close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

युजवेंद्र चहल के बचाव में उतरा दुनिया का बेस्ट बॉलर, कहा- वह चैंपियन गेंदबाज हैं, रोबोट नहीं

युजवेंद्र चहल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे वनडे में 10 ओवर में 80 रन लुटाए थे. यह उनके करियर की सबसे खराब गेंदबाजी है. 

युजवेंद्र चहल के बचाव में उतरा दुनिया का बेस्ट बॉलर, कहा- वह चैंपियन गेंदबाज हैं, रोबोट नहीं
20 साल के युजवेंद्र चहल ने 41 वनडे में 72 विकेट लिए हैं. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: एक ऐसे देश में जहां शेन वार्न जैसे दिग्गज स्पिनर को भी संघर्ष करना पड़ा था, वहां ऑस्ट्रेलिया के ही एडम जैम्पा (Adam Zampa) प्रभावशाली साबित हो रहे हैं. उन्होंने न सिर्फ भारत के खिलाफ (India vs Australia) पहले चार मैचों में छह विकेट लिए बल्कि दो बार महेंद्र सिंह धोनी और एक बार विराट कोहली को भी आउट किया. वहीं, भारत के लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) को मोहाली में खेले गए चौथे मैच में मार पड़ी थी. उन्होंने 10 ओवरों में 80 रन देकर एक विकेट हासिल किया था. 

इस मैच के बाद कई क्रिकेट पंडितों ने चहल की आलोचना शुरू कर दी. लेकिन श्रीलंका के पूर्व दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) ने चहल की पैरवी करते हुए उन्हें चैंपियन बताया है और कहा है कि वे सिर्फ इंसान हैं, रोबोट नहीं हैं.  मुरलीधरन ने कहा, ‘आप एक खिलाड़ी से यह उम्मीद नहीं कर सकते कि वह जब भी मैच खेलेगा, पांच विकेट लेगा. वे (चहल) चैंपियन गेंदबाज हैं और बीते दो साल से अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं.’

यह भी पढ़ें: INDvsAUS: कोटला में छठी बार उतरेगा ऑस्ट्रेलिया, 21 साल से यहां नहीं जीता है कोई मैच

पूर्व ऑफ स्पिनर ने कहा, ‘चहल के पास विविधता है और वह विपक्षी बल्लेबाज को परेशान कर सकते हैं. यह सिर्फ एक मैच में उनके विफल होने की बात है. विश्वास कीजिए, वे रोबोट नहीं हैं. आप एक खिलाड़ी से हर मैच में बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद कर उस पर दबाव नहीं डाल सकते.’ श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं. उनके नाम 800 विकेट दर्ज हैं. 

भारत के पूर्व दिग्गज स्पिनर ईरापल्ली प्रसन्ना (Erapalli Prasanna) ने भी मुरलीधरन की बात को दोहराया और कहा कि एक मैच कुछ बदल नहीं देता. उन्होंने कहा, ‘उन्होंने कितने मैच खेले हैं? लगभग 50 (41)? क्या आप मुझसे कह रहे हैं कि उन्होंने अपने देश के लिए इतने वनडे ऐसे ही खेल लिए? हमें उनके साथ धैर्य रखना होगा. मुझे लगता है कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बीते वर्षो में लेग स्पिन के अच्छे बल्लेबाज बन गए हैं. चहल के पास योग्यता है और उन्होंने इस बात को साबित भी किया है.’

प्रसन्ना से जब पूछा गया की एडम जैम्पा ने चहल की तुलना में अच्छा प्रदर्शन किया है, इसके पीछे क्या वजह वह देखते हैं? इस पर पूर्व ऑफ स्पिनर ने पलटकर पूछा, ‘एडम जैम्पा ने विकेट ले लिए, सिर्फ इसलिए चहल पर सवाल उठे? मुझे नहीं लगता कि यह सही है क्योंकि उन्होंने इस सीरीज में सिर्फ एक मैच खेला है.’

(आईएएनएस)