उधार दी जाती थी बीवी; यकीन जानिए, 'वर्जिन व्हीलचेयर' का नहीं सुना होगा किस्सा!
X

उधार दी जाती थी बीवी; यकीन जानिए, 'वर्जिन व्हीलचेयर' का नहीं सुना होगा किस्सा!

प्राचीन चीन में कई चीजें आज की तुलना में बहुत अलग थीं. फिजिकल रिलेशन को लेकर प्राचीन चीन में कई प्रथाएं और मिथक थे. यहां तक कि पुराने चीनी राजवंश भी इन प्रथाओं का पालन करते थे.

उधार दी जाती थी बीवी; यकीन जानिए, 'वर्जिन व्हीलचेयर' का नहीं सुना होगा किस्सा!

नई दिल्ली: चीन के कई हिस्सों में आज के दौर में भी हैरान करने वालीं रीति-रिवाज और प्रथाएं निभाए जाने की जानकारी मिलती है लेकिन प्राचीन चीन की कुछ रिवाजें और भी अजीबो-गरीब थीं. खासकर सेक्स और पति-पत्नी के संबंधों के बारे में आश्चर्यजनक तथ्य मिलते हैं. हालांकि पिछली कुछ शताब्दियों में इन अजीबो-गरीब रिवाजों में भारी बदलाव आया है. 

राजवंश भी इन प्रथाओं का करता था पालन

प्राचीन चीन में चीजें आज की तुलना में बहुत अलग थीं. समलैंगिकता, कई पत्नियां रखना तब आम थी. पुराने समय में चीनी फिजिकल रिलेशन को आत्मा को 'समृद्ध' करने के साधन के रूप में देखते थे. फिजिकल रिलेशन को लेकर प्राचीन चीन में कई प्रथाएं और मिथक थे. यहां तक कि पुराने चीनी राजवंश भी इन प्रथाओं का पालन करते थे. 

1. मेहमानों की खुशामद में पत्नियां भी उधार दे देते थे

प्राचीन चीन में लोग अन्य प्राचीन समाजों की तुलना में अधिक मेहमाननवाज थे. स्थानीय लोगों के लिए अपनी पत्नियों को मेहमानों और यात्रियों को उधार देना आम बात थी. वे यात्रियों को देवता मानते थे और उनका बहुत सम्मान करते थे. उनका दृढ़ विश्वास था कि अगर वे यात्रियों को अपनी पत्नियों के साथ सोने देते हैं, तो इससे परिवार में नया खून आएगा और यह एक बेहतर भविष्य का संकेत था.

2. सम्राटों का फिजिकल रिलेशन के लिए रोटेशन शेड्यूल

प्राचीन चीन के सम्राटों के पास फिजिकल रिलेशन के लिए रोटेशन शेड्यूल सेट करना भी प्रमुख काम था. असल में सम्राटों के संबंध हजारों महिलाओं के साथ होते थे, इसलिए उन्हें उनके साथ समय बिताने के लिए शेड्यूल बनाना होता था. इतिहासकार बताते हैं कि सम्राट सुई यांग (581AD-618AD) के, एक मुख्य रानी, ​​​​दो उप रानियां, छह शाही पत्नियां, 72 मैडम और 3,000 महल की युवतियां के साथ संबंध थे.

3. प्रोस्टिट्यूशन आम बात

प्राचीन चीन में प्रोस्टिट्यूशन पूरी तरह से कानूनी और आधिकारिक तौर पर रजिस्टर्ड टैक्स-पेइंग व्यवसाय था. 14वीं शताब्दी में चीन में प्रोस्टिट्यूट और ग्राहक दोनों ही समाज के सम्मानित सदस्य थे और इस काम को सामाजिक कलंक के तौर पर नहीं देखा जाता था. पुरुष और महिला दोनों खुलकर प्रोस्टिट्यूशन का धंधा कर सकते थे. 

यह भी पढ़ें: यहां पति की लाश के साथ पड़ता है सोना, लड़ाई के बाद सेक्स की है अजीब रस्म

4. राजकुमारी का अजब शौक

Medium.com पर इतिहास के हवाले से लिखे गए लेख में दावा किया गया है कि सुंग राजवंश की राजकुमारी में से एक शान-यिन ने तो एक कोठे पर अपना अलग से बेड लगवा रखा था. उसके कमरे में 30 पुरुषों को एक साथ रखने की व्यवस्था थी. इन पुरुषों पर राजकुमारी को खुश करने की जिम्मेदारी होती थी, जिसके बदले में उन्हें भुगतान मिलता था. 

5. राजा की स्पेशल 'वर्जिन व्हीलचेयर'

किंग सुई यांग ने कुंवारी लड़कियों के लिए खास किस्म की वर्जिन व्हीलचेयर बनवाई थी. इतिहासकारों ने इसे राजा के क्रूरतम व्यवहारों में से एक माना. राजा इस पर कुंवारी लड़कियों को बिठाकर ज्याद्ती करता था. 

LIVE TV

Trending news