close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अगर टीम इंडिया विश्वकप में हारी तो कोहली इस वजह से नहीं बना पाएंगे आईपीएल का बहाना

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने मंगलवार को कहा कि 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में शुरू होने वाला विश्व कप उनके तथा टीम के लिए अभी तक का सबसे चुनौतीपूर्ण विश्वकप है. 

अगर टीम इंडिया विश्वकप में हारी तो कोहली इस वजह से नहीं बना पाएंगे आईपीएल का बहाना
कोहली ने कहा कि उनका गेंदबाजी आक्रमण चुनौती के लिए तैयार है.

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने मंगलवार को कहा कि 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में शुरू होने वाला विश्व कप उनके तथा टीम के लिए अभी तक का सबसे चुनौतीपूर्ण विश्वकप है. विराट ने टीम के रवाना होने से पहले संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस साल सभी टीमें बेहतरीन हैं और ऐसे में हर मैच जीतने के लिए काफी मेहनत करनी होगी. साथ ही कोहली ने यह भी कहा कि व्यक्तिगत तौर पर भी उन्हें टीम को योगदान देना होगा और इसके लिए उन्हें भी इस चुनौती का सामना करना है. 

भारतीय टीम के कई खिलाड़ी आईपीएल के 12वें सीजन का हिस्सा रहे हैं. हालांकि कोहली ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में दावा किया कि सभी गेंदबाज तैयार हैं और कोई थकान नहीं है. कोहली ने कहा कि उनका गेंदबाजी आक्रमण चुनौती के लिए तैयार है. उन्होंने कहा, "टीम में शामिल सभी गेंदबाज, यहां तक कि आईपीएल में भी 50 ओवर की क्रिकेट के लिए खुद को तैयार कर रहे थे. आपने सभी गेंदबाजों को गेंदबाजी करते हुए देखा होगा. कोई भी चार ओवर करने के बाद थका हुआ नहीं दिखा. सभी तरोताजा है. उनके दिमाग में शुरू से ही यही बात रही कि 50 ओवरों के मैच के लिए तैयार रहना है." 

मतलब साफ है कि अगर टीम इंडिया का विश्वकप में प्रदर्शन खराब रहा तो कोहली आईपीएल का बहाना नहीं बना पाएंगे. दो विश्व कप में खेल चुके कोहली ने कहा कि उनके लिये आराम का कोई समय नहीं है क्योंकि उन्हें शुरू में ही चार कड़े मैच खेलने हैं. 

कोहली ने कहा, "निजी तौर पर यह बेहद चुनौतीपूर्ण विश्व कप होगा जिसका मैं हिस्सा बनूंगा क्योंकि टीमें बेहद मजबूत हैं और फॉर्मेट भी अलग है. अगर आप अफगानिस्तान की 2015 की टीम और अब की टीम को देखोगे तो वह पूरी तरह से बदली हुई टीम है." 

उन्होंने कहा, "कोई भी टीम किसी को भी हरा सकती है. यह बात हमारे दिमाग में है. हमारा ध्यान अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलने पर होगा. आपको हर मैच में अपनी क्षमता का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा क्योंकि यहां ग्रुप चरण जैसी स्थिति नहीं है." विश्वकप में 1992 के बाद पहली बार राउंड रोबिन फॉर्मेट अपनाया जा रहा है जिसमें प्रत्येक टीम हर टीम से भिड़ेगी. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच जून को अभियान शुरू करने के बाद भारत नौ जून को आस्ट्रेलिया, 13 जून को न्यूजीलैंड और 16 जून को पाकिस्तान से भिड़ेगा.