close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विराट कोहली की लगातार हार पर हताशा यूं निकली, कहा रोज बहाना नहीं बना सकते

बेंगलुरू की टीम को अपने ही मैदान में दिल्ली के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा. 

विराट कोहली की लगातार हार पर हताशा यूं निकली, कहा रोज बहाना नहीं बना सकते
विराट कोहली अपनी टीम के प्रदर्शन से काफी दुखी नजर आए. (फोटो IANS)

बेंगलुरू: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के दिन इन दिनों ठीक नहीं चल रहे हैं. 2019 के आईपीएल में उनकी कप्तानी में उनकी  टीम बेंगलुरू लगातार छह मैचों में हार का रिकॉर्ड बना चुकी है. रविवार को विराट की टीम को दिल्ली के हाथों चार विकेट से हार का सामना करना पड़ा.  हार से विराट कोहली दुखी नजर आए उन्होंने कहा कि उनकी टीम फिर से मौकों का फायदा उठाने में नाकाम रही और हार के लिये हर दिन बहाना नहीं बनाया जा सकता. 

टॉस हारने के बाद बेंगलुरू की टीम 20 ओवर में  आठ विकेट पर 149 रना सकी और वह इसका बचाव नहीं कर कर सकी. दिल्ली ने 150 रनों का लक्ष्य 19वें ओवर में  ही हासिल कर लिया. इस पारी में पार्थिव पटेल ने 9 ( 9 गेंदों में), विराट ने 41 (33 गेंदों में) एबी डिविलियर्स ने 17 (16 गेंदों में), स्टोइनिस ने 15 (17 गेंदों में मोईन अली ने 32(18 गेंदों में) और अक्षदीप ने 19 (12 गेदों में) रनों की पारी खेली.

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: इंग्लैंड के पूर्व कप्तान की BCCI को सलाह, अब विराट कोहली को रेस्ट दो

160 रन के बारे में सोचा था विराट ने
विराट ने कोहली मैच के बाद कहा, ‘‘हम सोच रहे थे कि 160 का स्कोर प्रतिस्पर्धी होगा लेकिन हम नियमित अंतराल में विकेट खोते चले गए और इसलिए मैं अंत तक क्रीज पर बने रहना चाहता था. अगर 150 रन के लक्ष्य देकर भी अगर हमने मौकों का फायदा उठाया होता तो उनके लिए मुश्किल हो सकती थी. हमें इन मौकों का फायदा उठाने की जरूरत है, हर दिन बहाना नहीं बनाया जा सकता.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम मैच वाले दिन कभी अच्छा खेल नहीं दिखा पाये. इस सत्र में आरसीबी की यही कहानी है. ’’ 

अपनी पारी के बारे में यह कहा विराट ने
कोहली ने अपनी  33 गेंदों पर 41 रनों की पारी के बारे में कहा कि उनके पास इस तरह की पारी खेलने के अलावा कोई विकल्प नहीं था. उन्होंने कहा, ‘‘इस विकेट पर बल्लेबाजी करना मुश्किल था. जब एबी डिविलियर्स आउट हुए तो मुझे पारी आगे बढ़ानी पड़ी. स्टोइनिस भी अच्छा खेल रहे थे और अक्षदीप भी. जब एक सीनियर खिलाड़ी आउट होता है तो दूसरे सीनियर को पारी संभालनी होती है. मैं उस चरण में आउट होकर खुश नहीं था. अगर मैं टिका रहता तो टीम के लिये 25-30 रन और बना सकता था. मुझे लगता है कि 160 रन अच्छा स्कोर होता.’’ 

दिल्ली के लिए अय्यर-रबाडा ने किया बढ़िया प्रदर्शन
इस मैच में दिल्ली के लिए श्रेयस अय्यर ने टीम के लिए 50 गेंदों पर 67 रनों की कप्तानी पारी खेली. वहीं पृथ्वी शॉ ने 22 गेदों में 28 रन, कोलिन इंग्राम 21 गेंदों में 22 रन, ऋषभ पंत ने 14 गेंदों में 28 रनों की पारी खेली, शिखर धवन अपना खाता खोले बिना आउट हो गए. इस हार से बेंगलुरू अंक तालिका में सबसे नीच पहुंच गई है. इस मैच में दिल्ली के लिए 4 विकेट लेने वाले कगीसो रबाडा को मैन ऑफ द मैच चुना गया. 

(इनपुट भाषा)