X

ठंड का कहर शुरू! जम गया समुद्र का पानी, फंसे 18 जहाज; देखें तस्वीरें

18 Ships trapped in ice after Arctic sea freezes: दुनियाभर का निर्यात समुद्री रास्तों से होने वाले व्यापार पर निर्भर है. इस दौरान जरा सी भी रुकावट करोड़ों-अरबों के नुकसान का सबब बन जाती है. इस बीच रूस (Russia) के नजदीक 18 मालवाहक जहाज फंसने के बाद कैसे हालात हैं, आइए आपको बताते हैं.

 

(Photo: Tass)

 

समय से पहले जमा सागर

1/5
समय से पहले जमा सागर

रूस के तट के पास आर्कटिक सागर के अप्रत्याशित रूप से समय से पहले जम जाने के कारण वहां करीब 18 मालवाहक जहाज (कंटेनर) फंस गए हैं. 

 

फोटो: (aker arctic)

मास्को से भेजी गई मदद

2/5
मास्को से भेजी गई मदद

मास्को टाइम्स में प्रकाशित रिपोर्ट्स के मुताबिक, ज्यादातक जहाज लाप्टेव सागर और पूर्वी साइबेरियाई सागरों में 30 सेंटीमीटर मोटी बर्फ बनने की वजह से फंसे है. इस बीच रूस ने हालात संभालने के लिए मदद भेजी है.

 

फोटो: (Tass)

युद्ध स्तर पर हो रहा काम

3/5
युद्ध स्तर पर हो रहा काम

खबरों के मुताबिक कुछ जहाज कई दिन से फंसे हैं. ऐसे में वहां खाने पीने के संकट के साथ दवाइयों को भी पहुंचाया गया है. रूस ने रूट सामान्य कराने के लिए फिलहाल दो खास आइसब्रेकर (Icebreakers) भेजे हैं जिनके साथ दो ऑयल टैंकर (Oil Tankers) और कार्गो बोट्स (Cargo Boats) भी शामिल हैं. रूट सामान्य करने के काम में लगातार बिगड़ रहा मौसम बड़ी रुकावट डाल रहा है इसलिए यहां युद्धस्तर पर काम हो रहा है.

 

फोटो: (Tass)

कयासों का दौर जारी

4/5
कयासों का दौर जारी

इस सागर का जमना यूं तो एक सामान्य प्रकिया है. इस बार समय से पहले और अप्रत्याशित रूप से इसके जमने की वजह से पुराने अनुमान काम नहीं आए. कहा जा रहा है कि इन जहाजों में करोड़ों-अरबों का सामान भरा है. 

 

(फोटो: सोशल मीडिया)

 

 

'खतरा बरकरार'

5/5
'खतरा बरकरार'

चूंकि समुद्री रूट में गलती करने की गुंजाइश नहीं होती है. ऐसे में अप्रत्याशित रूप से सागर के जमने की वजह से बड़े नुकसान का अनुमान लगाया गया है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर रूट सामान्य करने के काम में और तेजी नहीं आई तो ये जहाज कई महीनों तक यूं ही फंसे रह सकते हैं.

 

(फोटो: सोशल मीडिया)

photo-gallery