रक्षाबंधन पर बन रहा विशेष संयोग, मिलेगा लाभ; लेकिन इन 6 गलतियों को भूल से भी ना करें

आइए जानते हैं राखी बांधने के सही मुहूर्त के बारे में...

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Aug 03, 2020, 05:55 AM IST

नई दिल्ली: भाई-बहन के रिश्ते और प्यार का प्रतीक रक्षाबंधन (Raksha Bandhan 2020) का त्योहार आज मनाया जाएगा. इस बार का रक्षाबंधन बेहद खास रहने वाला है क्योंकि आज सावन पूर्णिमा, संस्कृत दिवस, अन्न वाधन, माता गायत्री जयंती, नारली पूर्णिमा, हयग्रीव जयंती, यजुर्वेद उपाकर्म और सावन का अंतिम सोमवार जैसे 8 अन्य मुख्य दिन भी पड़ रहे हैं जो किसी त्योहार से कम नहीं है. आइए जानते हैं राखी बांधने के सही मुहूर्त के बारे में...

1/6

रक्षाबंधन पर बन रहा आयुष्मान योग

ज्योतिर्विदों के अनुसार, आज रक्षाबंधन पर आयुष्मान योग बन रहा है, जो भाई-बहन के रिश्ते को लंबी उम्र देगा. अगर बहनें बताए गए शुभ मुहूर्त पर अपने भाई को राखी बांधती हैं तो इससे भाई-बहन का भाग्योदय होगा और रिश्ते में प्यार और भी ज्यादा बढ़ेगा. (फोटो साभार-इंटरनेट)

2/6

इस समय होगा चंद्रमा का नक्षत्र श्रवण

3 अगस्त सुबह 7 बजकर 19 मिनट से चंद्रमा का नक्षत्र श्रवण हो जाएगा. इसी कारण इसे श्रावणी भी कहा गया है. सुबह 7:19 से लेकर अगले दिन 5:44 मिनट तक सर्वात्र सिद्धिकी योग भी है. (फोटो साभार-इंटरनेट)

3/6

सुबह सिर्फ 2 घंटे का होगा शुभ मुहूर्त

ज्योतिविदों के अनुसार, राखी बांधने का सर्वश्रेष्ठ शुभ मुहूर्त सुबह 9 बजकर 25 मिनट से लेकर सुबह 11 बजकर 28 मिनट तक है. ये मुहूर्त सिर्फ 2 घंटे का होगा. इसी मुहूर्त में सभी बहनों को अपने भाई की कलाई पर राखी बांधनी होगी. (फोटो साभार-इंटरनेट)

4/6

शाम में राखी बांधने का ये समय रहेगा सर्वश्रेष्ठ

वहीं शाम के समय राखी बांधने के लिए सर्वश्रेष्ठ समय शाम 3:50 बजे से लेकर शाम 5:15 बजे तक रहेगा. इस समय रक्षाबंधन मनाना भाई और बहन दोनों के लिए फलदायी रहेगा. (फोटो साभार-इंटरनेट)

5/6

राहुकाल में राखी बांधने से करें परहेज

आज कई अशुभ पहर भी रहेंगे जब आपको राखी बांधने से परहेज करना होगा. सुबह 7:25 बजे से 9:05 बजे बहनों को राखी बांधने से परहेज करना चाहिए. बता दें कि इस दौरान राहु काल रहेगा. इसके अलावा, सुबह 5:44 बजे से 9:25 बजे तक भद्रा रहेगा, जिसमें राखी बांधना निषिद्ध माना जाता है. (फोटो साभार-इंटरनेट)

6/6

गुलिक काल में भी राखी बांधना माना जाता है निषेध

आज दिन में 11:28 बजे से लेकर दोपहर 01:07 बजे तक भाई को राखी ना बांधें. इसके बाद 02:08 बजे से लेकर 03:50 बजे तक गुलिक काल रहेगा, जिसमें राखी नहीं बांधनी चाहिए. (फोटो साभार-इंटरनेट)