close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जानें किलर K-9 के बारे में, जिसे देखकर गिड़गिड़ाने लगा था आतंक का आका बगदादी

बगदादी को दौड़ा-दौड़ा कर मौत के मुंह तक पहुंचाने वाला वाले इस कुत्ते की डॉनल्ट ट्रंप ने तारीफ भी की है. 

जानें किलर K-9 के बारे में, जिसे देखकर गिड़गिड़ाने लगा था आतंक का आका बगदादी
यह कुत्ता आर्मी डेल्टा फोर्स का हिस्सा है जो मुश्किल ऑपरेशन के लिए जानी जाती है.

नई दिल्ली: दुनिया के सबसे खुंखार आतंकवादी आईएस चीफ अबू बकर अल बगदादी का वैसा ही खौफ़नाक अंत हुआ जैसा खौफ़ उसे पूरी दुनिया में फैलाकर रखा था. अमेरिकी डेल्टा कमांडोज़ ने छिपे हुए बगदादी को तलाश करके उसके अंजाम तक पहुंचा दिया लेकिन अब अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने बगदादी के अंत के सबसे बड़े हीरो का खुलासा कर दिया है. अमेरिका का ये हीरो कोई सैन्य अधिकारी नहीं बल्कि अमेरिका की डेल्टा फोर्स का एक ट्रेंड डॉग है जिसने बगदादी को मौत के मुंह तक पहुंचा दिया. 

बगदादी का किलर K-9 कमांडो 
अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने अपने ट्विटर एकाउंट में डेल्टा कमांडो फोर्स के खुंखार बेल्जियन मेलिनियोस प्रजाति के कुत्ते की फोटो शेयर की है. बगदादी को दौड़ा-दौड़ा कर मौत के मुंह तक पहुंचाने वाला वाले इस कुत्ते की डॉनल्ट ट्रंप ने तारीफ भी की है. ट्रंप ने अपने ट्वीट में लिखा हम उस शानदार डॉग की फोटो सार्वजनिक कर रहे हैं, जिसने आईएसआईएस सरगना अबू बकर अल-बगदादी को मारने में अहम रोल निभाया. 

बगदादी को मारने वाली यूएस आर्मी की डेल्टा फोर्स हेलीकॉप्टर्स के जरिए बगदादी के अड्डे पर उतरी थी और हेलीकॉप्टर्स से ही उतरे थे डेल्टा फोर्स के अहम सदस्य ये ट्रेंड डॉग्स भी. यह कुत्ता आर्मी डेल्टा फोर्स का हिस्सा है जो मुश्किल ऑपरेशन के लिए जानी जाती है. अमेरिका के डिफेंस अफसर के मुताबिक बगदादी के खिलाफ चलाए ऑपरेशन में ये ट्रेंड डॉग घायल हो गया था. बगदादी की आत्मघाती जैकेट के धमाके के वक्त ये काफी पास मौजूद था. इलाज के बाद तेजी से कुत्ते की हालत में सुधार हो रहा है. अमेरिका ने डॉग हैंडलर के नाम के बारे में जानकारी नहीं दी है.

चलिए अब आपको बताते हैं किस तरह अमेरिकी डेल्टा फोर्स के इस ट्रेंड डॉग ने बगदादी को मौत के मुंह तक पहुंचाया. अमेरिकी यूएस स्पेशल ऑपरेशन फोर्सेज के कमांडोज़ ने जब बगदादी को घेर लिया तो आतंक का आका आत्मघाती जैकेट पहनकर सुरंग में घुसा और दौड़ने लगा. इस दौरान उसने अपने तीन बच्चों को ढाल बनाकर रखा था.  बगदादी अमेरिकी सैनिकों को निशाना बनाने के लिए बगदादी किसी भी वक्त अपने आत्मघाटी जैकेट में विस्फोट कर सकता था. इसलिए उसके पीछे यूएस स्पेशल ऑपरेशन फोर्सेज के ट्रेंड डॉग्स को लगाया गया. ये खूंखार कुत्ते काफी देर तक बगदादी को दौड़ाते रहे. आखिरकार एक जगह सुरंग खत्म हो गई.  

अब बगदादी के पीछे दो ही रास्ता था, ये दोनों ही रास्ते बगदादी को जहन्नुम की ओर लेकर जाते थे. अगर बगदादी सुरंग की दीवार के पास रुक जाता तो अमेरिकी कमांडों की गोलियां उसे छलनी करने को तैयार थी, और अगर वो वापस पीछे आता तो अमेरिकी सैनिकों के 'शिकारी' कुत्ते उस पर टूट पड़ते. लेकिन शातिर बगदादी ने इन दोनों रास्तों को नहीं चुना, बगदादी ने अपने बच्चों को अपने पास बुलाया  और अपने आत्मघाती जैकेट से ब्लास्ट कर लिया. जोर का धमाका हुआ और पूरी सुरंग ढह गई. आतंकी बगदादी अपने तीन बेटों के साथ मलबे में जमींदोज हो गया. 

के-9 के खौफ से रो रहा था बगदादी 
ट्रंप के मुताबिक, जब सेना के कुत्ते उसका पीछा कर रहे थे उस वक्त बगदादी रो रहा था, चिल्ला रहा था और गिड़गिड़ा रहा था. दुनियाभर को मौत बांट रहे बगदादी ने कभी ये नहीं सोचा होगा कि अमेरिकी सेना के ट्रेंड डॉग उसे मौत के मुंह तक पहुंचा देंगे लेकिन आतंक का ऐसा ही खौफनाक अंत होता है.