क्रिकेटर मोहम्मद शमी की दरियादिली, इस तरह कर रहे हैं प्रवासी मजदूरों की मदद

रमजान के पाक महीने में टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने जरूरतमंदों की मदद की जिम्मेदारी उठाई है, इसमें प्रशासन का भी सहयोग मिल रहा है.

क्रिकेटर मोहम्मद शमी की दरियादिली, इस तरह कर रहे हैं प्रवासी मजदूरों की मदद

नई दिल्ली: इस वक्त पूरा देश कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के संकट से जूझ रहा है. इस दौरान देशभर में प्रवासी मजदूरों का पलायन जारी है. ऐसी मुश्किल घड़ी में टीम इंडिया के क्रिकेटर मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने घर लौट रहे मजदूरों के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया. प्रशासन की मदद से शमी इन जरूरतमंदों की जिम्मेदारी उठा रहे हैं. इन मजदूरों को सबसे ज्यादा जरूरत दो वक्त की रोटी है, क्योंकि इनकी आमदनी का जरिया पूरी तरह बंद हो चुका है.

यह भी पढ़ें- B'day Special: पाकिस्तान क्रिकेट टीम का वो कप्तान जिनकी जड़ें हिंदुस्तान में हैं

लॉकडाउन की वजह से अपने गृह जिले अमरोहा में मौजूद मोहम्मद शमी खुद दिल्ली-लखनऊ हाईवे पर बिहार और पूर्वी यूपी की तरफ जा रहे मजदूरों को जिला प्रशासन के मदद से भोजन, फल और पानी बांटा. शमी ने बताया कि हर रोज वो करीब 8-10 हजार लोगों के लिए खाने-पीने का इंतेजाम कर हे हैं. शमी की कोशिश है कि हर दिन भंडार लगाया जाए ताकि मुसीबत का सामना कर रहे लोगों की परेशानी कम की जा सके.

मोहम्मद शमी ने लोगों से अपील की है कि रमजान के पाक महीने चल रहा है, ऐसे में हर शख्स अपनी हैसियत के मुताबिक जरूरतमंदों की मदद करे. शमी की कोशिश है कि उनके जिले में कोई भी इंसान भूखा न रह जाए. इसलिए इस पावित्र महीने में इस नेक काम को वो बखूबी अंजाम दे रहे हैं. इस काम में शमी के दोस्त भी उनका साथ निभा रहे हैं. तेज गेंदबाज के इस काम की हर तरफ तारीफ हो रही है.