Zee Rozgar Samachar

suicides in india

आत्महत्या के मामले में छत्तीसगढ़ देश में 9वें नंबर पर, 2018 के मुकाबले 2019 में 8.3% की बढ़ोतरी

जनसंख्या के हिसाब से आत्महत्या की दर भी छत्तीसगढ़ में पिछले वर्ष के मुकाबले करीब 2 प्रतिशत बढ़ी है. इस मामले में छत्तीसगढ़ देश में चौथे नंबर पर है. वर्ष 2018 में राज्य में आत्महत्या की दर 24.7 प्रतिशत थी जो 2019 में बढ़कर 26.4% पहुंच गई है. 

Sep 4, 2020, 10:30 AM IST

क्या हिंसक प्रतिस्पर्धा का दबाव मौत को आसान बना देता है?

जिस आर्थिक विकास की अवधारणा और नीति को हमने अपनाया है, उसमें सबसे आगे रहना ही मायने नहीं रखता है; इसमें जरूरी है सबको पीछे छोड़कर आगे बढ़ना. जीवन के पहले दूसरे साल में ही बच्चों को यह जता दिया जा रहा है कि आगे निकलो, सब कुछ रट डालो. चौबीसों घंटे कुछ न कुछ सीखते रहो. कुदरत से, समाज से, अपने आस-पड़ोस से कुछ मत सीखना.

Oct 12, 2017, 01:22 PM IST

बीमार, बीमारी से नहीं, आत्महत्या से मर रहा है!

भारत में इस सदी के पहले 15 सालों में लगभग 3.84 लाख लोगों ने आत्महत्या की, जिसका कारण थीं बीमारियां. अस्थमा, अवसाद, डिमेंशिया, कैंसर, पैरालिसिस और अन्य लंबी असाध्य बीमारियां...

Oct 6, 2017, 01:22 PM IST

हर घंटे 15 लोग करते हैं खुदकुशी, बीते साल 5650 किसानों ने खत्‍म की अपनी जीवनलीला

देश में पिछले साल कुल 5,650 किसानों ने खुदकुशी की और महाराष्ट्र इस मामले में सबसे ऊपर रहा। आधिकारिक आंकड़ों से यह खुलासा हुआ। महाराष्ट्र के बाद तेलंगाना और छत्तीसगढ़ से सर्वाधिक किसानों द्वारा खुदकुशी के मामले सामने आए।

Jul 23, 2015, 09:36 PM IST