IPL-12: दिल्ली की लड़खड़ाई पारी को ऋषभ पंत ने संभाला, चेन्नई को दिया 148 रन का लक्ष्य

चेन्नई की टीम ने आईपीएल-12 के क्वालिफायर-2 (Qualifier-2) में टॉस जीतकर दिल्ली को पहले बैटिंग करने को बुलाया. 

IPL-12: दिल्ली की लड़खड़ाई पारी को ऋषभ पंत ने संभाला, चेन्नई को दिया 148 रन का लक्ष्य
दिल्ली के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने 25 गेंदों पर 38 रन की पारी खेली. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: इंडियन टी20 लीग (आईपीएल) में छह साल बाद क्वालिफायर-2 में खेल रही दिल्ली (Delhi Capitals) ने चेन्नई (Chennai Super Kings) को जीत के लिए 148 रन का लक्ष्य दिया है. विशाखापत्तनम में खेले जा रहे इस मैच में दिल्ली की ओर से ऋषभ पंत (Rishabh Pant) ने सबसे अधिक 38 रन बनाए. उनके अलावा कोई भी बल्लेबाज 30 की रनसंख्या पार नहीं कर सका. यह मुकाबला जीतने वाली टीम फाइनल में पहुंचेगी. दिल्ली के पास पहली बार और चेन्नई के पास लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचने का मौका है. चेन्नई पिछले साल की चैंपियन भी है. 

इससे पहले एमएस धोनी ने टॉस इस मैच में जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया है. चेन्नई ने मैच में अच्छी शुरुआत की और पिछले मैच में अर्धशतक बनाने वाले पृथ्वी शॉ को जल्दी ही आउट कर दिया. पृथ्वी शॉ ने पांच रन बनाए. दिल्ली के विकेट गिरने का सिलसिला एक बार शुरू हुआ तो अंत तक नहीं थमा. दिल्ली का कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका. उसने छोटी-छोटी साझेदारियों की मदद से नौ विकेट पर 147 रन बनाए. 

यह भी पढ़ें: IPL-12: हार्दिक पांड्या ने आईपीएल फाइनल से पहले दी चेतावनी

दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर ने मैच से पहले कहा, ‘यह पिच बेहतर दिख रही है. इस पर गेंद बल्ले पर अच्छे तरीके से आएगी. हम इस पर पहले बैटिंग करना चाहते थे. इसलिए टॉस हारना अच्छा रहा.’ लेकिन अय्यर का यह अनुमान गलत साबित हुआ. उनकी टीम का कोई भी बल्लेबाज इस पिच पर नहीं टिक सका. दिल्ली के लिए सबसे निराशाजनक बात यह रही कि उसके टॉप-आर्डर में 5 में से 4 बल्लेबाजों ने दोहरी रनसंख्या को छुआ, लेकिन वे इस शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पाए.

दिल्ली के ओपनर शिखर धवन 14 गेंदों पर 18 रन बनाकर आउट हुए. उन्होंने आउट होने से पहले शार्दुल ठाकुर के ओवर में लगातार तीन चौके भी लगाए. न्यूजीलैंड के कॉलिन मुनररो (27 रन, 24 गेंद) भी अच्छी शुरुआत के बावजूद जल्दी विकेट गंवा दिया. कप्तान श्रेयस अय्यर भी 18 गेंद पर 13 रन ही बना सके. इस दबाव की स्थिति में ऋषभ पंत ने एक छोर संभाला. हालांकि, पंत के लिए एक परेशानी यह रही कि उन्हें ज्यादा स्ट्राइक ही नहीं मिली. पंत नौवें ओवर में बैटिंग करने आए और 19वें ओवर में आउट हुए. इसके बावजूद उन्हें सिर्फ 25 गेंदें खेलने को मिलीं. उन्होंने इन गेंदों पर दो चौके व एक छक्के की मदद से 38 रन बनाए.