क्‍या सऊदी अरब की इस सरकारी ऐप से पुरुष रख रहे हैं महिलाओं पर 'नज़र'?

नागरिक अधिकार संगठनों एवं एक अमेरिकी सांसद ने यह ऐप बनाने पर दिग्गज आईटी कंपनियों की आलोचना की थी.

क्‍या सऊदी अरब की इस सरकारी ऐप से पुरुष रख रहे हैं महिलाओं पर 'नज़र'?
फोटो साभार : Arab News

रियाद : सऊदी अरब ने उस मोबाइल ऐप का बचाव किया है, जिसमें देश के पुरुषों को अपनी महिला रिश्तेदारों पर नजर रखने की इजाजत दी गई है. नागरिक अधिकार संगठनों एवं एक अमेरिकी सांसद ने यह ऐप बनाने पर दिग्गज आईटी कंपनियों की आलोचना की थी.

सऊदी अरब के आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने कहा कि ‘अबशेर’ ऐप ‘‘महिलाओं, बुजुर्गों और विशेष जरूरत वाले लोगों सहित समाज के सभी सदस्यों के लिए सेवाएं मुहैया कराता है.’’ यह नि:शुल्क ऐप एंड्रॉयड और ऐपल स्मार्टफोन पर उपलब्ध है. इस ऐप का इस्तेमाल करने वाले लोग इसके जरिए अपने पासपोर्ट और वीजा का नवीकरण करा सकते हैं. इससे कई इलेक्ट्रॉनिक सेवाएं प्राप्त करना भी आसान होगा.

हालांकि, आलोचकों का कहना है कि यह ऐप पुरुषों को महिलाओं की गतिविधियों पर नजर रखने की इजाजत देकर उनके उत्पीड़न को बढ़ावा देता है.

ऐपल के सीईओ टिम कुक ने अमेरिका के नेशनल पब्लिक रेडियो को इस हफ्ते की शुरुआत में बताया था कि उन्होंने इस ऐप के बारे में नहीं सुना है, लेकिन वह ‘‘इसे देखेंगे.’’

सऊदी अरब: ‘एमबीएस’ ने बदल कर रख दी है इस देश की तस्वीर

अमेरिकी सीनेटर रॉन वाइडेन ने ऐपल और गूगल से इस ऐप को हटाने को कहा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि यह ऐप ‘‘महिलाओं के खिलाफ अभद्र हरकतों’’ को बढ़ावा देता है.

सऊदी कानून के मुताबिक, महिलाओं को अपना पासपोर्ट नवीनीकृत कराने या देश से बाहर जाने के लिए अपने पति या किसी नजदीकी पुरुष रिश्तेदार की मंजूरी लेनी होती है.

मंत्रालय ने रविवार को ऐप की ‘‘सेवाओं के उद्देश्य पर सवाल उठाने की मंशा से चलाए जा रहे व्यवस्थित अभियान’’ की आलोचना की. उसने कहा कि ऐप के ‘‘राजनीतिकरण की कोशिशें’’ की जा रही हैं.