नए एशिया पर भारत और जापान की साझा दृष्टि: प्रणब

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आज राष्ट्रपति भवन में जापान के सम्राट अकिहितो और साम्राज्ञी मिचिको के सम्मान में आयोजित भोज में कहा कि नए एशिया के निर्माण में भारत और जापान की शांति और स्थिरता की एक साझा दृष्टि है। शाही दंपती ने सोमवार को राष्ट्रपति से मुलाकात की थी।

नई दिल्ली : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आज राष्ट्रपति भवन में जापान के सम्राट अकिहितो और साम्राज्ञी मिचिको के सम्मान में आयोजित भोज में कहा कि नए एशिया के निर्माण में भारत और जापान की शांति और स्थिरता की एक साझा दृष्टि है। शाही दंपती ने सोमवार को राष्ट्रपति से मुलाकात की थी।
राष्ट्रपति ने भोज की मेजबानी करते हुए कहा कि भारत-जापान साझेदारी लोकतंत्र, कानून के शासन और व्यक्तिगत अधिकार के साझे मूल्यों के सुदृढ़ आधार पर आधारित है।
प्रणब ने कहा कि यह हमारे अवाम की प्रगति और खुशहाली की साझी तलाश का प्रतीक है। भारता और जापान भी शांति और स्थिरता को बढ़ावा देने की दृष्टि की साझेदारी करते हैं और दोनों देश संभावनाओं और अवसरों से परिपूर्ण नए एशिया के सपने के लिए एकताबद्ध हैं। (एजेंसी)