सौदेबाजी के लिए महागठबंधन त्रिशंकु लोकसभा और कमजोर सरकार चाहता है: सुशील मोदी

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि तथाकथित राष्ट्रीय जनता दल (राजद)-कांग्रेस महागठबंधन त्रिशंकु लोकसभा और कमजोर सरकार चाहता है.

सौदेबाजी के लिए महागठबंधन त्रिशंकु लोकसभा और कमजोर सरकार चाहता है: सुशील मोदी
सुशील मोदी ने महागठबंधन के सभी दलों पर निशाना साधा है. (फाइल फोटो)

पटनाः बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने यहां सोमवार को कहा कि तथाकथित राष्ट्रीय जनता दल (राजद)-कांग्रेस महागठबंधन त्रिशंकु लोकसभा और कमजोर सरकार चाहता है, ताकि अपने और अपने परिवार के लिए सौदेबाजी कर सके और चार-छह महीने के बाद देश में फिर से चुनाव कराने की नौबत आ जाए.

मोदी ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा, "छठे चरण के मतदान तक बिहार और देश में भाजपा अपने बलबूते बहुमत के आंकड़े को पार कर चुकी है. आखिरी चरण में बिहार की शेष आठ और पूरे देश की 59 सीटों को जीत कर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) प्रचंड बहुमत की सरकार बना कर विपक्ष के मंसूबे पर पानी फेर देगा."

भाजपा के वरिष्ठ नेता मोदी ने कहा, "केंद्र में अल्पमत सरकार और कमजोर प्रधानमंत्री की चाह रखने वाले तेजस्वी यादव रेलवे टेंडर घोटाले में चार्जशीटेड और जमानत पर हैं तो लालू प्रसाद चारा घोटाले के चार-चार मामले में सजायाफ्ता होकर जेल में हैं. राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड मामले में जमानत पर हैं और ममता बनर्जी चिटफंड घोटाले में आरोपित हैं." 

उन्होंने आगे कहा, "ये सभी किसी मधु कोड़ा और देवेगौड़ा की तलाश में हैं, जिसे प्रधानमंत्री बना कर ये अपनी मनमर्जी कर सकें."

उपमुख्यमंत्री ने कहा, "देश की जनता इनकी चाल को सफल नहीं होने देगी, क्योंकि देश चौधरी चरण सिंह, चंद्रशेखर, आई़ क़े गुजराल और एच. डी. देवेगौड़ा के कार्यकाल को देख चुका है कि किस तरह कांग्रेस पहले समर्थन देकर अल्पमत की सरकार बनवाती है और फिर चार-छह महीने बाद सरकार गिरा कर देश में अस्थिरता पैदा करती रही है."

सुशील मोदी ने कहा कि छह चरणों के मतदान में लोगों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली मजबूत सरकार की शानदार वापसी सुनिश्चित कर दी है, इसलिए हताशा में डूबा विपक्ष हाय-तौबा मचा रहा है.