बसंत पंचमी

बसंत पंचमी: एक करोड़ लोगों ने लगाई गंगा में डुबकी, श्रद्धालुओं पर पुष्प वर्षा

कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के एक अधिकारी ने बताया कि शनिवार को सुबह 6 बजे से शाम 7 बजे तक करीब 93 लाख लोग कुम्भ मेले में आए

Feb 10, 2019, 04:58 PM IST

बसंत पंचमी विशेष: जानें क्या है इस दिन का महत्व, क्यों होती है मां सरस्वती की पूजा

मान्यता है कि बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने से बुद्धि और ज्ञान बढ़ता है. क्योंकि मां सरस्वती संगीत के साथ ही वाणी और ज्ञान की देवी भी हैं.

Feb 10, 2019, 08:46 AM IST

Basant Panchami 2019: कल होगा ऋतुराज बसंत का आगमन, इसलिए होती है मां सरस्वती की पूजा

हिंदू मान्यताओं के मुताबिक, बसंत पंचमी के दिन को मां सरस्वती का जन्मदिन माना जाता है.

Feb 9, 2019, 10:09 AM IST

बसंत पंचमी से शुरू होगा ब्रज में 50 दिन तक चलने वाला रंगोत्सव

ब्रज में बसंत पंचमी के दिन मंदिरों में ठाकुरजी को गुलाल अर्पण कर, रसिया, धमार आदि होली गीतों का गायन प्रारम्भ हो जाता है और मंदिरों में दर्शन के लिए आने वाले भक्तों पर भी गुलाल के छींटे डाले जाते हैं.

Feb 6, 2019, 12:41 PM IST

वसंत पंचमी : कुदरत ने किया वासंती शृंगार, कवि ने कहा- ये कौन चित्रकार है

वसंत पंचमी का पर्व पूरे देश में बड़े ही धूम-धाम के साथ मनाया जा रहा है. वसंत पंचमी पर विद्या की देवी सरस्वती का पूजन किया जाता है. कहते हैं कि इसी दिन देवी सरस्वती का जन्म हुआ था. साहित्यकारों, कवियों के लिए इस दिन का विशेष महत्व होता है. हिंदी के महान कवि सूर्यकांत त्रिपाठी निराला का जन्म वसंत पंचमी के दिन ही हुआ था.

Jan 22, 2018, 04:04 PM IST

Vasant Panchami 2018: 'ऋतुओं में न्यारा वसंत... मैं अग-जग का प्यारा वसंत'

वसंत पंचमी या श्रीपंचमी एक हिन्दू त्योहार है. इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है. शास्त्रों में बसंत पंचमी का ऋषि पंचमी के नाम उल्लेख देखने को मिलता है.

Jan 22, 2018, 02:24 PM IST

'भरा हर्ष वन के मन, नवोत्कर्ष छाया... सखि, वसंत आया!'

वसंत पंचमी या श्रीपंचमी एक हिन्दू त्योहार है. इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है. शास्त्रों में बसंत पंचमी को ऋषि पंचमी से उल्लेखित किया गया है, तो पुराणों-शास्त्रों तथा अनेक काव्यग्रंथों में भी अलग-अलग ढंग से इसका चित्रण मिलता है. वसंत पर निराला, महादेवी वर्मा, अज्ञेय जैसे प्रसिद्ध कवियों ने भी रचनाएं की हैं. हम आपके लिए लाए हैं ऐसी ही छह प्रसिद्ध कविताएं जो वसंत पंचमी विषय पर लिखी गई हैं.

Jan 22, 2018, 10:24 AM IST

वसंत पंचमी स्‍पेशल: प्रकृति के शृंगार का कलाकार है ऋतुराज वसंत

मेरे लिए वसंत प्रकृति के ऋतु-चक्र का एक पड़ाव भर न होकर स्मृति में रचा-बसा जीवन का एक स्थायी टुकड़ा है. इसकी पदचाप मुझे वर्तमान से उठाकर अतीत की कोमल और सुगंधित गोद में; थोड़ी देर के लिए ही सही, झपकियां लेने के लिए पहुंचा देती है.

Jan 22, 2018, 10:10 AM IST

सात्विकता और निर्मलता का महापर्व: बसंत पंचमी

देश में हम हर साल तीन मौसम से रूबरू होते है। गर्मी, जाड़ा और बरसात। गर्मी से ठीक पहले एक अद्भुत ऋतु का आगाज होता है। एक ऐसी ऋतु जो प्रकृति के अद्भुत स्वरूप को हमारे सामने परोसती और उसमें भिगोती है। ऐसा लगता है कि जैसे प्रकृति ने एक साथ सौंदर्य का चादर ओढ़ा हो जिसपर मानव मन खुशी से झूमने लगा हो। बसंत के इस पंचम स्वरूप में खेतों में पीली सरसों लहल

Feb 12, 2016, 04:24 PM IST

धार में धर्मयुद्धः बसंत पंचमी पर कड़े पहरे में भोजशाला

https://goo.gl/fCugXC Daily News and Analysis: https://goo.gl/B8eVsD Manthan: https://goo.gl/6q0wUN Fast n Facts: https://goo.gl/kW2MYV Your daily does of entertainment: https://goo.gl/ZNEfhw Sports round up: https://goo.gl/KeeYjf Aapke Sitare: https://goo.gl/X56YSa Bharat Bhagya Vidhata: https://goo.gl/QqJiOV Taal Thok Ke : https://goo.gl/yiV6e7 Subscribe to our channel at: https://goo.gl/qKzmWg Check out our website: http://www.zeenews.com Connect with us at our social media handles: Facebook: https://www.facebook.com/ZeeNews Twitter: https://twitter.com/ZeeNews Google Plus: https://plus.google.com/+Zeenews

Feb 12, 2016, 02:55 PM IST

धार में धर्मयुद्ध : तनाव के बीच भोजशाला में पहली बार गर्भगृह के बाहर पूजा, धरने पर बैठे शंकराचार्य

बसंत पंचमी मध्य प्रदेश के धार में मां सरस्वती की पूजा और जुम्मे की नमाज को लेकर तनाव कायम है। भोजशाला में पूरे दिन अखंड पूजा पर अड़े हिंदू संगठन और पूजा समिति ने भोजशाला के बाहर हवन-पूजन शुरू कर दिया है। ऐसा पहली बार हो रहा है जब पूजा गर्भगृह के बाहर हो रहा है। शहर काजी ने प्रशासन से मुस्लिम समुदाय की जुम्मे पर सुरक्षित नमाज की मांग की है। 

Feb 12, 2016, 01:50 PM IST

बसंत पंचमी का महत्व और इस दिन देवी सरस्वती की ही पूजा क्यों?

बसंत ऋतुओं का राजा माना जाता है। यह पर्व बसंत ऋतु के आगमन का सूचक है। इस अवसर पर प्रकृति के सौंदर्य में अनुपम छटा का दर्शन होता है। पेड़ों के पुराने पत्ते झड़ जाते हैं और बसंत में उनमें नयी कोपलें आने लगती हैं। माघ महीने की शुक्ल पंचमी को बसंत पंचमी होती है तथा इसी दिन से बसंत ऋतु की शुरुआत होती है। 12 फरवरी को देशभर में बसंत पंचमी का त्यौहार धूमधाम से मनाया जा रहा है।

Feb 12, 2016, 10:59 AM IST

बसंत पंचमी से पहले भोजशाला में भारी तनाव, सुरक्षा बढ़ाई गई

मध्य प्रदेश के धार स्थित भोजशाला के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है क्योंकि एक दक्षिणपंथी संगठन अपनी इस मांग पर अड़ गया है कि इस पुरातात्विक ढांचे को  बसंत पंचमी पर शुक्रवार को केवल हिंदुओं द्वारा पूजा करने के लिए ही खोला जाए। भोजशाला में मुस्लिम भी जुम्मे की नमाज अदा करते हैं।

Feb 11, 2016, 06:57 PM IST

वसंत पंचमी के साथ ही दुर्लभ त्रिबल सिद्धि योग

वर्षों बाद इस बार वसंत पंचमी के दिन चार फरवरी को कई मंगलकारी और दुर्लभ योग बने हैं। ऐसे मुहूर्त में किया गया कोई भी शुभ कार्य ज्यादा फलदायी होता है। पंडितों की मानें तो इस दिन सबसे अच्छा योग विवाह के लिए है। विवाह के लिए रवि, अमृत सिद्धि और त्रिबल सिद्धि योग बन रहा है।

Feb 4, 2014, 08:52 AM IST

इलाहाबाद के महाकुंभ में आखिरी शाही स्नान जारी

इलाहाबाद के महाकुंभ में आज तीसरा और आखिरी शाही स्नान चल रहा है।

Feb 15, 2013, 08:25 AM IST