पाक सुप्रीम कोर्ट ने एयरलाइंस कर्मचारियों से कर दी ऐसी डिमांड, ना जाने किसका कट जाए पत्ता

अदालत ने कहा कि प्रत्यक्ष रूप से ऐसा लग रहा है कि पीआईए में निजी विश्वविद्यालयों से हासिल की गई डिग्रियों को बढ़ावा दिया गया है. 

पाक सुप्रीम कोर्ट ने एयरलाइंस कर्मचारियों से कर दी ऐसी डिमांड, ना जाने किसका कट जाए पत्ता
अदालत ने पीआईए के सभी कर्मचारियों की डिग्रियों का जांच कर इस पर एक विस्तृत रिपोर्ट जमा कराने का आदेश दिया.फाइल फोटो

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने सरकारी नागरिक विमानन संस्था पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) के सभी कर्मचारियों की शैक्षिक डिग्रियों की जांच का आदेश दिया है. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि सुप्रीम कोर्ट में पीआईए के कुछ कर्मचारियों की डिग्री के फर्जी होने के मामले में सुनवाई हुई. अदालत में कहा गया कि पीआईए के इन कर्मचारियों को 'आजाद कश्मीर' (पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर) के निजी विश्वविद्यालयों से शैक्षिक डिग्रियां मिल गईं जबकि एयरलाइन के यह कर्मचारी कभी उन विश्वविद्यालयों में गए तक नहीं. यही नहीं, इनके बल पर इन्होंने नौकरी में प्रमोशन भी हासिल कर लिया.

अदालत ने कहा कि प्रत्यक्ष रूप से ऐसा लग रहा है कि डिग्रियां फर्जी हैं. पीआईए में निजी विश्वविद्यालयों से हासिल की गई डिग्रियों को बढ़ावा दिया गया है. पीआईए को यह सुनश्ििचत करना होगा कि उसके कर्मचारियों की डिग्रियां मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थानों की हों.

यह भी देखें:-

अदालत ने पीआईए के सभी कर्मचारियों की डिग्रियों का जांच कर इस पर एक विस्तृत रिपोर्ट जमा कराने का आदेश दिया. साथ ही अगली सुनवाई में पीआईए के शीर्ष अधिकारियों और देश के महान्यायवादी से अदालत में मौजूद रहने को कहा.