Shiva Ji को कभी न चढ़ाएं सिंदूर समेत ये चीजें, आ सकता है बड़ा संकट

शिव जी (Shiva Ji) की पूजा में कुछ चीजों को वर्जित बताया गया है, जैसे- हल्‍दी, सिंदूर, शंख आदि. इन चीजों को शिवलिंग (Shivling) पर चढ़ाने से पूजा का फल नहीं मिलता है. 

Shiva Ji को कभी न चढ़ाएं सिंदूर समेत ये चीजें, आ सकता है बड़ा संकट
(फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: सावन महीने (Sawan Month) में शिव जी (Shiva Ji) का पूजा-अभिषेक होता है. शिवलिंग (Shivling) पर पंचामृत, बेल पत्र, धतूरा, कनेर के फूल आदि चढ़ाए जाते हैं. महादेव को यह चीजें बहुत पसंद हैं. इन्‍हें चढ़ाने से भगवान शिव प्रसन्‍न होकर सारी मनोकामनाएं पूरी करते हैं लेकिन कुछ चीजें ऐसी हैं, जिन्‍हें चढ़ाने से शिव जी रूठ सकते हैं. इन चीजों को शिव जी को अर्पित करना वर्जित बताया गया है. जानते हैं ये कौनसी चीजें हैं जो शिवलिंग पर नहीं चढ़ाना चाहिए और क्‍यों नहीं चढ़ाना चाहिए.  

शिव जी को क्‍यों नहीं चढ़ानी चाहिए ये चीजें 

हल्‍दी: शिव जी को कभी भी हल्‍दी नहीं चढ़ाना चाहिए. चूंकि हल्‍दी को स्‍त्री से संबंधित माना गया है और शिवलिंग पुरुषत्‍व का प्रतीक है. ऐसे में शिव जी की पूजा में हल्‍दी का उपयोग करने से पूजा का फल नहीं मिलता है. 

शंख न करें उपयोग: शिव-पुराण में उल्‍लेख है कि शिव जी ने शंखचूड़ नाम के एक दैत्‍य का वध किया था इसलिए शिव जी को शंख से जल चढ़ाने पर या पूजा में शंख का उपयोग करने से वे नाराज हो सकते हैं.  

यह भी पढ़ें: Sawan Month में Vrat करें या न करें, लेकिन न खाएं ये चीजें; वरना Health को हो सकता है बड़ा नुकसान

नारियल पानी: शिवजी की प्रतिमा पर नारियल चढ़ाया जा सकता है लेकिन शिवलिंग पर नारियल पानी चढ़ाना वर्जित बताया गया है. इसके अलावा शिव जी को अर्पित किए गए नारियल को प्रसाद के रूप में नहीं खाना चाहिए. 

तुलसी दल: तुलसी दल भगवान विष्‍णु को चढ़ाई जाती है. इसे गलती से भी शिव जी को नहीं चढ़ाना च‍ाहिए. पौराणिक कथाओं के अनुसार जालंधर नाम के राक्षस को अपनी पत्‍नी वृंदा की पवित्रता और विष्‍णु जी द्वारा दिए गए कवच के कारण अमरता का वरदान मिला था. अमर होने के इस वरदान के कारण वह लोगों पर अत्‍याचार करने लगा, तो शिव जी ने उसका वध कर दिया. इससे नाराज वृंदा ने शिव जी को श्राप दिया के उनके पूजन में तुलसी का उपयोग वर्जित रहेगा. 

सिंदूर: आमतौर पर कई देवी-देवताओं को पूजा में सिंदूर अर्पित किया जाता है लेकिन शंकर जी को कभी भी सिंदूर न चढ़ाएं. दरअसल, सिंदूर को सुहाग का प्रतीक माना जाता है और शिव संहारक हैं. ऐसे में उन्‍हें सिंदूर चढ़ाना अशुभ हो सकता है.   

लाल फूल: शिव जी को कभी लाल फूल भी नहीं चढ़ाने चाहिए. उन्‍हें कनेर या अपराजिता के फूल चढ़ाने चाहिए. ये उन्‍हें बहुत प्रिय हैं. 

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.