close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ASHES की इंग्लैंड टीम का ऐलान, कोच बोले इस ‘मसले’ के लिए आइंस्टीन बनने की जरूरत नहीं

एशेज के लिए इंग्लैंड के टीम चयन पर कोच ट्रेवर बेलिस ने खुल कर बात की. उन्होंने माना कि टीम के सलामी बल्लेबाजों की समस्या अभी नहीं सुलझी है, लेकिन यह कोई बड़ी बात नहीं हैं. 

ASHES की इंग्लैंड टीम का ऐलान, कोच बोले इस ‘मसले’ के लिए आइंस्टीन बनने की जरूरत नहीं
ट्रेवर बेसिल की कोचिंग में ही इंग्लैंड ने विश्व कप जीता है. (फोटो:Reuters)

नई दिल्ली: एक अगस्त से शुरू हो रही एशेज सीरीज के लिए इंग्लैंड की 14 सदस्यीय टीम का ऐलान कर दिया गया है. इस टीम में जोफ्रा आर्चर को जगह मिलना खास तो है ही, लेकिन टीम की सलामी बल्लेबाज की समस्या का स्थाई समाधान नहीं निकला है. सीरीज से पहले इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस (Trevor Bayliss) ने एक अहम बयान दिया है. उनका मानना है कि टीम में ओपनिंग जोड़ी की समस्या भले ही पुरानी हो लेकिन इसके बाद बाद भी टीम ने चार साल पहले एशेज सीरीज जीती थी. 

यह कोई बड़ी समस्या नहीं
बेलिस ने टीम की एक कमजोरी के बारे में बात करते हुए कहा है कि इंग्लैंड टीम की यह समस्या करीब 6-7 सालों से कायम है. बेलिस ने कहा कि आपको इस समस्या के समाधान के लिए आइंसटीन बनने की जरूरत नहीं है.यह समस्या हमारे साथ पिछले छह सात सालों से है इसके बाद भी यह हमें चार साल पहले एशेज जीतने से नहीं रोक पाई थी. हाल ही में इंग्लैंड की टीम ने आयरलैंड के खिलाफ एतिहासिक लॉर्ड्स के मैदान पर पहली पारी में केवल 85 रन पर आउट होने के बाद भी जीत हासिल की थी. 

यह भी पढ़ें: फौजी धोनी ने पाकिस्तान का नाम तक लेने से किया परहेज, क्रिकेट मैच पर दिया ये जवाब

रॉय को ढलने में वक्त लगेगा
इंग्लैंड की टीम में जेसन रॉय, रोरी बर्न्स और जो डेनली को शामिल किया गया है जो कि ओपनर के विकल्प के तौर पर रहेंगे. बेलिस ने माना कि अभी जेसन रॉय को लाल गेंद क्रिकेट के मुताबिक ढलने में समय लगेगा. आयरलैंड के खिलाफ हाल ही में हुए लॉर्ड में एकमात्र टेस्ट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, “शुरूआत करने वाले किसी भी खिलाड़ी की तरह वे नर्वस थे, लेकिन पहले टेस्ट में ही 70 रन बनाना अच्छी कोशिश थी. विकेट में कुछ ज्यादा था, लेकिन उन्हें सफेद बॉल की आदत है, फिर भी रन तो रन ही होते हैं.  बेलिस ने कहा कि हम चाहेंगे कि वे अपने नेचुरल गेम खेलें. लेकिन लाल गेंद के क्रिकेट में आपको ज्यादा चुनाव करने पड़ते हैं. आप को खुद को याद दिलाते रहना पड़ता है कि जब तक आप सैटल न हो जाएं तब तक बड़ा शॉट नहीं मारना है.

आयरलैंड के खिलाफ खेले गए एकमात्र टेस्ट मैच से आराम पाने वाले जोस बटलर और आलराउंडर बेन स्टोक्स भी टीम में वापसी हुई है. इसके अलावा लेविस ग्रेगोरी और लॉर्ड्स टेस्ट में मैन ऑफ द मैच रहे लैक लीच को टीम से बाहर रखा गया है. आर्चर के साथ-साथ पांच अन्य तेज गेंदबाजों जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड, ओली स्टोन और सैम कुरेन को भी पहले टेस्ट के लिए चुना गया है. मोइन अली के रूप में एकमात्र स्पिनर चुना गया है.

यह भी पढ़ें: INDA vs WIA: इंडिया ए की आसान जीत, वेस्टइंडीज ए को पहले टेस्ट में दी मात

इंग्लैंड की टीम : जो रूट, मोईन अली, जेम्स एंडरसन, जोफ्रा आर्चर, जॉनी बेयरस्टो, स्टुअर्ट ब्रॉड, रोरी बर्न्‍स, जोस बटलर, सैम करेन, जो डेनली, जेसन रॉय, बेन स्टोक्स, ओली स्टोन और क्रिस वोक्स.

एशेज का पहला टेस्ट बर्मिंघम के ऐजबेस्टन मैदान पर एक अगस्त से शुरू होगा. इसके बाद 14 से 18 अगस्त तक दूसरा टेस्ट लंदन के लॉर्ड्स में होगा. तीसरा टेस्ट 22 अगस्ता से लीड्स के हेडिंग्ले मैदान पर होगा. फिर चार सितंबर से मैनचेस्टर के एमिरेट्स ओल्ड ट्रैफेर्ड पर चौथा टेस्ट होगा. आखिरी टेस्ट 12 सितंबर से लंदन को केनिंग्सटन ओवल में होगा. 
(इनपुट एएनआई/आईएएनएस)