close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'निकोलस मादुरो को हटाने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारी आजादी के लिए लड़ रहे हैं': ट्रम्प

ट्रम्प ने बताया कि उन्होंने स्व-घोषित कार्यवाहक राष्ट्रपति जुआन गुइडो से फोन पर बात करके ''लोकतंत्र की दोबारा स्थापना के लिए वेनेजुएला के संघर्ष में मजबूत अमेरिकी समर्थन'' को दोहराया. 

'निकोलस मादुरो को हटाने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारी आजादी के लिए लड़ रहे हैं': ट्रम्प
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने वेनेजुएला में विपक्ष के प्रति मजबूत अमेरिकी समर्थन को दोहराया और कहा कि राष्ट्रपति निकोलस मादुरो को हटाने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारी आजादी के लिए लड़ रहे हैं. ट्रम्प ने ट्वीट किया, ''पूरे वेनेजुएला में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी आज मादुरो के खिलाफ हैं. आजादी के लिए जंग शुरू हो गई है.'' ट्रम्प ने बताया कि उन्होंने स्व-घोषित कार्यवाहक राष्ट्रपति जुआन गुइडो से फोन पर बात करके ''लोकतंत्र की दोबारा स्थापना के लिए वेनेजुएला के संघर्ष में मजबूत अमेरिकी समर्थन'' को दोहराया. 

अमेरिका ने अफगानिस्तान की सरकार को बनाया अवैध: पूर्व राजनयिक

गुइडो को अमेरिका ने अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में मान्यता दी है, लेकिन मादुरो को सेना और पुलिस का समर्थन हासिल है. उन्होंने गुइडो को अमेरिका के नेतृत्व में तख्तापलट की कोशिश में शामिल बताया है. वेनेजुएला में सरकार समर्थक शीर्ष अदालत ने भी गुइडो के देश से बाहर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है. वेनेजुएला की राजधानी कराकस में लोगों ने मादुरो के खिलाफ बुधवार को सड़कों पर प्रदर्शन किए. इस बीच कोलंबिया की सरकार ने मादुरो से जुड़े 200 से अधिक लोगों के प्रवेश पर बुधवार को रोक लगा दी.

'माइग्रेशन कोलंबिया' ने कहा है कि यह निर्णय ''लीमा समूह द्वारा उठाए गए कदमों'' के तहत लिया है जो ''वेनेजुएला में शांतिपूर्ण समाधान चाहते'' हैं. मेक्सिको और उरुग्वे ने बुधवार को घोषणा की कि वेनेजुएला में राजनीतिक संकट पर चर्चा के लिए उन देशों और संस्थाओं का अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन बुलाए जाएगा जिनका ''तटस्थ रुख'' है.

भारत में सांप्रदायिक हिंसा फैलाना चाहते हैं पाकिस्‍तान समर्थित आतंकी समूह, अमेरिका का दावा

दोनों देशों ने गुइडो को मान्यता नहीं दी है. यह सम्मेलन मोंटेवीडियो में सात फरवरी को होगा. बयान में कहा गया है कि यह निर्णय ''वार्ता शुरू करने की संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस की अपील'' पर लिया गया है. दोनों देशों को इस सम्मेलन में 10 देशों और संस्थाओं के भाग लेने की उम्मीद है लेकिन इस संबंध में विस्तृत जानकारी नहीं दी गई.