BREAKING NEWS

World War की आहट! Israel ने फिर किया गाजा पट्टी पर हमला, करीब 200 लोगों की मौत

इजरायल और फिलिस्तीन (Israel-Palestine) के बीच 8 दिनों से संघर्ष जारी है और दोनों देशों के बीच चल रही लड़ाई में आरोप प्रत्यारोप का दौर भी जारी है. इजरायल का आरोप कि हमास ने पिछले एक सप्ताह में 3100 राकेट दागे हैं.

World War की आहट! Israel ने फिर किया गाजा पट्टी पर हमला, करीब 200 लोगों की मौत

नई दिल्ली: इजरायल (Israel) ने फिर गाजा पट्टी पर हमला किया और बीती रात लगातार 10 मिनट तक बमवर्षक विमानों से बम बरसाए. इजरायल ने 60 एयरस्ट्राइक फिलिस्तीन के गाजा शहर पर किए. इजरायल और फिलिस्तीन (Israel-Palestine) के बीच 8 दिनों से संघर्ष जारी है और इजरायल का आरोप कि हमास ने पिछले एक सप्ताह में 3100 राकेट दागे हैं.

हमास के हमले से इजारायल के कई इलाकों में नुकसान

इजरायल के कई शहरों में लोगों की पिछली कई रातें धमाकों के शोर में बीती हैं. गाजा शहर से हमास रॉकेट हमला करता है, तो इजरायल अपने एयर डिफेंस सिस्टम से उन रॉकेट को आसमान में ही खत्म कर देती है. हमास के कुछ रॉकेट इजरायल को नुकसान भी पहुंचा रहे हैं. इजारायल के अलग-अलग इलाकों में हमास के हमले से नुकसान भी दिख रहे हैं.

इजरायल के अंदर फिलिस्तीनी समर्थकों का प्रदर्शन

एक तरफ इजरायल अपनी रक्षा में गाजा शहर पर प्रहार कर रहा है, तो दूसरी तरफ इजरायल के अंदर ही फिलिस्तीन के लोग इजरायल की सेना के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. वेस्ट बैंक में फिलिस्तीन समर्थक इजरायल के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं. हालात ये हैं कि इजरायल में रहने वाले फिलिस्तीनी समर्थकों ने कई शहरों में दंगे फैला दिए हैं और सेना से उनकी झड़पें हो रही हैं. विद्रोही आगजनी कर रहे हैं और सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- Palestine में बढ़ सकती है जंग, Israel ने Gaza सीमा पर भेजे सैनिक

टर्की के राष्ट्रपति ने इजरायल को दी धमकी

अब तो इजरायल के खिलाफ कई मुस्लिम देश एकजुट हो गए हैं और इनमें टर्की सबसे आगे है. टर्की के राष्ट्रपति एर्दोआन ने इजरायल को धमकी दी है. एर्दोआन ने कहा है, 'सीरियाई सीमा के पास जिस तरह दहशतगर्दों का रास्ता रोका. उसी तरह मस्जिद-ए-अक़्सा की ओर बढ़ते हुए हाथों को भी तोड़ देंगे.

OIC की बैठक में हो सकता है बड़ा फैसला

इजरायल ने दावा किया है कि लेबनान और सीरिया भी इजरायल के इलाके में रॉकेट में दाग चुके हैं. इजरायल के हमले को लेकर मुस्लिम देशों के संगठन OIC की बड़ी बैठक होने जा रही है. इस बैठक में OIC के 57 देशों के प्रतिनिधि शामिल होंगे और इजरायल के खिलाफ रणनीति का ऐलान कर सकते हैं.

आतंकवादियों के खिलाफ जारी रहेगा हमला: इजरायल

मुस्लिम देशों के अलावा दुनिया के कई देशों में भी इजरायल के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं. स्पेन की सड़कों पर लोगों ने फिलिस्तीन के समर्थन में प्रदर्शन किया. कनाडा और फ्रांस में भी मुस्लिम धर्म के लोगों ने इजरायल के खिलाफ रैली निकाली. इजरायल के खिलाफ 57 देश भले ही इकट्ठा हो गए हैं, लेकिन इजरायल ने साफ कर दिया है कि वो आतंकवादियों के खिलाफ हमला जरूरत पड़ने तक जारी रखेगा.

सीधे आतंकियों को बना रहे हैं निशाना: बेंजामिन नेतन्याहू

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा, 'हमास जानबूझकर आम लोगों को निशाना बना रहा है और खुद आम लोगों के पीछे छीपा हुआ है. हम अपने लोगों को बचाने के लिए हर कोशिश कर रहे हैं. आम लोगों  को नुकसान पहुंचाए बिना सीधे आतंकियों को निशाना बना रहे हैं.'

VIDEO

शांति कायम करने के लिए आगे आया अमेरिका

इजरायल और फिलिस्तीन के बीच शांति कायम करने के लिए अमेरिका भी आगे आया है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने इजरायल के प्रधानमंत्री नेतन्याहू और फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास से फोन पर बात की और दोनों देशों से शांति की अपील की. वैसे शांति की कोशिश के लिए संयुक्त राष्ट्र भी पहल कर रहा है. संयुक्त राष्ट्र की एक अहम बैठक होनी है, जिसमें दोनों देशों से युद्ध का रास्ता छोड़ने और शांति बहाली की अपील की जा सकती है.

इजरायल-फिलिस्तीन के बीच आरोप-प्रत्यारोप जारी

इजरायल और फिलिस्तीन के बीच चल रही लड़ाई में आरोप प्रत्यारोप का दौर भी जारी है. हमास आरोप लगा रहा है कि इजरायल नागरिकों को निशाना बना रहा है, वहीं इजरायल ये दावा कर रहा है कि वो हमास के रॉकेट हमले की जवाबी कार्रवाई में हमास के कब्जे वाले गाजा शहर को निशाना बना रहा है. अब तक आसमान से अपने दुश्मन हमास के खिलाफ रॉकेट प्रहार करने वाली इजरायल की सेना ने अब जमीन से भी वार करना शुरू कर दिया है. हमास के कब्जे वाले गाजा शहर पर इजरायल ने जमकर गोले दागे.

इजरायल को ये कदम क्यों उठाना पड़ा?

इजरायल के तेल अवीव में दिन के वक्त फिलिस्तीन की आर्मी हमास ने रॉकेट से हमला कर दिया. इसके अलावा इजरायल के शहर रमत गन में दिन के वक्त एक बिल्डिंग पर हमास का रॉकेट आकर गिरा था, जिसके बाद यहां आग लग गई थी. हमास ने तीसरा हमला इजरायल के असदोद शहर में किया, जहां रॉकेट हमले के बाद भीषण आग लग गई. हमले के बाद ऐसा लग रहा था, जैसे कहीं परमाणु बम फटा हो.

इजरायल ने जवाब देने के लिए पूरी ताकत लगा दी

इजरायल पर रॉकेट हमले गाजा शहर से हुए. गाजा से हुए रॉकेट हमले का जवाब देने के लिए इजरायल ने अपनी पूरी ताकत लगा दी. शनिवार की रात इजरायल ने गाजा शहर पर रॉकेट की बौछार कर दी. इजरायल ने एक-एक कर कुल 155 रॉकेट गाजा शहर पर दागे. रात के अंधेरे में इजरायल के लड़ाकू विमानों से गाजा पर बम बरसाए जा रहे थे. अलग-अलग जगहों पर काला धुआं उठ रहा था. तेल अवीव पर रॉकेट हमले का बदला इजरायल ने गाजा के हमास के कमांडर के घर पर बम बरसा कर लिया. 

गाजा शहर में अब तक मारे जा चुके हैं 197 लोग

फिलिस्तीन का दावा है कि इजरायल के एयर स्ट्राइक में 3 लोगों की मौत हुई है. गाजा के अधिकारियों का दावा है कि शहर में अब तक 197 लोग मारे जा चुके हैं, जिनमें 58 बच्चे भी शामिल हैं. पिछले 24 घंटे में 42 फिलिस्तीनी नागरिक मारे गए हैं. वहीं इजरायल का दावा है कि हमास के रॉकेट हमले में अब तक 10 लोगों की जान जा चुकी है.

इजरायल के प्रधानमंत्री ने दी चेतावनी

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने गाजा पर हमलों को जायज ठहराया. नेतन्याहू ने दावा है कि इजरायल की जवाबी कार्रवाई में कई हमास आतंकवादी अब तक मारे जा चुके हैं और आतंकी संगठन के कई ठिकानों को बर्बाद किया गया है. नेतन्याहू ने हमास को चेतावनी दी है कि हम पूरी ताकत के साथ जवाबी कार्रवाई जारी रखेंगे. हम आतंकी संगठन को खत्म करने के लिए निशाना बना रहे हैं. जो कोई भी आग लगाएगा, उसे जवाब भी आग से ही मिलेगा.

दुश्मन रॉकेट को हवा में खत्म करने की ताकत रखता है इजरायल

आतंकवादी संगठन हमास ने बिना किसी चेतावनी के इजरायल के ठिकानों पर रॉकेट हमले की शुरुआत की. हमास अब तक हजारों रॉकेट से इजरायल पर हमला बोला, लेकिन इजरायल ने आसमान में एक रक्षा कवच बनाया हुआ है, जो दुश्मन के रॉकेट को हवा में ही खत्म करने की ताकत रखता है. इस अभेद्य कवच का नाम है आयरन डोम शील्ड.

हमास के रॉकेट को आसमान में खत्म कर दे रहा इजरायल

इजरायल में जंग के हालात हैं, इजरायल का दुश्मन और फिलिस्तीन का आतंकवादी संगठन हमास ने इजरायल पर रॉकेट हमलों की बौछार कर दी है. अपने कब्जे वाले इलाके गाजा से हमास रॉकेट लॉन्चर से इजरायल पर रॉकेट हमला कर रहा है. बीते 3 दिनों के अंदर आतंकवादी संगठन हमास की ओर से इजरायल पर डेढ़ हजार से ज्यादा रॉकेट दागे गए हैं. अब सोचिए इतने रॉकेट अगर किसी एक शहर पर गिरे तो उस शहर के हालात क्या होंगे, लेकिन इजरायल की एडवांस तकनीक के आगे हमास के रॉकेट टांय-टांय फिस्स हो जा रहे हैं, क्योंकि इजरायल की तकनीक और उसके रॉकेट हमास के रॉकेट की आसमान में ही समाधि बना दे रहे हैं.

आसान भाषा में समझिए क्या है- आयरन डोम शील्ड

आपको आसान भाषा में बताते हैं कि आखिर इजरायल कैसे अपने दुश्मन के रॉकेट को आसमान में ही खत्म कर दे रहा है. इजरायल की इस तकनीक का नाम है आयरन डोम शील्ड. दरअसल ये इजरायल का शक्तिशाली एयर डिफेंस सिस्टम है. इस सिस्टम के तहत इजरायल ने अपने शहरों के ऊपर एक अदृश्य सुरक्षा घेरा तैयार किया है. इस सुरक्षा घेरे को अगर दुश्मन देश के रॉकेट तोड़ने की कोशिश करते हैं, तो जमीन पर मौजूद रडार सिस्टम उन रॉकेट सिग्नल्स को इंटरसेप्ट कर लेता है. इस सिग्नल की मॉनिटरिंग बैटेल मैनेजमेंट कंट्रोल सिस्टम करता है. बैटेल मैनेजमेंट कंट्रोल सिस्टम से फायरिंग का ऑर्डर सीधे मिसाइल फायरिंग यूनिट के पास जाता है. जहां से दुश्मन के हर रॉकेट को टारगेट मानकर मिसाइलें दागी जाती हैं. दुश्मन देशों के रॉकेट जमीन पर आने से पहले आसमान में ही ध्वस्त हो जाते हैं.

आयरन डोम शील्ड को राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम और इजराइल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज ने मिलकर तैयार किया है. अमेरिका ने इसमें आर्थिक और तकनीकी मदद दी थी. इजरायल के आयरन डोम एयर डिफेंस सिस्टम का स्ट्राइक रेट 80-90 फीसदी है. यानी अगर दुश्मन की तरफ से 10 रॉकेट आ रहे हैं तो 8 रॉकेट को ये एयर डिफेंस सिस्टम आसमान में ही तबाह कर देता है.

इस युद्ध में कूद सकते हैं दुनिया के कई देश

हमास के कुछ रॉकेट एयर डिफेंस सिस्टम के बावजूद इजरायली के रिहायशी इलाकों में गिरे, जिसकी वजह से इजरायल को नुकसान भी उठाना पड़ा है. फिलिस्तीन के हमले में अब तक इजरायल के 7 नागरिकों की जान जा चुकी हैय फिलहाल इजरायल ने हमास और फिलिस्तीन के खिलाफ सबसे बड़ी जंग छेड़ दी है. अगर ये जंग कई दिनों तक खिंचा, तो बहुत मुमकिन है कि दुनिया पर कई और देश भी इस युद्ध में कूद सकते हैं.

महायुद्ध में बदल सकता है इजरायल-फिलिस्तीन संघर्ष

इजरायल ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में जीरो टॉलरेंस की नीति का एक सबूत शनिवार को भी दिया था, जब गाजा में अलग-अलग मीडिया समूह के दफ्तरों वाली बिल्डिंग को एयर स्ट्राइक में गिरा दिया था. इजरायल का दावा था कि इस बिल्डिंग में आतंकी संगठन हमास का दफ्तर था. फिलहाल इजरायल आतंकी संगठन हमास को किसी भी कीमत पर बख्शने के मूड में नहीं है और अगर हमास ने इजरायल पर हमला जारी रखा तो, ये युद्ध महायुद्ध में बदल सकता है.

हमले पर UN ने उठाए सवाल, इजरायल ने दिया जवाब

यूएन की तरफ से इजरायली हमलों पर सवाल उठाने के बाद इजरायली विदेश मंत्रालय ने अपने ट्विटर हैंडर से एक वीडियो जारी किया है, जिसमें इजरायल ने कहा है कि जब आपकी 70 प्रतिशत जनता खतरे में हो तो आप आत्मरक्षा के लिए कदम नहीं उठाएगें क्या? कोई भी देश होता तो वो आत्मरक्षा के हर संभव प्रयास करता. इजरायल का आरोप है कि हमास जानबूझकर आतंकियों के ठिकाने रिहायशी इलाकों में बनाता है, जिससे आम नागरिकों की जान जा रही है. हम आम जनता का कम से कम जान माल का नुकसान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

2 धड़ों में बंटने लगे हैं दुनियाभर के देश

इजरायल और फिलिस्तीन के बीच लड़ाई जारी है और हर दिन ये और भी बढ़ता जा रहा है. इससे महामारी से लड़ रही दुनिया के सामने एक बड़ा संकट आ गया है, क्योंकि इजरायल और फिलिस्तीन के बीच तनातनी से दुनिया के बाकी देश धड़ों में बंटने लगे हैं. अमेरिका खुलकर इजरायल का साथ दे रहा है तो 57 मुस्लिम देश भी बैठक कर आगे की रणनीति की तैयारी कर रहे हैं. हालात पूरी तरह से वर्ल्ड वॉर की तरह जाता दिख रहा है.

लाइव टीवी

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.