Womens T20 World Cup: 5 स्टार क्रिकेटर, जिन्होंने भारत को फाइनल में पहुंचाया

ICC Womens T20 World Cup: भारतीय टीम 11 साल के टूर्नामेंट के इतिहास में पहली बार फाइनल में पहुंची है. 

Womens T20 World Cup: 5 स्टार क्रिकेटर, जिन्होंने भारत को फाइनल में पहुंचाया

नई दिल्ली: भारतीय टीम ने आईसीसी महिला टी20 वर्ल्ड कप (ICC Womens T20 World Cup) के फाइनल में जगह बनाकर इतिहास रच दिया है. भारतीय टीम ने गुरुवार को टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई. वह 11 साल के टूर्नामेंट के इतिहास में पहली बार फाइनल में पहुंची है. भारत का सेमीफाइनल में इंग्लैंड से मुकाबला था, जो बारिश के कारण रद्द हो गया. इसके बाद ग्रुप दौर के प्रदर्शन के आधार पर भारतीय टीम (India Womens Team) को फाइनल में जगह मिल गई. भारतीय टीम ने ग्रुप दौर में अपने चारों मैच जीते हैं. वह टूर्नामेंट में अजेय है. 

महिला टी20 वर्ल्ड कप (Womens T20 World Cup) में भारत के इस ऐतिहासिक प्रदर्शन का श्रेय यूं तो पूरी टीम को जाता है. कुछ खिलाड़ियों ने तो टूर्नामेंट में बेहतरीन प्रदर्शन कर दुनिया को अपना प्रशंसक बना लिया है. इनमें से शेफाली वर्मा और पूनम यादव शामिल है. ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा, जेमिमाह रोड्रिगेज, शिखा पांडे ने भी टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई है. यही 5 खिलाड़ी भारतीय जीत की स्टार रही हैं. 

यह भी पढ़ें: Womens T20 World Cup: ऑस्ट्रेलिया छठी बार फाइनल में, भारत से होगा मुकाबला

शेफाली वर्मा ने दुनिया को चौंकाया
16 साल की शेफाली वर्मा (Shafali Verma) दुनिया के लिए भारतीय टीम की सरप्राइज पैकेज साबित हो रही हैं. उन्होंने चार मैच में 161 रन बनाए हैं. शेफाली की खासियत तेजी से रन बनाना है. वे 161.00 की स्ट्राइक रेट से रन बना रही हैं. वे टूर्नामेंट में सबसे अधिक रन बनाने वाली भारतीय हैं. उन्होंने टूर्नामेंट में सबसे अधिक 9 छक्के भी लगाए हैं. 

यह भी पढ़ें: कोहली का साथ नहीं दे रही किस्मत, हैंड-आई कोऑर्डिनेशन कोई मुद्दा नहीं: सहवाग

पूनम की गुगली सब पर भारी
28 साल की पूनम यादव (Poonam Yadav) की गेंदबाजी ने भारत की जीत में शानदार भूमिका निभाई है. भारत की इस लेग स्पिनर ने 4 मैच में 9 विकेट झटक लिए हैं. वे टूर्नामेंट में सबसे अधिक विकेट लेने वाली गेंदबाज हैं. फ्लाइट और गुगली पूनम के दो सबसे खतरनाक हथियार हैं. 

शिखा कर रहीं गेंदबाजों की अगुवाई
30 साल की शिखा पांडे (Shikha Pandey) भारत की दूसरी सबसे सफल गेंदबाज रही हैं. इस भारतीय पेसर ने अब तक 4 मैच में 7 विकेट झटक लिए हैं. उन्होंने चार बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के तीन विकेट सिर्फ 14 रन देकर झटक लिए थे. शिखा की इसी गेंदबाजी ने भारत की जीत की राह तैयार की थी. 

दीप्ति निभा रहीं ऑलराउंडर की भूमिका
ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा (Deepti Sharma) भी भारत की जीत में अहम भूमिका निभा रही हैं. 22 साल की दीप्ति ने 4 मैच में 83 रन बनाए हैं. उनके खेल की एक खासियत यह भी रही कि वे चार में से सिर्फ दो पारियों में ही आउट हुईं. इसके अलावा वे दो विकेट भी झटक सकी हैं. 

जेमिमाह ने संभाली टीम की बल्लेबाजी 
19 साल की जेमिमाह रोड्रिगेज (Jemimah Rodrigues) ने भी विश्व कप में शानदार खेल दिखाया है. उन्होंने 4 मैच में 45 रन बनाए हैं. जेमिमाह तीसरे नंबर पर बैटिंग करती हैं और ओपनर स्मृति मंधाना फॉर्म में नहीं हैं. ऐसे में जेमिमाह को ज्यादातर मैचों में जल्दी बैटिंग करने आना पड़ा है. जेमिमाह दूसरे छोर पर डटकर खेलती हैं, जिससे शेफाली को अपना स्वच्छंद खेलने का मौका मिलता है.