close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: Mankading से नाराज बटलर ने नहीं मिलाया हाथ, देखते रह गए अश्विन

राजस्थान-पंजाब के बीच मैच में जोस बटलर के रन आउट की चर्चा रही, अश्विन ने उन्हें बिना चेतावनी दिए रन आउट कर दिया. 

VIDEO: Mankading से नाराज बटलर ने नहीं मिलाया हाथ, देखते रह गए अश्विन
जोस बटलर ने मैच के बाद अश्विन से हाथ नहीं मिलाया. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आईपील 2019 में पहले मैचों में टीमों के बीच जंग खेल से बढ़कर हो गई जब सोमवार को पंजाब के कप्तान आर अश्विन ने राजस्थान के जोस बटलर को असामान्य तरीके से रन आउट कर दिया. इस मैच में यह रन आउट टर्निंग प्वाइंट माना गया और जीत पंजाब के खाते में गई. इस मैच में पंजाब के बनाए गए 184 रन की चुनौती के जवाब में पंजाब को जोस बटलर ने अजिंक्य रहाणे के साथ मिलकर बढ़िया शुरुआत दी थी. रहाणे तो लंबा नहीं टिक सके, लेकिन जोस बटलर 12 ओवर से ज्यादा तक पिच पर टिक गए. उस समय वे 43 गेंदों पर 69 रन बनाकर खेल रहे थे. 

इस समय पर अश्विन ने बिना चेतावनी दिए उन्हें असामान्य तरीके से आउट किया. बटलर जब अश्विन के गेंद फेंकने से पहले ही क्रीज छोड़ गए तो अश्विन ने उन्हें बिना चेतावनी दिए रन आउट कर दिया. खेलभावना की परंपराओं के अनुसार आमतौर पर गेंदबाज पहले गेंदबाज को चेतावनी देता है और उसके बाद भी अगर गेंदबाज अपने रवैये को नहीं सुधारता है तो वह उसे गेंद फैंकने से पहले ही आउट कर सकता है. अश्विन ने बिना चेतावनी दिए ही बटलर को आउट किया जिससे मैदान और उसेक बाहर भी बहस शुरू हो गई. 

 

इस तरह से आउट होने पर बटलर और अश्विन में बहस भी हुई. यह तल्खी इतनी ज्यादा थी कि बटलर ने मैच खत्म होने के बाद अश्विन से हाथ भी नहीं मिलाया. इस से अश्विन काफी हैरान दिखाई दिए. वहीं जोस बटलर अपनी टीम की हार से ( और अपने असामान्य तरीके से आउट होने पर) काफी निराश दिखे. वहीं कॉमेंट्री बॉक्स में भी कॉमेंटेटर्स इस तरह से विकेट गिराने पर सहमत नहीं हुए. 

जोस बटलर का खौफ तो था इस बार भी
पिछले सीजन में जोस बटलर ने तूफानी और मैच पटलने वाली पारियां खेलीं थी. 13 मैचों की 13 पारियों में 54.80 के औसत और 155.24 के स्ट्राइक रेट से कुल 548 रन बनाए जिसमें एक बेहतीरन 95 रनों की पारी भी शामिल थी. आलम यह था कि बटलर के खौफ ने चेन्नई के कप्तान एमएस धोनी की रणनीतियों को भी बेकार कर दिया था. बटलर के खिलाफ बनी हर टीम की सारी रणनीतियां बेकार साबित होती रही. माना यह भी जा रहा है कि बटलर को सही तरीके से आउट न कर पाने के बाद ही अश्विन को यह रणनीति अपनी पड़ी. 

यह भी पढ़ें :कभी इस क्रिकेटर को कोहली ने कहा था 'मोटा', अब गेल के 'तूफान' के बीच खेली 'बवंडर' पारी

क्या बटलर के आउट होने से हारा राजस्थान?
 माना जा रहा है कि बटलर का विकेट टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ जिसके बाद से पंजाब मैच में हावी हो सका और अंततः मैच जीत सका. लेकिन हकीकत यह है कि मैच हारने में राजस्थान के बाकी बल्लेबाजों की नाकामी और काफी हद तक पंजाब के गेंदबाजों का योगदान भी रहा. 17वें ओवर में स्मिथ (19) संजू सैमसन (30) आउट होकर पवेलियन वापस चले गए. इसके बाद मुजीब उर रहमान ने बेन स्टोक्स (6) को आउट कर राजस्थान को पांचवां झटका दिया. स्टोक्स जब आउट हुए तब राजस्थान को जीत के लिए 15 गेंदों पर 28 रन बनाने थे. मुजीब ने अपने चौथे ओवर की आखिरी गेंद पर राहुल त्रिपाठी (1) को आउट कर राजस्थान को मुश्किल में डाल दिया. राजस्थान अंततः 20 ओवर में नौ विकेट पर 170 रन ही बना सकी. पंजाब की ओर से कुरेन, मुजीब और अंकित राजपूत ने दो-दो वहीं अश्विन ने एक विकेट लिया. इस तरह राजस्थान केवल 14 रनों से यह मैच गंवा बैठी.