Exclusive बातचीत में बोले योगी आदित्यनाथ, 'मायावती-अखिलेश के गठबंधन से मुकाबला नहीं है'

जी न्यूज के साथ Exclusive बातचीत में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पश्चिम बंगाल में जिस तरह से ममता बनर्जी की पार्टी ने लोगों पर अत्याचार किया, उसे देखकर लोग नाराज हैं.

Exclusive बातचीत में बोले योगी आदित्यनाथ, 'मायावती-अखिलेश के गठबंधन से मुकाबला नहीं है'
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्होंने अली और बजरंगबली पर कोई विवादित बयान नहीं दिया है.

नई दिल्ली (राजीव श्रीवास्तव) : लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जी न्यूज के संवाददाता राजीव श्रीवास्तव ने उनसे बातचीत की और इन चुनावों में उनके सामने क्या चुनौतियां है इसके बारे में जानना चाहा. 

पश्चिम बंगाल में TMC से नाराज हैं जनता
जी न्यूज के साथ Exclusive बातचीत में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पश्चिम बंगाल में जिस तरह से ममता बनर्जी की पार्टी ने लोगों पर अत्याचार किया, उसे देखकर लोग नाराज हैं. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के लिए कोई भी चुनौती नहीं बंगाल में बीजेपी और मोदी के पक्ष में व्यापक लहार है. योगी ने कहा कि वैसे भी बीजेपी के लिए उर्वरा भूमि है. 

अली- बजरंगबली पर कोई विवादित बयान नहीं दिया
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्होंने अली और बजरंगबली पर कोई विवादित बयान नहीं दिया है. उन्होंने कहा कि यह हमारी आस्था का प्रतीक है. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चाहे अली हो या फिर बजरंगबली दोनों ही हमारे देश की जनता और हमारे लिए आस्था का प्रतीक रहे हैं.

ममता दे रही हैं चुनाव आयोग को चुनौती
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल में सीधे चुनाव आयोग को चुनौती दे रही हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी हमेशा से ही निष्पक्ष चुनावों में पक्ष में रही है.

प्रियंका गांधी नहीं है पार्टी के लिए चुनौती
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस के रण में उतरी प्रियंका गांधी, बीजेपी के लिए कभी भी चुनौती नहीं रही हैं. उन्होंने कहा कि प्रियंका पहले भी कांग्रेस की कंपैगनेर रही है तब कुछ नहीं कर पाई. अब तो नरेंद्र मोदी जी का नाम और काम दोनों है. उन्होंने कहा कि मोदी जी के समय जितना काम हुआ है उतना कभी नहीं हुआ अगर गरीबों के लिए कांग्रेस ने किया होता तो देश में इतनी गरीबी नहीं होती. अब तो भ्रस्टाचार का कोई सवाल नहीं उठता है. 2014 के लोकसभा चुनावों में  बीजेपी नंबर 1 थी और आज भी है. तब बहुत मजबूत संगठन नहीं था.