलना मुश्किल'

सोनिया गांधी ने कहा, 'वे चाहते हैं कि गांधी जी नहीं आरएसएस देश का प्रतीक बन जाए. जो असत्य पर आधारित राजनीति कर रहे हैं कि गांधी जी सत्य के पुजारी थे. हर हाल में सत्ता पर काबिज होने वाले क्या समझेंगे कि गांधी की सहिष्णुता क्या थी.'

Oct 2, 2019, 03:10 PM IST

बापू को श्रद्धांजलि देकर समाधि स्थल के पास ही बैठ गए पीएम मोदी, जानिए वजह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी. इस दौरान वो वहां बड़ी तल्लीनता से गांधी जी की याद में गाए जा रहे भजन को सुनते रहे.

Oct 2, 2019, 01:40 PM IST

देखिए दिन की 100 बड़ी ख़बरे

देखिए दिन की 100 बड़ी ख़बरे...ज्यादा जानने के लिए देखें वीडियो..

Oct 2, 2019, 10:55 AM IST

टॉप 25 : देखिए आज की 25 बड़ी खबरें

टॉप 25: देखिए आज की 25 बड़ी खबरें, ज्यादा जानने के लिए देखें वीडियो..

Oct 2, 2019, 08:50 AM IST

PM मोदी ने राजघाट पहुंचकर बापू को किया नमन, विजयघाट में शास्त्री जी को भी दी श्रद्धांजलि

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी बापू की समाधि पर पहुंचकर राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि अर्पित की.

Oct 2, 2019, 07:36 AM IST

शास्त्री जी के निधन के पीछे क्या कोई साजिश थी ?

शास्त्री जी के निधन के पीछे क्या कोई साजिश थी ? ज्यादा जानने के लिए देखें वीडियो..

Oct 2, 2019, 07:00 AM IST

Zee Jaankari: लाल बहादुर शास्त्री के निधन के पीछे क्या कोई साजिश थी?

2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती है. और कल ही देश के एक महान सपूत लाल बहादुर शास्त्री की भी 116 वीं जयंती हैं. महात्मा गांधी की हत्या हुई थी. लेकिन, लाल बहादुर शास्त्री की मृत्यु का रहस्य आज तक सुलझाया नहीं जा सका है.

Oct 1, 2019, 11:49 PM IST

लाल बहादुर शास्त्री के निधन का डीएनए विश्लेषण

देखिए सुधीर चौधरी के साथ लाल बहादुर शास्त्री के निधन का डीएनए विश्लेषण। #SudhirChaudhary #DNA

Oct 1, 2019, 10:35 PM IST

नेहरू और मनमोहन के बाद अब पीएम नरेंद्र मोदी के नाम होगा ये रिकॉर्ड, पढ़ें पूरी स्टोरी

आम चुनाव 2019 के गुरुवार को आए परिणाम के बाद यह तय है कि नरेंद्र मोदी लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री का पद संभालेंगे.

मई 24, 2019, 05:30 AM IST

बॉक्स ऑफ़िस पर मज़बूत ‘The Tashkent Files’,फ़िल्म को मिल रहा है दर्शकों का प्यार

सत्य परेशान हो सकता है,पराजित नहीं..ये बात एक बार फिर साबित हो गई है.ZEE STUDIOS की फ़िल्म THE TASHKENT FILES को लेकर नेगेटिव पब्लिसिटी करने की बहुत कोशिश की गई,लेकिन दर्शक इस फ़िल्म को देखने जा रहे हैं और पसंद कर रहे हैं...आख़िरी फ़ैसला दर्शक ही करते हैं..और दर्शकों ने फ़ैसला कर लिया है

Apr 17, 2019, 10:45 AM IST