सूरज के पास सबसे तेजी से चक्कर लगाता है ये एस्टेरॉयड, लगते हैं सिर्फ इतने दिन

वैज्ञानिकों के मुताबिक, ये एस्टेरॉयड जब सूरज के पास से गुजरता है, तब इसका तापमान 500 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है. ये इतना ज्यादा है कि इतने तापमान में तो शीशा भी पिघल सकता है.

सूरज के पास सबसे तेजी से चक्कर लगाता है ये एस्टेरॉयड, लगते हैं सिर्फ इतने दिन

वॉशिंगटन: वैज्ञानिकों ने एक ऐसे एस्टेरॉयड (Asteroid) का पता लगाया है, जो सोलर सिस्टम (Solar System) में सबसे तेजी से चक्‍कर लगाता है. इसका नाम है, 2021 PH27 है. ये एस्टेरॉयड सूरज (Sun) के पास से गुजरता है. 

113 दिन में सूरज का एक चक्‍कर

वैज्ञानिकों के मुताबिक, ये एस्टेरॉयड जब सूरज के पास से गुजरता है, तब इसका तापमान 500 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है. ये एस्टेरॉयड सूरज के इतना करीब है, जितना कि हमारी पृथ्वी (Earth) भी नहीं है. यह सिर्फ 113 दिन में सूरज का एक चक्‍कर लगा लेता है. इतने कम समय में केवल बुध ग्रह ही सूरज के चक्‍कर लगा पाता है.

बुध ग्रह को सूरज का चक्‍कर लगाने में पृथ्‍वी (Earth) के 88 दिन के बराबर समय लगता है. यह बुध और शुक्र ग्रह को पार करता है और वैज्ञानिकों का कहना है कि भविष्य में यह एस्टेरॉयड बुध, शुक्र या खुद सूरज से टकरा सकता है.

क्या होगा अगर एक सेकंड के लिए घूमना बंद कर दे पृथ्वी? जानिए, कितनी बड़ी होगी तबाही

500 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है तापमान

हालांकि एस्टेरॉयड (Asteroid) 2021 PH27 बुध ग्रह की तुलना में सूरज के ज्‍यादा करीब से गुजरता है. यह करीब 1 किलोमीटर आकार का एस्टेरॉयड है और जब यह सूरज के करीब पहुंचता है तो इसकी सतह का तापमान 500 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है.

डॉर्क एनर्जी कैमरे की मदद वैज्ञानिकों ने पता लगाया

ये इतना ज्यादा है कि इतने तापमान में तो शीशा भी पिघल सकता है. वैज्ञानिकों का मानना है कि इतने तापमान से गुजरने वाला यह एस्टेरॉयड (Asteroid) संभव है कि लोहे जैसी धातु से बना हो. 13 अगस्‍त को खगोलविदों ने डॉर्क एनर्जी कैमरे की मदद से सबसे पहले इस एस्टेरॉयड (Asteroid) का पता लगाया था. इस कैमरे को चिली में बनाए गए टेलीस्‍कोप में लगाया गया है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.