close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फारुक अब्दुल्ला बोले - यह मेरे सियासी जीवन का आखिरी चुनाव है

देश के जवानों की बालकोट में आतंकी ठिकानों के ख़िलाफ़ की गई करवाई पर नेशनल कॉन्फ़्रेन्स के दिग्गज नेता फारुक अब्दुल्ला ने सवाल उठाए.

फारुक अब्दुल्ला बोले - यह मेरे सियासी जीवन का आखिरी चुनाव है
बडगम में चुनावी सभा के दौरान फारुक ने अपने हंसमुख अंदाज में मतदाताओं को रिझाने की पूरी कोशिश की.

श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर के दिग्गज नेता फारुक अब्दुल्ला ने बुधवार को एक चुनावी सभा में कहा कि यह चुनाव उनकी सियासी जीवन का अखरी चुनाव होगा. फारुक अपने बेबाद अंदाज के लिए मशहूर हैं. फारुक ने समर्थकों से बोला, "मेरी बात सुन लो, अब मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा. यह मेरा अखरी चुनाव होगा, मगर अब किसी को तयर करो जो आप की आवाज़ आगे पहुंचा सके, एक ईमानदार आदमी को चुनो." बेटा उमर की तरफ़ इशारा कर बोले “उमर कुछ भी बोले मगर में अब चुनाव नहीं लड़ूंगा." 

लगभग 75 वर्ष के फारुक अब्दुल्ला अपने मज़ाक़िया मिज़ाज के लिए बेहद मशहूर हैं जहां भी तक़रीर करते लोगों को अपनी फ़िल्मी अंदाज में डायलॉग बोलकर हंसा देते हैं. फारुक को सुनने के लिए लोगों के भीड़ अक्सर इकट्ठा हो जाती रही है. फारुक जम्मू एवं कश्मीर के दो बार मुख्यमंत्री रहने के अलावा केंद्र में मंत्री और संसद भी रह चुके हैं. जहां आज उन्होंने अपने राजनीतिक संन्यास की घोषणा की. देश के जवानों की बालकोट में आतंकी ठिकानों के ख़िलाफ़ की गई करवाई पर नेशनल कॉन्फ़्रेन्स के दिग्गज नेता फारुक अब्दुल्ला ने सवाल उठाए. 

फारुक ने कहा "कुछ लोग कहते हैं कि 300 आतंकी मारे, कुछ कहते हैं कि 500 मारे, कुछ कहते है 700 मारे, मगर वहां मुर्गी भी नहीं मारी, वहां कुछ पेड़ों को नुक़सान पहुंचा." फारुक बोले "अगर अब पूछते हैं तो कहते है की यह पाकिस्तानी है देशद्रोही हैं."  

फारुक ने बीजेपी पर वार करते कहा मोदी ने भ्रष्टाचार मुक्त देश का वादा किया था, कालाधन वापस लाने की बात की थी, बेरोज़गारों को हर साल दो करोड़ नौकरियां देने का वादा किया था लेकिन वह सब में विफल रहे. फारुक बोले, "जब मैं संसद में था तो तभी ही कई सांसद यह कहते थे कि बीजेपी चुनाव जितने के लिए पाकिस्तान पर हमला करेगा और ऐसा ही युवा."  

बडगम में चुनावी सभा के दौरान फारुक ने अपने हंसमुख अंदाज में मतदाताओं को रिझाने की पूरी कोशिश की. उन्होंने कहा कि अगर कोई जम्मू एवं कश्मीर राज के विशेष दर्जे को बचा सकता है तो वो केवल नेशनल कॉन्फ्रेंस है. फारुक ने कहा, "अगर हम जीते तो महिलाओं को विशेष दर्जा दिया जाएगा." चुनावी सभा में फारुक अब्दुल्ला के साथ उनके बेटे उमर अब्दुल्ला और नेशनल कॉन्फ़्रेन्स के सबी दिग्गज नेता शामिल थे. गौरतलब है कि फारुक अब्दुल्ला इस बार श्रीनगर बडगम लोकसभा छेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं.