IPL 2021: मैच फिनिशर धोनी ने खोला राज, आखिरी ओवर में हारी हुई बाजी को जिताने के लिए अपनाया ये प्लान
X

IPL 2021: मैच फिनिशर धोनी ने खोला राज, आखिरी ओवर में हारी हुई बाजी को जिताने के लिए अपनाया ये प्लान

Dhoni the finisher: धोनी ने अपना रौद्र रूप दिखाते हुए लगातार 3 चौके ठोक दिए, जिसमें एक गेंद वाइड रही और इस तरह माही ने हार के जबड़े से जीत छीन ली. धोनी की अगुवाई में चेन्नई सुपर किंग्स नौवीं बार IPL के फाइनल में पहुंची है. जीत के बाद धोनी ने खुलासा किया कि आखिरी ओवर में हारी हुई बाजी को जिताने के लिए उन्होंने क्या प्लान अपनाया था.

IPL 2021: मैच फिनिशर धोनी ने खोला राज, आखिरी ओवर में हारी हुई बाजी को जिताने के लिए अपनाया ये प्लान

दुबई: चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ  IPL 2021 के पहले क्वालीफायर मुकाबले में अपने पुराने दिनों की याद दिलाते हुए खुद को दुनिया का सबसे बड़ा मैच फिनिशर साबित किया. मैच मुश्किल हालात में था और 5 गेंदों पर 13 रन चाहिए थे. एक पल के लिए लगा कि 40 साल के धोनी इस मैच को फिनिश नहीं कर पाएंगे, लेकिन फिर ऐसा करिश्मा हुआ जिसे देख दुनिया हैरान रह गई.  

धोनी ने अपना रौद्र रूप दिखाया

धोनी ने अपना रौद्र रूप दिखाते हुए लगातार 3 चौके ठोक दिए, जिसमें एक गेंद वाइड रही और इस तरह माही ने हार के जबड़े से जीत छीन ली. धोनी की अगुवाई में चेन्नई सुपर किंग्स नौवीं बार IPL के फाइनल में पहुंची है. जीत के बाद धोनी ने खुलासा किया कि आखिरी ओवर में हारी हुई बाजी को जिताने के लिए उन्होंने क्या प्लान अपनाया था. धोनी ने कहा कि हम जानते थे कि दिल्ली कैपिटल्स के बॉलिंग अटैक को देखते हुए पहला क्वालीफायर मैच मुश्किल होगा.

धोनी ने खोला सबसे बड़ा राज

धोनी ने फिर फिनिशिर की भूमिका निभाई और अंत में छह गेंदों में एक छक्के और तीन चौकों से नाबाद 18 रन बनाकर दो गेंद रहते जीत सुनिश्चित की. उनसे पहले ऋतुराज गायकवाड़ (70) और रॉबिन उथप्पा (63) ने अर्धशतकीय पारियां खेलकर दूसरे विकेट के लिए 110 रन की साझेदारी निभाई थी. धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘मेरी पारी महत्वपूर्ण थी. दिल्ली कैपिटल्स गेंदबाजी आक्रमण अच्छा है. उन्होंने परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाया, इसलिए हम जानते थे कि यह मैच हमारे लिए आसान नहीं रहने वाला था.’

आखिरी ओवर में ऐसे पलटी हारी हुई बाजी 

सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (60 रन) और कप्तान ऋषभ पंत (नाबाद 51 रन) के अर्धशतक की बदौलत दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद पांच विकेट पर 172 रन का स्कोर बनाया था. अपनी पारी के बारे में धोनी ने कहा, ‘मैंने टूर्नामेंट में ज्यादा अच्छी पारियां नहीं खेली हैं, लेकिन मैं गेंद को देखकर खेलना चाहता था. मैं नेट पर अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था. लेकिन ज्यादा नहीं सोच रहा था, क्योंकि अगर आप बल्लेबाजी करते हुए ज्यादा सोचते हो तो अपनी रणनीति खराब कर देते हो.’

शार्दुल ठाकुर को बताया बेस्ट 

धोनी ने शार्दुल ठाकुर को बल्लेबाजी क्रम में ऊपर भेजने के फैसले पर कहा, ‘शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) ने हाल के दिनों में अच्छी बल्लेबाजी की है, इसलिए उसे ऊपर भेजा गया.’ उथप्पा के बारे में धोनी ने कहा, ‘रॉबिन हमेशा से ऊपर बल्लेबाजी का लुत्फ उठाता है. मोईन अली तीसरे नंबर पर शानदार रहे हैं, लेकिन हमने उनके लिए ऐसी परिस्थितियां बना दी हैं कि कोई भी तीसरे नंबर पर जरूरत के हिसाब से बल्लेबाजी कर सकता है.’

धोनी ने ऋतुराज के बारे में कहा, ‘जब मैं और ऋतुराज बात करते हैं तो यह काफी सरल होती है. मैं जानता चाहता हूं कि वह क्या सोच रहा है. यह देखकर अच्छा लगता है कि उसने काफी सुधार किया है. वह ऐसा खिलाड़ी है, जो पूरे 20 ओवर तक बल्लेबाजी करना चाहता है.’ उन्होंने कहा, ‘पिछले सीजन में पहली बार हम प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाये थे, लेकिन हमने इस सत्र में शानदार वापसी की.’

ऋषभ पंत ने बताई दिल्ली की हार की वजह 

दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत (Rishabh Pant) ने करीबी हार के बाद कहा, ‘निश्चित रूप से यह बहुत ही निराशाजनक हार थी और मेरे पास शब्द नहीं है कि मैं इस (अंतिम ओवर में फैसले की) निराशा को बयां कर सकूं. मुझे लगा कि टॉम कुरेन ने इस मैच में बेहतरीन गेंदबाजी की, तो उन्हें अंतिम ओवर देना सही रहेगा. हमने एक अच्छा स्कोर खड़ा किया था. हम अगले मैच में अपनी गलतियों की सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे ताकि फाइनल तक पहुंच सकें.’ ‘प्लेयर आफ द मैच’ गायकवाड़ ने कहा, ‘मैं क्रीज पर शांत रहने की कोशिश करता हूं. हर मैच नया होता है, इसलिए हमें शुरु से ही शुरुआत करनी होती है. पॉवरप्ले बहुत महत्वपूर्ण था, विकेट पर गेंद थोड़ी सी रुककर भी आ रही थी. रोबिन ने सचमुच बेहतरीन बल्लेबाजी की. उनके सामने खेलने से मेरे लिए भी बल्लेबाजी भी आसान हो गई.’

वाइफ साक्षी हुई इमोशनल

महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने 6 गेंदों पर नाबाद 18 रन बनाए और एक छक्का और 3 चौके लगाए. मैच मुश्किल हालात में था और 5 गेंदों पर 13 रन चाहिए थे. एक पल के लिए लगा कि 40 साल के धोनी इस मैच को फिनिश नहीं कर पाएंगे, लेकिन धोनी ने अपना रौद्र रूप दिखाते हुए लगातार 3 चौके ठोक दिए, जिसमें एक गेंद वाइड रही और इस तरह माही ने हार के जबड़े से जीत छीन ली. धोनी के विनिंग शॉट लगाते ही स्टेडियम में मौजूद उनकी पत्नी साक्षी धोनी की आंखें नम हो गईं. साक्षी के साथ उनकी बेटी जीवा भी स्टेडियम में ही मौजूद थी. धोनी ने जैसे ही विनिंग शॉट लगाया, वैसे ही साक्षी ने जीवा को कसकर अपनी बाहों में भर लिया. धोनी की पत्नी और बेटी का यह सेलिब्रेशन जमकर वायरल हो रहा है. 

धोनी के दम पर CSK नौवीं बार फाइनल में 

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने आखिरी ओवर्स में आकर अपनी टीम को ऐतिहासिक जीत दिलवाई और इसी के साथ चेन्नई नौवीं बार IPL में प्रवेश कर गई. वो भी तब जब CSK पिछले IPL में सातवें नंबर पर रही थी. एमएस धोनी ने अपनी पारी में सिर्फ 6 बॉल खेलीं और 18 रन बना डाले. इस दौरान उन्होंने 3 चौके और एक छक्का लगाया. चेन्नई सुपर किंग्स 2020 में सातवें नंबर पर रहकर बाहर हो गई थी, तब धोनी ने कहा था कि हमारी टीम फिर से जबरदस्त वापसी करेगी. अब एक बार फिर एमएस धोनी की अगुवाई में चेन्नई सुपर किंग्स फाइनल में पहुंच गई है. ये नौवीं बार है जब चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल के फाइनल में पहुंची है.

Trending news