close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'कमलनाथ और सिंधिया के षड़यंत्र में फंस गए हैं दिग्गी राजा'- कैलाश विजयवर्गीय

कैलाश विजयवर्गीय ने पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है.

'कमलनाथ और सिंधिया के षड़यंत्र में फंस गए हैं दिग्गी राजा'- कैलाश विजयवर्गीय
भोपाल से लडूंगा और दिग्विजय के खिलाफ लड़ने में मजा आएगा.

भोपालः भाजपा की गढ़ कही जाने वाली भोपाल लोकसभा सीट पर दिग्विजय पर दाब लगाकर कांग्रेस ने सबको चौंका दिया है. वहीं भाजपा को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है कि आखिर वह कौन है जो दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव लड़कर भाजपा को जीत दिला सकता है. ऐसे में जहां पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर पहले ही दिग्विजय सिंह को चुनौती दे चुके हैं और भोपाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं तो वहीं भाजपा के ही एक अन्य नेता ने दिग्गी राजा के खिलाफ चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है. भाजपा के कद्दावर नेता कैलाश विजयवर्गीय ने पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है.

कैलाश विजयवर्गीय के बेटे ने दी अफसरों को धमकी, कहा- '...वरना आप समझ जाना कि क्या होगा'

इंदौर में दहाड़ लागते हुए आज कैलाश विजयवर्गीय ने दिग्विजय के खिलाफ चुनाव लड़ने की मंशा जाहिर करके भाजपा की राह आसान कर दी है. बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दिग्विजय सिंह को चुनौती देते हुए कहा कि ''पार्टी कहेगी तो भोपाल से लड़ने को तैयार हूं. दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ने में मजा आएगा. बता दें इंदौर में कद्दावर नेता कैलाश विजयवर्गीय ने खुले शब्दों में कहा है कि मुझसे पूछा गया तो मैं भोपाल से लडूंगा और दिग्विजय के खिलाफ लड़ने में मजा आएगा.''

कैलाश विजयवर्गीय का विवादित बयान, 'बीफ खाने वाला जीत जाए, यह हमारे लिए शर्म की बात'

उन्होंने आगे कहा कि ''दिग्विजय तो भोपाल से चुनाव लड़ना ही नहीं चाहते थे, वह तो सुरक्षित सीट ढूंढ रहे थे, जो हमेशा दुसरों को फंसाता रहा, वह खुद कमलनाथ और सिंधिया के षड्यंत्र में फंस गया है. दिग्विजय को भोपाल से हराना ही है.'' वहीं कमलनाथ के मंत्री जीतू पटवारी के चुनाव लड़ने पर भी कैलाश ने बोला हमला बोला है और कहा कि ''एमपी की सरकार जाने वाली है इसलिए उनके सरकार के मंत्री सासंद बनना चाहते हैं. सरकार जाने के बाद मंत्री पद तो रहेगा नहीं इसलिए सांसद बनना चाहते हैं'' वहीं इंदौर से सुमित्रा महाजन का नाम होल्ड करने के सवाल पर कहा, 25 तक मध्यप्रदेश की सारी सीटें तय हो जाएगी.