बचाव का सबसे अच्छा तरीका है आक्रमण: मैक्सवेल

पाकिस्तान के खिलाफ 34 गेंदों 74 रन की तूफानी पारी खेलने वाले आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल ने कहा कि वह स्पिनरों का सामना करने की रणनीति पर काम कर रहे हैं।

मीरपुर : पाकिस्तान के खिलाफ 34 गेंदों 74 रन की तूफानी पारी खेलने वाले आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल ने कहा कि वह स्पिनरों का सामना करने की रणनीति पर काम कर रहे हैं। मैक्सवेल ने कहा, बचाव का सबसे अच्छा तरीका आक्रमण होता है। हमारे पास बहुत अधिक विकल्प नहीं थे क्योंकि रन रेट काफी अधिक था। इस युवा आलराउंडर की तेजतर्रार पारी के बावजूद आस्ट्रेलिया यह मैच हार गया था। मैक्सवेल ने कहा, मैंने तब क्रीज पर कदम रखा था जबकि हमने पहले ओवर में ही दो विकेट गंवा दिये थे। उस समय सर्किल के बाहर केवल दो क्षेत्ररक्षक थे और हवा में शाट खेलना आसान था। विकेट अच्छा था और गेंद नयी थी। आखिर में गेंद ने टर्न लेना शुरू कर दिया था।
उन्होंने कहा, मेरे लिये जब विकेट नया था तब चीजें आसान थी। जो बाद में बल्लेबाजी के लिये आये उनके लिये काम मुश्किल हो गया था। मैक्सवेल का इससे पहले अंतरराष्ट्रीय टी20 में उच्चतम स्कोर 27 रन था और उन्होंने स्वीकार किया कि इस आंकड़े से उन्हें भी परेशानी होती थी। उन्होंने कहा, मैंने इसे लगभग तिगुना कर दिया। पहले यह शर्मनाक था। मैं दुबई में उनके खिलाफ खेला था और जानता था कि मैं उनके खिलाफ अच्छा प्रदर्शन कर सकता हूं। दूसरे छोर पर फिंची (एरोन फिंच) के होने से भी मदद मिली। वह ऐसा इंसान है जिसके साथ मैं काफी समय बिताता हूं। वह तनाव में नहीं आता है। (एजेंसी)