Sim Card से मिली मुक्ति! भारतीय ग्राहक इस खास तकनीक से चला पाएंगे स्मार्टफोन, नहीं पड़ेगी सिम की जरूरत
topStorieshindi

Sim Card से मिली मुक्ति! भारतीय ग्राहक इस खास तकनीक से चला पाएंगे स्मार्टफोन, नहीं पड़ेगी सिम की जरूरत

Sim Service: क्या होता अगर आप बिना सिम कार्ड के ही अपना स्मार्टफोन चला पाते, अगर आपको ये बहुत दूर की बात लगती है तो बता दें कि जल्द ही ऐसा हर भारतीय स्मार्टफोन के साथ देखने को मिल सकेगा. 

Sim Card से मिली मुक्ति! भारतीय ग्राहक इस खास तकनीक से चला पाएंगे स्मार्टफोन, नहीं पड़ेगी सिम की जरूरत

eSim Service in Smartphones: भारत में जितने भी स्मार्टफोंस इस्तेमाल किए जा रहे हैं उनमें से ज्यादातर में आपको एक फिजिकल सिम लगाना पड़ता है. फिजिकल सिम कार्ड लगाने के लिए हर स्मार्ट फोन में सिम स्लॉट बनाए जाते हैं. कुछ स्मार्टफोंस में दो सिम कार्ड लगाया जा सकते हैं तो वहीं कुछ स्मार्टफोंस में सिंगल सिम का ही ऑप्शन दिया जाता है. हालांकि क्या आप जानते हैं कि आने वाले समय में शायद स्मार्टफोन में आपको सिम कार्ड लगाने की जरूरत ना पड़े. अगर आपको लगता है कि यह कोरी कल्पना है तो ऐसा नहीं है क्योंकि कई कंपनियां बिना सिम स्लॉट के ही अपने स्मार्टफोन ऑफर कर रही हैं.

बिना सिम कार्ड के कैसे चलेगा स्मार्टफोन

अगर आपको लग रहा है कि स्मार्टफोन में सिम कार्ड नहीं लगाना पड़ेगा तो ऐसा नहीं है दरअसल हम आपको यह बताना चाहते हैं कि फिजिकल सिम कार्ड लगाने की जरूरत भविष्य में खत्म हो सकती है और ऐसा हो पाएगा एक खास तकनीक की बदौलत. यह तकनीक है ई-सिम, जी हां. आईफोन में यह सर्विस देखने को मिल रही है और अब गूगल अपने पिक्सल 7 सीरीज स्मार्टफोंस में ई-सिम फीचर ऑफ़र कर सकता है जिसके बाद आप को स्मार्ट फोन में सिम कार्ड लगाने की जरूरत नहीं होगी और ना ही आपको सिम स्लॉट खोलने का झंझट रहेगा.

किस तरह से यूजर्स को मिलता है ई-सिम

ई-सिम हासिल करने का प्रोसेस बेहद ही आसान है और इसमें कुछ मिनटों का ही समय लगता है और जैसे ही आप को अप्रूवल मिल जाता है आपके स्मार्ट फोन पर ई-सिम एक्टिव कर दिया जाता है. ई-सिम भी आप अपनी पसंदीदा टेलीकॉम कंपनी का चुन सकते हैं ऐसे में आपको कोई अलग चार्ज नहीं देना पड़ेगा बस आपको कंपनी का एक रिचार्ज प्लान एक्टिव करना पड़ेगा और बाकी काम ठीक वैसा ही होगा जैसे आप फिजिकल सिम के साथ करते आए हैं. इससे सहूलियत या होगी कि फोन का सिम स्लॉट हटने के बाद उसमें थोड़ा स्पेस बढ़ जाएगा जिससे बैटरी की क्षमता के साथ ही कई अन्य फीचर्स भी स्मार्टफोन कंपनियों द्वारा ऑफर किए जा सकते हैं. हालांकि ये सर्विस भारत के हर स्मार्टफोन में कब देखने को मिलेगी इसमें अभी कुछ सालों का समय लग सकता है.

Trending news