close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शादी की रस्मों के बीच वोट डालने पहुंची दुल्हन, निभाई सबसे बड़ी जिम्मेदारी

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सोमवार को पांचवें चरण के लिए मतदान संपन्न हुआ. पुरुषों के अलावा महिलाएं और बेटियां भी लोकतंत्र के प्रति अपना फर्ज निभाने से पीछे नहीं रहीं.

शादी की रस्मों के बीच वोट डालने पहुंची दुल्हन, निभाई सबसे बड़ी जिम्मेदारी
वोटिंग के बाद मत पर्ची दिखाती हुईं रूबी धाकड़.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के मद्देनजर रविवार को पांचवें चरण के लिए मतदान संपन्न हुआ. पुरुषों के अलावा महिलाएं और बेटियां भी लोकतंत्र के प्रति अपना फर्ज निभाने से पीछे नहीं रहीं. मध्य प्रदेश के ग्वालियर संसदीय क्षेत्र के एक गांव की बिटिया ने भी मतदान के महत्व को समझते हुए अपनी शादी की रस्मों के बीच पोलिंग बूथ पर जाकर वोट डाला.

भितरवार विधानसभा के तहत आने वाले सहसारी गांव के टुंडा राम धाकड़ की बेटी रूबी ने शादी के जोड़े में सजने से पहले अपने मताधिकार का प्रयोग कर लोकतंत्र के महापर्व में भाग लिया. रूबी के साथ गांव के सरपंच पति लक्ष्मीनारायण नायक, सचिव अनिल धाकड़ और आंगनवाड़ी में कार्यरत गीता नायक ने भी शासकीय माध्यमिक विद्यालय के मतदान बूथ नंबर-49 पर अपने मताधिकार का प्रयोग किया.

लोकसभा सीट के एक मतदाता हरिओम शर्मा ने बताया कि शादी के कुछ देर पहले तक घरवाले बेटी को मतदान करने से मना कर रहे थे, लेकिन मतदान के महत्व को समझाने के बाद सभी मान गए और उसे वोट देने मतदान केंद्र तक पहुंचाया. बताया गया कि रविवार रात रूबी की बारात आ रही है. सोमवार को वह दुल्हन बनकर ससुराल चली जाएगी.

मतदाताओं को दिया संदेश
वोट डालकर रूबी ने अन्य मतदाताओं को भी संदेश दिया कि सबसे पहले वह भी मतदान करें. रुबी ने कहा कि देश के विकास के लिए मतदान जरूरी है. इसलिए हर एक मतदाता को अपने मताधिकार का इस्तेमाल करना चाहिए और अपनी जिम्मेदारी निभाना चाहिए. ताकि देश का विकास हो सके और देश की जनता को उनका सही प्रतिनिधि मिल सके.

यह भी पढ़ें- VIDEO: फेरों से पहले मतदान केंद्र पहुंची दुल्हन, वोट डालकर निभाई सबसे बड़ी जिम्मेदारी

मध्य प्रदेश के आठ संसदीय क्षेत्रों मुरैना, भिंड (आरक्षित), ग्वालियर, गुना, सागर, विदिशा, भोपाल एवं राजगढ़ में मतदान प्रात: सात बजे से शुरू हुआ, जो शाम छह बजे तक चला. राज्य के तीसरे चरण में आठ संसदीय क्षेत्रों में छिटपुट हिंसा के बीच 60.48 प्रतिशत मतदान हुआ.

ग्वालियर में 56.39 फीसदी
मुख्य चुनाव पदाधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, मुरैना में 54.36 प्रतिशत, भिड में 51.59, ग्वालियर में 56.39, गुना में 65.11, सागर में 60.61, विदिशा में 66.35, भोपाल में 61.71 और राजगढ़ में 68.90 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया.

138 उम्मीदवार मैदान में
इस चरण में कुल 138 उम्मीदवार मैदान में हैं, और इनमें 14 महिला उम्मीदवार हैं. एक करोड़ 44 लाख से ज्यादा मतदाता इन उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. इस चरण की अधिकांश सीटों पर कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला है.

कांग्रेस-भाजपा के बीच टक्कर
ग्वालियर में कांग्रेस के अशोक सिंह के सामने भाजपा के विवेक शेजवलकर हैं. राजधानी भोपाल में कांग्रेस के दिग्विजय सिह का मुकाबला भाजपा की साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से है, वहीं गुना में कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया का मुकाबला भाजपा उम्मीदवार क़ेपी़ यादव से है. इसी तरह मुरैना में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का मुकाबला कांग्रेस के राम निवास रावत से है. राजगढ़ में कांग्रेस की मोना सुस्तानी का मुकाबला भाजपा के रोडमल नागर से है. विदिशा में भाजपा के रमाकांत भार्गव के सामने कांग्रेस ने शैलेंद्र पटेल पर दांव लगाया है.