कभी इस क्रिकेटर को कोहली ने कहा था 'मोटा', अब गेल के 'तूफान' के बीच खेली 'बवंडर' पारी

राजस्थान-पंजाब के बीच मैच में क्रिस गेल की तूफानी पारी और जोस बटलर के रन आउट की चर्चा तो रही, लेकिन इसमें सरफराज खान की पारी दब कर रह गई. 

कभी इस क्रिकेटर को कोहली ने कहा था 'मोटा', अब गेल के 'तूफान' के बीच खेली 'बवंडर' पारी
सरफराज खान ने पंजाब के लिए 46 रनों की तेज नाबाद पारी खेली. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आईपीएल 2019 के शुरुआती मुकाबलों में रोमांचक पारियां देखने को मिल रही हैं. सोमवार को जयपुर में राजस्थान और पंजाब के बीच हुए मैच में भी कुछ बेहतरीन पारियां देखने के तो मिली लेकिन दो बातों ने पूरा ध्यान लोगों का खींच लिया. पहली पंजाब के क्रिस गेल की तूफानी पारी और दूसरा राजस्थान के जोस बटलर का रन आउट जिस पर कुछ विवाद सा भी हो गया. इस बीच जो सबसे ज्यादा अनदेखी वाली बात रही वह थी पंजाब के सरफराज खान की बेहतरीन पारी, जिसने पंजाब की 14 रनों की जीत में खास भूमिका निभाई.  

पंजाब की लंबे समय बाद जयपुर में पहली जीत
पंजाब ने चार विकेट पर 184 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और फिर राजस्थान को निर्धारित 20 ओवर में नौ विकेट पर 170 रन पर रोक दिया. पंजाब की इस मैदान पर राजस्थान के खिलाफ पिछले छह मैचों में यह पहली जीत है. उल्लेखनीय है कि दोनों ही टीमें पिछले सीजन में भी काफी तगड़ी मानी जा रहीं थी, लेकिन पंजाब तो प्लेऑफ तक में पहुंचने में नाकाम रही थी, जबकि शुरुआती मुकाबलों में वह काफी मैचों तक अंक तालिका में शीर्ष पर रही थी. उस सीजन में पंजाब के कप्तान आर अश्विन पहली बार पंजाब के लिए खेल रहे थे. 

अच्छी शुरुआत नहीं रही पंजाब की
टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब की टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही. पंजाब ने चार रन के अंदर ही लोकेश राहुल (4) के रूप में अपना पहला विकेट गंवा दिया. इसके बाद गेल ने मयंक अग्रवाल (22) के साथ के साथ दूसरे विकेट के लिए 56 रनों की साझेदारी की. मयंक टीम के 60 के स्कोर पर और गेल टीम के 144 के स्कोर पर तीसरे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए. गेल को बेन स्टोक्स ने सीमा रेखा पर राहुल त्रिपाठी के हाथों कैच कराया. गेल ने 47 गेंदों पर आठ चौके और चार छक्के लगाए. उन्होंने इस दौरान आईपीएल में अपने सबसे तेज 4000 रन भी पूरे कर लिए.

यह भी पढ़ें: बटलर IPL 'मैंकडिंग' के पहले शिकार बने, जानिए इस घटना पर अश्विन ने क्या कहा

अंत तक डटे रहे सरफराज 
मंयक के आउट होने के बाद गेल को सरफराज का साथ मिला और और दोनों ने 84 रनों की साझेदारी की. निकोलस पूरन ने 14 गेंदों पर एक चौके की मदद से 12 रन बनाए. सरफराज और पूरन के बीच चौथे विकेट के लिए 23 रन की साझेदारी हुई. सरफराज ने 29 गेंदों पर छह चौके और एक छक्का लगाकर पंजाब को निर्धारित 20 ओवर में चार विकेट पर 184 के स्कोर तक पहुंचाया. टीम ने अंतिम चार ओवरों में 39 रन जोड़े. मनदीप सिंह ने दो गेंदों पर नाबाद पांच रन बनाए. इस तरह पंजाब ने क्रिस गेल (79) और सरफराज खान (46) की पारी की मदद से चार विकेट पर 184 रन का मजबूत स्कोर बना लिया. राजस्थान की ओर से स्टोक्स ने दो और धवल कुलकर्णी तथा कृष्णप्पा गौतम ने एक-एक विकेट लिया.

Sarfaraz Khan for Punjab vs Rajasthan

राजस्थान को मिली बढ़िया शुरुआत
पंजाब से मिले 185 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी राजस्थान को उसके दोनों ओपनरों कप्तान अजिंक्य रहाणे (27) और जोस बटलर (69) ने पहले विकेट के लिए 8.1 ओवर में 78 रन की साझेदारी कर टीम को बेहतरीन शुरुआत दी. बटलर ने 29 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया. खतरनाक होती जा रही इस साझेदारी को तोड़ने के लिए कप्तान रविचंद्रन अश्विन खुद को गेंदबाजी मोर्चे पर लेकर आए. अश्विन ने अपने दूसरे ओवर की पहली ही गेंद पर रहाणे को क्लीन बोल्ड इस साझेदारी का अंत किया. रहाणे ने 20 गेंदों पर चार चौके लगाए.

बटलर के जाने के बाद नहीं चले स्मिथ, सैमसन
अश्विन ने मैच के 12.5 ओवर में बड़े ही नाटकीय अंदाज में बटलर को भी रन आउट कर दिया. बटलर ने 43 गेंदों का सामना किया, जिसमें उन्होंने 10 चौके और दो छक्के लगाए. राजस्थान को जीत के लिए अंतिम 30 गेंदों पर 50 रन बनाने थे लेकिन सैम कुरेन ने 16.4 ओवर में स्मिथ (19) को और इसी ओवर की आखिरी गेंद पर संजू सैमसन (30) को आउट कर पंजाब को मैच में वापसी करा दिया. स्मिथ ने 16 गेंदों पर एक चौका और एक छक्का जबकि सैमसन ने 25 गेंदों पर एक छक्का लगाया. दोनों बल्लेबाजों ने तीसरे विकेट के लिए 40 रन जोड़े. 

पंजाब के गेंदबाजों ने राजस्थान के दिग्गजों रोका
इसके बाद मुजीब उर रहमान ने बेन स्टोक्स (6) को आउट कर राजस्थान को पांचवां झटका दिया. स्टोक्स जब आउट हुए तब राजस्थान को जीत के लिए 15 गेंदों पर 28 रन बनाने थे. मुजीब ने अपने चौथे ओवर की आखिरी गेंद पर राहुल त्रिपाठी (1) को आउट कर पंजाब को जीत की ओर अग्रसर कर दिया. राजस्थान को अंतिम 12 गेंदों पर जीत के लिए 27 रन की दरकार थी लेकिन टीम पूरे 20 ओवर खेलने के बाद नौ विकेट पर 170 रन ही बना सकी. पंजाब की ओर से कुरेन, मुजीब और अंकित राजपूत ने दो-दो जबकि अश्विन ने एक विकेट लिया. 

(इनपुट आईएएनएस)