Vastu Tips for food: दुर्भाग्य को रखना है दूर तो खाना बनाने से लेकर खाने तक न करें ये गलतियां

किस दिशा में बैठकर खाना खाते हैं, किस तरह के बर्तन में खाते हैं और आपका किचन किस दिशा में है, इन सारी चीजों का आपकी सेहत और आर्थिक स्थिति पर भी असर पड़ता है. वास्तु शास्त्र से जानें इससे जुड़े नियमों के बारे में.

Vastu Tips for food: दुर्भाग्य को रखना है दूर तो खाना बनाने से लेकर खाने तक न करें ये गलतियां
खाना खाते वक्त न करें ये गलतियां

नई दिल्ली:  वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) में न सिर्फ घर के हर एक हिस्से के बारे में बताया गया है बल्कि सुखी और स्वस्थ रहने के लिए आपको रोजमर्रा के जीवन में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, इस बारे में भी जानकारी दी गई है. खाने बनाने से लेकर खाना खाने तक, ऐसी कौन सी गलतियां हैं जिन्हें अगर आप करते हैं तो इससे देवी लक्ष्मी (Goddess Lakshmi) नाराज हो सकती हैं और आपकी आर्थिक स्थिति पर इसका बुरा असर पड़ सकता है, इस बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं.

भोजन करते वक्त न करें ये गलतियां

1. पूर्व की दिशा (East) को देवताओं की दिशा माना गया है इसलिए वास्तु शास्त्र के मुताबिक आपको हमेशा पूर्व की और मुंह करके ही भोजन करना चाहिए (Eat food in facing east). हालांकि पूर्व के अलावा उत्तर दिशा की ओर मुंह करके भी भोजन किया जा सकता है. ऐसा करने से बीमारियां आपके आसपास भी नहीं भटकतीं.

ये भी पढ़ें- चुटकी भर नमक से दूर होगी घर की वास्तु संबंधी सभी दिक्कतें

2. भोजन को अन्नपूर्णा माना जाता इसलिए कोशिश करें कि हमेशा स्नान करके ही भोजन ग्रहण करें (Always bathe and eat). हाथ-पैर और मुंह धोकर भोजन करने से व्यक्ति की आयु बढ़ती है.

3. अगर किचन का कोई बर्तन, प्लेट या कटोरी टूट गई हो तो उसे तुरंत किचन से बाहर कर दें. टूटे-फूटे बर्तनों (Broken utensils) में भोजन करने से जीवन में दुर्भाग्य आने की आशंका बनी रहती है.

4. जितनी भूख हो उतना ही भोजन प्लेट में लें और उसे बर्बाद न करें या डस्टबिन में न फेकें (Dont waste food). ऐसा करने से भोजन का अपमान होता है. साथ ही कभी भी गुस्से में भोजन न करें और ना ही गुस्से में भोजन छोड़ें.

ये भी पढ़ें- घर के हर वास्तु दोष को दूर कर सकते हैं भगवान गणेश, जहां कहां लगाएं उनकी प्रतिमा

किचन से जुड़े वास्तु का रखें ध्यान

-दक्षिण-पूर्व दिशा को आग्नेय कोण कहा जाता है और इसी दिशा में आपका किचन होना चाहिए. इससे घर में सकारात्मकता बनी रहती है. उत्तर-पूर्व दिशा यानी ईशान कोण में कभी भी किचन न बनाएं.
-वास्तु के अनुसार खाना बनाते समय व्यक्ति का मुंह पूर्व दिशा की ओर होना चाहिए. इसे सबसे शुभ माना गया है. 
-वास्तु के अनुसार बने हुए रसोई में पका भोजन पूरे परिवार के लिए अच्छी सेहत और सौभाग्य लेकर आता है.
-चूंकि रसोई में रखा चूल्हा धन और समृद्धि का प्रतीक होता है इसलिए खाना बनाने के बाद चूल्हे को गंदा न छोड़ें. रसोई की सफाई का पूरा ध्यान रखें.

VIDEO

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

धर्म से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.