संयोग: महिला-पुरुष दोनों टीमों को आखिरी ओवर में थी 16 रन की दरकार, रोचक मुकाबले में यूं हुई हार

एक देश, एक ग्राउंड और चार घंटे के भीतर पुरुषों ने दोहराई महिला खिलाड़ियों की नाकामी.

संयोग: महिला-पुरुष दोनों टीमों को आखिरी ओवर में थी 16 रन की दरकार, रोचक मुकाबले में यूं हुई हार
भारतीय पुरुष टी20 क्रिकेट टीम के कप्तान रोहित शर्मा और महिला टीम की खिलाड़ी मिताली राज.

हैमिलटन: न्यूजीलैंड ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत यहां सेडन पार्क मैदान पर खेले गए तीसरे और निर्णायक टी-20 मुकाबले में रविवार को टीम इंडिया की पुरुष और महिला टीम को रोमांचक मुकाबले में हरा दिया. इस जीत के साथ ही न्यूजीलैंड की दोनों टीमों ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज अपने नाम कर ली. संयोग की बात यह है कि एक ही देश के खिलाफ एक ही मैदान पर खेले गए मैच में भारतीय महिला और पुरुष टीमों को आखिरी ओवर में 16 रन का टारगेट मिला.

दरअसल, मेजबान न्यूजीलैंड की पुरुष टीम ने पहले बैटिंग करते हुए चार विकेट पर 212 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया. भारतीय खिलाड़ियों ने इसके जवाब में 19 ओवर में छह विकेट पर 197 रन बना लिए थे. इस तरह उसे आखिरी ओवर में 213 का लक्ष्य छूने के लिए 16 रन की जरूरत थी, लेकिन टीम 208 ही बना सकी. महिला टीम की तरह ही पुरुष टीम तीसरा मैच हारने के कारण सीरीज अपने नाम नहीं कर सकी. यह मैच हैमिल्टन (Hamilton T20) में खेला गया.

महिला क्रिकेट: आखिरी ओवर में 13 रन बनाकर भी 2 रन से हारा भारत, सीरीज भी गंवाई

इसी तरह भारतीय महिला क्रिकेट टीम रविवार को इसी मैदान पर खेले गए बेहद रोमांचक मुकाबले में न्यूजीलैंड से 2 रन से हार गई. न्यूजीलैंड ने भारत को जीत के लिए 162 रन का लक्ष्य दिया था. भारत ने इसके जवाब में 19 ओवर में 4 विकेट पर 16 रन बना लिए थे. इस तरह उसे आखिरी ओवर में जीत के लिए 16 रन बनाने थे. क्रीज पर मिताली राज और दीप्ति शर्मा थीं. ये दोनों बल्लेबाज आखिरी ओवर में 13 रन ही बना सकीं. इस तरह भारत जीत के करीब आकर भी हार गया.

INDvsNZ: भारतीय टीम न्यूजीलैंड से तीसरा टी20 मैच हारी, 1-2 से गंवाई सीरीज

अलग-अलग समय में एक ही मैदान पर हुए इन मुकाबलों में भारत की दोनों टीमों के खिलाड़ी नहीं चले. यहां बता दें कि महिलाओं की तरफ से अंतिम ओवर में क्रीज पर मिताली राज मोर्चा संभाल रही थीं, जो वनडे टीम की कप्तान हैं. उधर, न्यूजीलैंड के खिलाफ पुरुष टीम से दिनेश कार्तिक मैदान पर थे, जिन्हें फिनिशर के तौर पर देखा जाता है.