Jugaad: बेटी के मोटापे से परेशान मां को नहीं मिल रही थी ड्रेस, फिर लगाया ऐसा जुगाड़

बच्‍चों में मोटापा इस कदर बढ़ रहा है कि यूके (UK) में कई मांओं को अपने बच्‍चों के लिए सही नाप की यूनिफॉर्म (Uniform) ही नहीं मिल रही है. ऐसी ही एक मां (Mother) ने अपनी 73 किलो वजन वाली 10 साल की बेटी (Daughter) के लिए जुगाड़ (Jugaad) लगाकर यूनिफॉर्म का इंतजाम किया. 

Jugaad: बेटी के मोटापे से परेशान मां को नहीं मिल रही थी ड्रेस, फिर लगाया ऐसा जुगाड़
अपने पैरेंट्स के साथ लीहा. (फोटो: द सन)

कॉर्नवाल (यूके):  यूके की एक मां (UK MOther) पिछले दिनों अजीब परेशानी में घिर गई. उसे अपनी 10 साल की बेटी (Daughter) लीहा के लिए उसके नाप की स्‍कूल यूनिफॉर्म (School Uniform) नहीं मिल रही थी क्‍योंकि उसे यूनिफॉर्म की साइज 22 (Size 22) चाहिए थी. लीहा 73 किलो की है. उसकी मां लॉरेन एमिंस ने Asda, Lidl, Next या Marks and Spencers जैसे कई रिटेल ब्रांड के यहां भी यूनिफॉर्म खोजी लेकिन विफलता ही हाथ लगी.  वह कहती हैं, 'यह हमारे लिए भयानक अनुभव है. ऐसा पहली बार हुआ है जब लीहा को उसकी साइज की यूनिफॉर्म नहीं मिली.' 

कई मांएं हो रहीं परेशान 

पिछले कुछ दशकों से यूके में बच्‍चों में मोटापा (Child Obesity) बढ़ता जा रहा है, लेकिन लॉकडाउन (Lockdown) ने इस समस्‍या को और बढ़ा दिया है. प्राइमरी में पढ़ने वाले बच्‍चों की कमर की साइज लगातार बढ़ती जा रही है. ऐसे में लॉरेन जैसी कई मांएं अपने बच्‍चों के लिए यूनिफॉर्म पाने के लिए खासा संघर्ष कर रही हैं. उन्‍हें ऑनलाइन प्‍लेटफॉर्म पर भी प्‍लस साइज की ड्रेस नहीं मिल रही हैं. लॉकडाउन में बार-बार स्‍नैक्‍स खाने, ज्‍यादातर समय टीवी और कम्‍प्‍यूटर पर बिताने के कारण लीहा का वजन और बढ़ गया, इस कारण अब उसे पहले की तरह 14-15 साल के बड़े बच्‍चों की यूनिफॉर्म भी नहीं बन रही है. 

यह भी पढ़ें: ऑनलाइन क्लास में ऐसी 'हरकत' कर बैठी लड़की, लोगों ने तस्वीर देखी तो हुए हैरान

फिर लगाया जुगाड़ 

द सन की रिपोर्ट के मुताबिक आखिर में उन्‍हें ऑनलाइन प्‍लेटफॉर्म पर किसी तरह बॉटल ग्रीन कलर की एक प्‍लस साइज ड्रेस मिली, जो आखिरी अवेलेबल प्‍लस साइज यूनिफॉर्म थी. हालांकि इससे भी काम नहीं बना और बाद में एक ड्रेसमेकर के पास जाकर उसमें कुछ कपड़ा जोड़कर साइज बड़ा करवाना पड़ा. इस सबमें उस यूनिफॉर्म पर £50 (5 हजार रुपये से ज्‍यादा) खर्च हो गए. 

4 बच्‍चों की मां लॉरेन ने कहा, 'मैं जानती हूं कि हमारे जैसे हजारों अन्य पैरेंट्स हैं, जिनके बच्‍चों को प्लस-साइज यूनिफॉर्म की जरूरत है लेकिन वे शर्मिंदगी से बचने के लिए इस मामले में मदद नहीं मांग पा रहे हैं. मेरी बेटी लीहा को स्‍कूल से प्‍यार है. मैं नहीं चाहती कि सही यूनिफॉर्म न पहनने के कारण उसका मजाक उड़े इसलिए मैंने उसके लिए यूनिफॉर्म का इंतजाम किया.' 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.