ICC ने मयप्पन-बुकीज के रिश्तों पर BCCI को किया था आगाह

तरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बीसीसीआई अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्पन और बुकीज के बीच रिश्तों को लेकर बोर्ड को आगाह किया था। मयप्पन आईपीएल-6 के स्पॉट फिक्सिंग मामले में गिरफ्तार हैं।

मुंबई/नई दिल्ली: गुरुनाथ मयप्पन से पुलिस पूछताछ के दौरान शुक्रवार को पता चला कि आईसीसी ने आईपीएल छह के शुरू में उसे चेताया था कि वह सटोरियों से दूर रहे जिससे उनके ससुर और बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन की परेशानियां बढ़ गई हैं।
इस बीच श्रीनिवासन को पद से हटाने की मांग भी बदस्तूर जारी रही। रिपोर्टों के अनुसार बीसीसीआई के तीन शीर्ष पदाधिकारियों ने उन्हें वर्तमान संकट पर चर्चा के लिये आपात बैठक बुलाने के लिये कहा है। दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने भी आज इस प्रकरण पर चिंता जतायी और पिछले दो सप्ताह में भारतीय क्रिकेट को झकझोरने वाले घटनाक्रम को ‘स्तब्ध करने वाला और निराशाजनक’ करार दिया।
उन्होंने अधिकारियों से इससे पार पाने के लिये गंभीर कदम उठाने के लिये कहा। मुंबई पुलिस के सूत्रों ने बताया कि सट्टेबाजी के आरोपों में गिरफ्तार गुरुनाथ ने पूछताछ के दौरान बताया कि उसे भ्रष्टाचार निरोधक इकाई के अधिकारियों ने संदिग्ध व्यक्तियों से दूर रहने के लिये चेताया था।
सूत्रों ने कहा कि गुरुनाथ ने सटोरिया शब्द का उपयोग नहीं किया लेकिन वह और पुलिस यह जानते हैं कि वह विंदू दारा सिंह जैसे सटोरियों के संपर्क में था और कथित तौर पर सट्टा लगाता था।
इस मामले में गिरफ्तार विंदू से मयप्पन ने कहा, ‘सतर्क रहो, मुझे चेतावनी दी गयी है।’ यह अपराध शाखा के पास मयप्पन के बयान का हिस्सा है। सूत्रों ने बताया कि विंदू ने इसकी पुष्टि की है।
एसीएसयू खेल में किसी तरह की गड़बड़ी रोकने के लिये खिलाड़ियों, टीम सदस्यों और अंपायरों पर नजर रखती है। अपराध शाखा के सूत्रों ने बताया कि मयप्पन की संदिग्ध हरकतों के बारे में कभी बीसीसीआई को सूचित नहीं किया गया।
उन्होंने कहा, ‘एसीएसयू अधिकारी सीधे मयप्पन के संपर्क में थे। बीसीसीआई को इस बारे में सूचित नहीं किया गया।’ सूत्रों ने कहा कि मयप्पन से पूछा गया कि उसे इस तरह की चेतावनी क्यों दी गयी थी तो उसने कहा ‘शायद मेरी (विंदू और अन्य सटोरियों के साथ) दोस्ती के कारण दी गयी।’
इस संबंध में जब श्रीनिवासन से संपर्क किया गया तो श्रीनिवासन ने कहा कि गुरुनाथ या अन्य किसी को लेकर बीसीसीआई को आईसीसी से चेतावनी नहीं मिली थी। श्रीनिवासन ने कहा कि उन्होंने बीसीसीआई अधिकारियों से पता किया है और उन्होंने भी उन्हें बताया कि इस तरह की चेतावनी नहीं मिली।
बीसीसीआई के संयुक्त सचिव अनुराग ठाकुर ने भी कहा कि आईसीसी से इस तरह की कोई बात नहीं हुई थी। आईसीसी ने दूसरी तरफ गुरुनाथ को कथित चेतावनी से संबंधित मसले पर कहने से इन्कार कर दिया। जब मुंबई पुलिस के दावे के बारे में आईसीसी प्रवक्ता से पूछा गया, उन्होंने कहा, ‘आईसीसी एसीएसयू वर्तमान जांच में बीसीसीआई और भारतीय पुलिस को पूरा सहयोग दे रही है।’ (एजेंसी)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.